गृहशोभा विशेष

‘ये इश्क नहीं आसां…’ यह बात सब जानते हैं. मातापिता, नातेरिश्तेदार, समाज, जाति, धर्म इन सब की दीवार को तोड़ कर एक हो पाना आसान नहीं होता है. लेकिन इन तमाम हदों को पार कर जो एक हो जाते हैं वे अपनी मंजिल जीत लेते हैं. उन्हें लगता है उन्होंने वह सब पा लिया, जो चाहा था. लेकिन जैसेजैसे गृहस्थी की जिम्मेदारी उन के कंधों पर आने लगती है, उन्हें अपनी शादी एक बंधन जैसी लगने लगती है. उन्हें लगता है कि इस से तो शादी के पहले ही ठीक थे. बेकार में शादी के झंझट में फंस गए.

वह रुठनामनाना, एकदूसरे से प्यार जताना सब फालतू की बातें लगने लगती हैं. शादी के 2-3 साल बाद ही उन का शादीशुदा रिश्ता ठंडा पड़ने लगता है और फिर दोनों प्रेमीप्रेमिका न रह कर आम पतिपत्नी बन जाते हैं और छोटीछोटी बातों पर झगड़ने लगते हैं. वैसे झगड़ा भी प्यार का ही एक रूप होता है और थोड़ीबहुत नोकझोंक तो हर रिश्ते में होती है, पर बात जब हद से ज्यादा गुजरने लगती है, तो तलाक तक पहुंच जाती है और फिर सब कुछ खत्म हो जाता है.

प्रिया और समीर के साथ भी ऐसा ही हुआ. परिवार और समाज से दुश्मनी ले कर दोनों एक हुए. जिंदगी में नए रंग भी भरे, लेकिन धीरेधीरे उन के प्यार का रंग उतरने लगा. अपने रिश्ते से उन्हें ऊब होने लगी. प्यारव्यार, सब उन्हें बकवास लगने लगा. उन्हें लगने लगा कि प्यार तक तो ठीक था, पर शादी में बंध कर उन्होंने गलती कर दी.

रिश्ते में रोमांस जगाएं

शादी के पहले तो 2 प्रेमी एकदूसरे पर अपनी जान छिड़कते हैं, उन्हें एकदूसरे की हर बात अच्छी लगती है, लेकिन शादी के बाद वे सब बातें उन्हें बोर करने लगती हैं. लेकिन ऐसा तो हर पतिपत्नी के रिश्ते में होता है. इस का यह मतलब नहीं कि आप लड़झगड़ कर अलग हो जाएं और फिर बाद में पछताएं. कुछ बातों पर अमल कर अपने रिश्ते को पहले जैसा रोमांटिक बनाए रख सकते हैं.

– दांपत्य में नई ऊर्जा का संचार करना कोई मुश्किल काम नहीं है. बस जरूरत है थोड़े बदलाव और समझदारी की. इस से न सिर्फ आप के पार्टनर को खुशी मिलेगी, बल्कि आप के रिश्ते में भी नयापन झलकने लगेगा. आप की बगिया फिर से महक उठेगी. रिश्ते निभाने के लिए बनाए जाते हैं, छोटीछोटी बातों में आ कर तोड़ देने के लिए नहीं, पतिपत्नी दोनों को यह बात समझना जरूरी है.

– शादी के बाद हर पतिपत्नी की जिम्मेदारी बढ़ जाती है. यह बात उतनी ही सत्य है, जितना आप का प्यार. हां, माना कि काम की व्यस्तता की वजह से दोनों एकदूसरे को पर्याप्त समय नहीं दे पाते हैं जिस से लगता है कि पार्टनर पहले जैसा नहीं रहा. लेकिन ऐसा नहीं है. यह बात आप भी जानते हैं. लेकिन हां, कितना भी बीजी शैड्यूल क्यों न हो, साथी के लिए समय जरूर निकालें. रोजरोज न सही, पर हफ्ते में 1 बार दोनों डेट पर जरूर जाएं. गले लगाना, छूना, चूमना, पकड़ना, आंखों हीं आंखों में बातें करना, शारीरिक स्पर्श, आप के संबंध में और मजबूती लाएगा और दिनप्रतिदिन आप का प्यार और निखरेगा. – पहले आप दोनों प्रेमीप्रेमिका थे, अब पतिपत्नी बन चुके हैं, तो जीवन में थोड़ाबहुत बदलाव आना स्वाभाविक है, यह न भूलें. छोटीछोटी बातों में रूठनामनाना तो ठीक है, पर बात का बतंगड़ बनाना सही नहीं है. इस से रिश्ते में दूरियां पैदा होंगी और रिश्ता बोझ लगने लगेगा. शादी के पहले, जिस परिवार की परवाह किए बगैर 2 प्रेमी एक हो जाते हैं, शादी के बाद उसी परिवार को ले कर, तो कभी आपसी इगो के कारण अकसर दोनों के बीच मतभेद पैदा हो जाता है. इस सब से बचें क्योंकि आप का रिश्ता सब से अनमोल है यह समझें.

– सुबह की शुरुआत अपने पार्टनर को एक चुंबन दे कर करें. फिर देखिए कैसे आप पूरा दिन ताजगी से भरे रहेंगे और यह ताजगी तब तक बनी रहेगी, जब तक कि आप फिर एकदूसरे को नहीं देखते. एक चुंबन में सिर्फ 6 सैकंड लगते हैं, पर यह आप के संबंधों में उत्साह भर देगा. – पतिपत्नी का अपना एक अलग कमरा होना चाहिए. अपने पार्टनर को खुश करने के लिए बैडरूम को सजाएं. फ्लौवर वाली चादर बिछाएं. खूशबूदार छोटीछोटी कैंडल्स जलाएं. ताकि कमरा महक उठे और आप का पार्टनर आप के आगोश में आने को मचल उठे.

– अपने पार्टनर को अपनी बांहों में भर कर बीते दिनों की यादें ताजा करें. याद करें कि जब एक दिन भी न मिल पाते थे तब कैसे आप एकदूसरे के लिए बेचैन हो जाते थे. घर में सब के सो जाने के बाद धीमी आवाज में फोन पर बातें करना, घंटों एकदूसरे से चैटिंग करना, डेट पर जाना, एकदूसरे के लिए तड़प महसूस करना, वो सब बातें याद करें. फिर देखिए आज भी कैसे वे सब बातें आप के मन को गुदगुदा देंगी.

– बिस्तर पर जाने से पहले अपने पार्टनर का मूड जान लें, फिर चुंबन, स्पर्श से सहलाते हुए एकदूसरे की आंखों में झांकें. यह आप के प्यार को और उभार देगा.

– चरमसुख प्राप्त कर लेने के बाद अकसर पतिपत्नी करवट बदल कर सो जाते हैं. ऐसा न करें. चरमसुख पर पहुंचने के बाद भी पार्टनर से अलग हो कर न सोएं. बल्कि बांहों में ले कर चुंबन दें, प्यार भरी बातें करें और अगले दिन क्या और कैसे करना है उस का प्लान करें. – जितना हो सके साथ वक्त गुजारें. सुबह साथ घूमने जाएं, सुबह की चाय साथ बैठ कर पीएं. साथ मूवी देखने जाएं जैसे पहले जाते थे हाथों में हाथ डाले. डिनर करते वक्त आंखों ही आंखों में बातें करें पहले की तरह. साथ बिताए पलों को याद कर के मुसकराएं. फिर देखिए आज भी कैसे आप के पार्टनर के गालों पर शर्म की लाली आ जाएगी.

– पतिपत्नी में सैक्स सब से अहम होता है. सैक्स रिश्ते को तो मजबूत बनाता ही है. जिंदगी को भी महका देता है. इसलिए इस की अनदेखी कभी न करें. जब भी मौका मिले प्यार को ऐंजौय करें.

सैक्स स्पैशलिस्ट के अनुसार पतिपत्नी के बीच बैड की अपनी एक खास एहमियत होती है. लेकिन जब वह अलग हो जाता है तो फिर रिश्ते के माने ही बदल जाते हैं. इसलिए इस बात का जरूर ध्यान रखें कि कितना भी मनमुटाव क्यों न हो जाए दोनों के बीच बैड कभी अलग नहीं होना चाहिए.