गृहशोभा विशेष

फैस्टिवल सीजन के आते ही गिफ्ट लेने और देने वालों की संख्या बढ़ जाती है. ऐसे में सब से बड़ी परेशानी यह आती है कि गिफ्ट में क्या दिया जाए? मिठाई का रिवाज पुराना है. इस के चलते आज के समय में चौकलेट सब से बेहतर गिफ्ट बन गया है. इस के कई आइटम मिलने लगे हैं. बड़ी कंपनियों के चौकलेट एकजैसे होते हैं. ये महंगे भी होते हैं. ऐसे में चौकलेट मेकर का कारोबार तेजी से बढ़ने लगा है. दिल्ली की रहने वाली प्रीति चावला की शादी लखनऊ में नेत्ररोग विशेषज्ञ डा. शोभित चावला के साथ हुई. प्रीति को नईनई रेसिपी बनाने का शौक था. चौकलेट रेसिपी भी इस का एक हिस्सा थी. चौकलेट को ले कर बहुत सारे प्रयोग हो रहे हैं. चौकलेट की शैंपेन बोटल, चौकलेट रोजेज का बुके और चौकलेट की ज्वैलरी खूब चलन में है. चौकलेट के आइटम बना कर हाउसवाइफ बिजनैस वुमन भी बन सकती है. फैस्टिवल ही नहीं, बर्थडे और शादी पर भी चौकलेट देने का रिवाज बढ़ा है.

दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में कारपोरेट कल्चर बढ़ रहा है. इस के चलते चौकलेट का बिजनैस बढ़ गया है. 4 साल पहले प्रीति ने जब चौकलेट का बिजनैस शुरू किया था तो पहली बार 80 चौकलेट गिफ्ट हैंपर बनाए थे. इस के अगले साल प्रीति ने सीजन पर 400 गिफ्ट हैंपर बनाए. मंदी के सीजन में चौकलेट बिजनैस में कुछ प्रभाव पड़ा था. अब यह वापस अपनी जगह पर आ गया है.

चौकलेट बेल्ट

चौकलेट गिफ्ट देने का सीजन अक्तूबर से मार्च तक माना जाता है. इस सीजन में चौकलेट पिघलती नहीं है. समर में यह बिजनैस कम हो जाता है. अब वेडिंग सीजन में भी चौकलेट प्रयोग की जाने लगी है. चौकलेट को रिटर्न गिफ्ट के रूप में प्रयोग किया जाने लगा है. कुछ लोग शादी के निमंत्रणपत्र के साथ भी गिफ्ट देने लगे हैं. नया बच्चा होने पर उस के नामकरण के मौके पर भी चौकलेट दी जाने लगी हैं. हनीमून के समय भी चौकलेट का प्रयोग बढ़ रहा है. चौकलेट से बनी ज्वैलरी को हनीमून के दौरान पहना जा सकता है. अंतरंग पलों में पति चौकलेट ज्वैलरी का स्वाद भी ले सकता है. चौकलेट ज्वैलरी में नेकलेस और इयररिंग चलन में हैं. वैलेंटाइन डे पर विदेशों में चौकलेट बेल्ट भी खूब पहनी जाती है. प्रीति चावला चौकलेट बिजनैस को बढ़ाने के लिए विदेशों के दौरे भी करती हैं. जब वे बाहर जाती हैं तो वहां के चौकलेट स्टोर्स को जरूर देखती हैं. चौकलेट के नएनए टेस्ट का पता करती हैं, जिस से नई किस्म की चौकलेट बना सकें. चौकलेट बनाने के बाद सब से पहले वे अपने पति को ही टेस्ट कराती हैं. अगर वह चौकलेट अच्छी हो तो वे उस की तारीफ करते हैं. तब उसे दूसरों के लिए तैयार करती हैं.

प्रीति ने मैसेज चौकलेट भी बनाना शुरू कर दिया है, जिस में चौकलेट पर ‘हैप्पी बर्थडे’ लिखा होता है. इसे भी खूब पसंद किया जा रहा है. वे कहती हैं कि चौकलेट को ज्यादा दिनों तक रखा जा सकता है, इसलिए इसे बतौर गिफ्ट देने का प्रचलन बढ़ गया है.

आसान है बिजनैस

चौकलेट बिजनैस के बारे में प्रीति चावला का कहना है कि हाउसवाइफ के लिए यह बिजनैस बहुत आसान है. इसे शुरू करने के लिए एक रेफ्रिजरेटर, एक ओवन गैस और एक माइक्रोवेव ओवन की जरूरत होती है. चौकलेट ब्रिक के रूप में आती है. इसे पिघला कर अलगअलग डिजाइन के सांचे में डाला जाता है. ये सांचे लोकल बाजार में मिल जाते हैं. 1 दिन में 15 किलोग्राम चौकलेट बनाई जा सकती है. चौकलेट बनाने वाले सांचे की एक ट्रे में 9 खाने होते हैं. इस का 1 पीस 10 ग्राम का होता है. 1 किलोग्राम चौकलेट में करीब 70 पीस बनते हैं. इस की कीमत 700 रुपए के करीब होती है. इस बिजनैस की सब से खास बात यह होती है कि शुरुआत में सहायकों की कम जरूरत होती है. इस कारोबार को चलाने के लिए जो लागत लगाई जाती है, उस की कीमत 1 साल में वसूल हो जाती है. दूसरे किसी भी कारोबार में इस के लिए कम से कम 3 साल तक इंतजार करना होता है.

शुगरफ्री चौकलेट

वेडिंग सीजन में चौकलेट बिजनैस को बढ़ाने में चौकलेट फाउंडेशन की जरूरत होती है. चौकलेट के स्वाद को टेस्टी बनाने के लिए इस में मिंट, बादाम, काजू, किशमिश, औरेंज और चेरी के टुकड़े और फ्लेवर का प्रयोग किया जा सकता है. अब शुगरफ्री चौकलेट भी बनने लगी है. चौकलेट को पिघला कर सांचे में डाल कर जमने के लिए रेफ्रिजरेटर में रख दिया जाता है. इस के बाद पैकिंग की जाती है. पैकिंग खास होनी चाहिए. इस बिजनैस को शुरू करने से पहले यह देख लें कि इस की खपत कैसे होगी.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं