गृहशोभा विशेष

यदि आप भी इस खयाल में रहते हैं कि ‘लंच बौक्स’ फिल्म की हीरोइन की तरह ही कोई अनायास आप की भी जिंदगी में आएगी, तो बेहतर होगा कि आप सावधान हो जाएं, क्योंकि वास्तविक जिंदगी में ऐसे मामले किसी बड़े धोखे या लूट का सबब बन सकते हैं.

हाल ही में यूएस बेस्ड लौयर और आर्म्सडीलर अभिषेक वर्मा ने वरुण गांधी को घेरे में लेते हुए कहा कि उन्होंने हनी ट्रैप में फंस कर क्लासिफाइड डिफैंस इनफौरमेशन उन्हें लीक की है. अभिषेक वर्मा ने कुछ तसवीरों के जरीए इस बात को प्रूफ करने का प्रयास भी किया. मगर बाद में वरुण गांधी ने इसे सिरे से नकारते हुए आरोपों का स्पष्ट खंडन किया.

कुछ ऐसा ही वाकेआ मेरठ के व्यवसायी मनोज गुप्ता के साथ घटा. पेशे से प्रौपर्टी डीलर मनोज के पास एक मिस्ड कौल आई, यह मिस कौल एक मासूम सी दिखने वाली खूबसूरत लड़की ममता की थी. वह गुड़गांव के एक स्पा में काम करती थी. उस के घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी. मिस काल से बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ. दोनों दिल्ली के कनाट प्लेस में मिले भी. जल्द ही बातचीत दोस्ती में बदल गई.

ममता की खूबसूरती मनोज गुप्ता को देहरादून के फार्महाउस तक खींच लाई. यहां रात में ममता ने मनोज को बेहोशी का इंजैक्शन लगा कर अपने गैंग के साथियों के साथ उस का अपहरण कर लिया और फिर फिरौती में 1 करोड़ की मांग की. बाद में यह मांग बदल कर 20 लाख और 3 किलोग्राम सोने पर आ गई.

इस बीच पुलिस ने छापेमारी कर ममता के गैंग के 2 साथियों विकास कुमार और अंबुज त्यागी को गिरफ्तार कर लिया. कुछ इसी तरह की घटनाएं दिल्ली के कई व्यवसासियों के साथ घट चुकी हैं.

कहानी कुछ इस तरह है:

व्यवसायी मनोज को प्रौपर्टी खरीदने के लिए फोन आता है. दूसरी तरफ महिला की आवाज होती है. महिला फोन पर आदमी को तरहतरह से बहलाने का प्रयास करती है. जब उसे लगता है कि व्यवसायी मोहित हो चुका है और पूरी तरह उस के झांसे में आ गया है, तो महिला उसे सस्ते में फ्लैट औफर करते हुए फ्लैट दिखाने की पेशकश करती है.

आगे की कहानी का अंजाम व्यवसायी की कल्पना से बिलकुल परे था. फ्लैट पर महिला व्यवसायी के करीब आने का प्रयास करती है. उसी दौरान वहां पुलिस प्रकट होती है और व्यवसायी को बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार करने लगती है. व्यवसायी हैरानपरेशान मदद की गुहार लगाता है, तो उसे बचने का एक मौका देते हुए सौदा पक्का किया जाता है, जिस के मुताबिक उसे घर फोन कर के 20 लाख से 1 करोड़ तक की रकम की व्यवस्था करनी होती है. इसी बीच महिला के साथ उस का न्यूड शूट कर लिया जाता है. जाहिर है व्यवसायी पूरी तरह गैंग की गिरफ्त में आ चुका होता है.

इस वीडियो को ब्लैकमेलिंग में प्रयुक्त करते हुए इसे वायरल करने की धमकी दी जाती है.

हनी ट्रैप कर के लोगों को लूटने वाले इस गैंग ने कम से कम 12 व्यवसायियों को इसी अंदाज में अपना शिकार बनाया है. मामले का पता तब चला जब वैस्ट दिल्ली के एक नामी व्यवसायी ने शिकायत की कि उसे ब्लैकमेल कर 50 लाख उगाहे गए.

इस तरह के मामले हनी ट्रैप कहलाते हैं. दरअसल, यह लूटपाट का एक तरीका है, जिस में सीधे बंदूक की नोक पर नहीं वरन खूबसूरत महिलाओं को जरीया बना कर ठगी को अंजाम दिया जाता है.

हनी ट्रैप के शिकार पर निकली महिला दोस्ती की आड़ में न सिर्फ धनदौलत पर हाथ साफ करती है वरन कई दफा अहम जानकारी और दस्तावेजों को हासिल करना भी उस का मकसद हो सकता है.

इस तरह के हनी ट्रैप के मामले सिर्फ सामान्य जीवन में ही नहीं वरन बीएसएफ, आर्मी और एअरफोर्स में भी नजर आने लगे हैं.

हाल ही में एअरफोर्स में बतौर लीडिंग एअरक्राफ्टमैन के पद पर तैनात के.के. रंजीत को दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पंजाब के भटिंडा से गिरफ्तार किया. मूलरूप से केरल के रहने वाले रंजीत पर आरोप है कि वह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए जासूसी कर रहा था. पुलिस के मुताबिक रंजीत हनी ट्रैप के जरीए आईएसआई के जाल में फंसा. उस पर 4 महीनों से नजर रखी जा रही थी. रंजीत दामिनी मेकनौट नाम की एक महिला से फेसबुक पर जुड़ा. फेसबुक पर बातचीत के दौरान महिला ने खुद को ब्रिटिश पत्रकार बताया और इसी बहाने बहुत सारी जानकारी ले ली. इस के बाद दोनों इंटरनैट के जरीए बातें करने लगे. रंजीत को अपने झांसे में फंसाने के लिए महिला ब्रिटिश लहजे में बात करती थी. रंजीत को शीघ्र अपने पद से बरखास्त होना पड़ा. सेना में ऐसे 1-2 नहीं वरन कई जवान इस तरह के हनी ट्रैप में फंस चुके हैं.

तरीके

सूना रास्ता प्यार का वास्ता: यदि आप हाईवे या सुनसान रास्ते पर अकेले जा रहे हैं और अचानक किसी महिला के प्रकट हो गाड़ी रोकने का इशारा देख आप का दिल बल्लियों उछलने लगता है तो जरा सावधान हो जाएं. हो सकता है आप की गाड़ी में बैठ कर वह थोड़ी दूरी पर ऐसी जगह गाड़ी रुकवाए, जहां उस के साथी पहले से इंतजार कर रहे हों और फिर शुरू हो जाए लूटपाट का तांडव.

इंटरनैट पर प्यार की पींगें बढ़ाती हसीना: हो सकता है आप के पास ऐसी अनजान मेल आईडी से किसी महिला या लड़की की फ्रैंड रिक्वैस्ट आए, जिसे आप पहचानते न हों, मगर प्रोफाइल पिक्चर देख कर महिला की खूबसूरती के कायल होते हुए तुरंत रिक्वैस्ट स्वीकार कर लें. फेसबुक के अलावा वी चैट, हाईक, व्हाटसऐप वगैरह के जरीए भी दोस्ती बढ़ाने का प्रयास किया जा सकता है. कई दफा इस तरह की दोस्ती हनी ट्रैप के मकसद से ही की जाती है.

फेक फोन काल: मीठी आवाज में बात करने वाली हसीना कब आप को लूट कर चलती बने, इस का भरोसा नहीं. हनी ट्रैप का सब से कौमन तरीका है फेक फोन काल के जरीए बातचीत कर सामने वाले के दिलोदिमाग पर हावी हो जाना और फिर उसे मिलने को बुला कर अपने जाल में फंसा लेना.

कंपनी का नाम ले कर सामने आना: कई दफा कोई महिला आप के पास किसी खास रूप में आती है और बहुत कम समय में बहुत करीब आने का प्रयास करने लगती है तो आप अपनी धड़कनों पर काबू रखें. पहले यह पता लगाने का प्रयास करें कि कहीं यह भी हनी ट्रैप का खूबसूरत तरीका तो नहीं?

गौर करें तो पाएंगे कि हनी ट्रैप के ज्यादातर मामलों में निशाने पर होते हैं वे शख्स, जो अकेले मगर पैसे वाले होते हैं या फिर जिन्हें महिला दोस्त के साथ की जबरदस्त चाह होती है, पर स्वयं पहल करने की हिम्मत नहीं होती. जब कोई खूबसूरत बाला इन पर अदाओं के जाल फेंकती है तो ये स्वयं को रोक नहीं पाते और हनी ट्रैप के आसान शिकार बन जाते हैं.

वैसे पुरुष, जिन की खूबसूरत महिला बहुत बड़ी कमजोरी होती है, भले ही वे शादीशुदा ही क्यों न हों, उन्हें भी सहजता से शिकार बनाया जाता है और इस का खमियाजा पूरे परिवार को भुगतना पड़ता है.

इस तरह के मामलों में आप न फंसें, इस के लिए जरूरी यह है कि अपनी आंखों के साथसाथ दिमाग भी खुला रखें. कोई महिला या लड़की आप की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ा रही है, तो इस का मतलब यह नहीं कि आप बिना कुछ सोचेविचारे उस के झांसे में आ जाएं. समाज में हो रही इन आपराधिक वारदातों पर भी नजर रखें और कोई कदम उठाने से पहले सामने वाले के बारे में पहले खोजखबर ले लें. अंधेरे में पत्थर न चलाएं, क्योंकि इस का नतीजा खतरनाक भी निकल सकता है.

VIDEO : नेल आर्ट डिजाइन – टील ब्लू नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं