पब्लिक स्कूल बनाम हेयर कटिंग सैलून
पब्लिक स्कूल बनाम हेयर कटिंग सैलून

पब्लिक स्कूलों के फंडे भी निराले हैं. किताबकापी और यूनिफौर्म ही नहीं, वे आप की जेब से लाड़ले की हेयर कटिंग के लिए पैसे भी निकलवा सकते हैं. पब्लिक स्कूलों की ‘दुकानदारी’ पर यह करारा व्यंग्य.

गिनीपिग
गिनीपिग

अनिरुद्ध ने रज्जो से शादी कर उसे बदल दिया. अब वह राज कपूर बन गई थी. पर इस संभ्रांत चेहरे के पीछे की क्या शख्सीयत थी? मात्र एक गिनीपिग? क्या यही उस की जिंदगी का सच था?

गवाह
गवाह

बात अपराध की हो या निजी जीवन की, गवाह के बिना बात नहीं बनती. कोई और न मिला तो खुदा को ही गवाह बना लिया. पर कितने सच्चे और कितने झूठे होते हैं ये गवाह, कोई नहीं जानता.

पुरवई
पुरवई

कठोर अनुशासन में बंधी जिंदगी जीने वाले मनोहर और उन की पत्नी ने सपने में भी न सोचा था कि एक दिन उन की जिंदगी में निर्बंध पुरवई का ऐसा भी झोंका आएगा.

प्यार में कंजूसी
प्यार में कंजूसी

रिश्ते अपनत्व की डोर से बंधे होते हैं, उन्हें रुपएपैसों से नहीं तौला जा सकता. उन्हें तो दिल से महसूस किया जाता है. ताऊजी और उन की पत्नी शुभा का यही मानना था और यह उन्होंने साबित भी कर दिखाया.