यूं मैनेज करें ई-वॉलेट

By Grihshobha team | 9 January 2017

देश को कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने के लिए यह जरूरी है कि हम कैश की आदत कम करें और प्लास्टिक मनी का उपयोग करने की आदत डालें. इसके लिए सबसे आसान तरीका ई-वॉलेट है. वैसे तो आप पीओएस से भी पेमेंट कर सकती हैं, पर देश में हर जगह पीओएस नहीं है, इसलिए ई-वॉलेट को अपनी जिन्दगी का हिस्सा बनाना जरूरी है. ई-वॉलेट का यूं करें इस्तेमाल

साइन अप करें

किसी भी कंपनी का वॉलेट इस्तेमाल करने के लिए वॉलेट को अपने मोबाइल में डाउनलोड करें. डाउनलोड के बाद साइन अप करें.

वॉलेट में डालें कैश

जिस तरह कहीं बाहर जाते वक्त आप अपने वॉलेट में कैश भरती हैं, उसी प्रकार खरीदारी के लिए ई-वॉलेट में कैश होना चाहिए. वॉलेट में कैश ऐड करने के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग जैसे कई तरीकों का इस्तेमाल कर सकती हैं.

वॉलेट से ही करें खर्च

एक बार वॉलेट में कैश ऐड करने के बाद आप इस पैसे का इस्तेमाल पेमेंट के लिए कर सकती हैं. आप किसी भी व्यक्ति को मोबाईल नंबर या क्यूआर कोड द्वारा भुगतान कर सकती हैं.

रिसीव मनी

आप ई-वॉलेट के जरिए पैसे भी रिसीव भी कर सकती हैं. इसके लिए जो व्यक्ति आपको पैसा ट्रांसफर करना चाहता है, वह आपके क्यूआर कोड को स्कैन करेगा या वह आपका मोबाइल नंबर डालकर भी पैसे ट्रांसफर कर सकता है. पेटीएम में डायरेक्ट बैंक अकाउंट में पैसे डालने की सुविधा है.

ट्रांजैक्शन को ट्रैक करें

एक बार ई-वॉलेट से पेमेंट के बाद पेमेंट को ट्रैक करना भी जरूरी है. यह जरूरी है कि ट्रांजैक्शन पूरा होने के बाद आप अपने बचे हुए बैलेंस को चेक करें. ई-वॉलेट इसके लिए पासबुक फीचर्स का ऑप्शन देते हैं जिसकी मदद से आप डेबिट और क्रेडिट की सभी एंट्री देख सकते हैं.

सावधानी है जरूरी

- एक बार ई-वॉलेट का इस्तेमाल करने के बाद ऐप से लॉग आउट जरूर करें

- ऐसे ई-वॉलेट सर्विस प्रोवाइडर को चुनें, जो बेस्ट सिक्यॉरिटी फीचर्स ऑफर करता हो.

- वॉलेट में मौजूद बैलेंस पर आपको कोई इंट्रेस्ट नहीं मिलेगा.

देश को कैशलेस अर्थव्यवस्था बनाने के लिए यह जरूरी है कि हम कैश की आदत कम करें और प्लास्टिक मनी का उपयोग करने की आदत डालें. इसके लिए सबसे आसान तरीका ई-वॉलेट है. वैसे तो आप पीओएस से भी पेमेंट कर सकती हैं, पर देश में हर जगह पीओएस नहीं है, इसलिए ई-वॉलेट को अपनी जिन्दगी का हिस्सा बनाना जरूरी है. ई-वॉलेट का यूं करें इस्तेमाल

साइन अप करें

किसी भी कंपनी का वॉलेट इस्तेमाल करने के लिए वॉलेट को अपने मोबाइल में डाउनलोड करें. डाउनलोड के बाद साइन अप करें.

वॉलेट में डालें कैश

जिस तरह कहीं बाहर जाते वक्त आप अपने वॉलेट में कैश भरती हैं, उसी प्रकार खरीदारी के लिए ई-वॉलेट में कैश होना चाहिए. वॉलेट में कैश ऐड करने के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग जैसे कई तरीकों का इस्तेमाल कर सकती हैं.

वॉलेट से ही करें खर्च

एक बार वॉलेट में कैश ऐड करने के बाद आप इस पैसे का इस्तेमाल पेमेंट के लिए कर सकती हैं. आप किसी भी व्यक्ति को मोबाईल नंबर या क्यूआर कोड द्वारा भुगतान कर सकती हैं.

रिसीव मनी

आप ई-वॉलेट के जरिए पैसे भी रिसीव भी कर सकती हैं. इसके लिए जो व्यक्ति आपको पैसा ट्रांसफर करना चाहता है, वह आपके क्यूआर कोड को स्कैन करेगा या वह आपका मोबाइल नंबर डालकर भी पैसे ट्रांसफर कर सकता है. पेटीएम में डायरेक्ट बैंक अकाउंट में पैसे डालने की सुविधा है.

ट्रांजैक्शन को ट्रैक करें

एक बार ई-वॉलेट से पेमेंट के बाद पेमेंट को ट्रैक करना भी जरूरी है. यह जरूरी है कि ट्रांजैक्शन पूरा होने के बाद आप अपने बचे हुए बैलेंस को चेक करें. ई-वॉलेट इसके लिए पासबुक फीचर्स का ऑप्शन देते हैं जिसकी मदद से आप डेबिट और क्रेडिट की सभी एंट्री देख सकते हैं.

सावधानी है जरूरी

- एक बार ई-वॉलेट का इस्तेमाल करने के बाद ऐप से लॉग आउट जरूर करें

- ऐसे ई-वॉलेट सर्विस प्रोवाइडर को चुनें, जो बेस्ट सिक्यॉरिटी फीचर्स ऑफर करता हो.

- वॉलेट में मौजूद बैलेंस पर आपको कोई इंट्रेस्ट नहीं मिलेगा.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं
INSIDE GRIHSHOBHA
READER'S COMMENTS / अपने विचार पाठकों तक पहुचाएं

Comments

Add new comment