गृहशोभा विशेष

वीकेंड को शानदार बनाने का सबसे बेहतरीन तरीका है आस-पास की हौलिडे डेस्टिनेशन्स को एक्सप्लोर करना. लेकिन ज्यादातर लोगों को नहीं मालूम होता कि आखिर ऐसी कौन-सी जगहें हैं जहां 2 दिन छुट्टियां सुकून से बिताई जाएं. क्योंकि देहरादून, राजस्थान और हिमाचल टूरिस्टों से भरा रहता है, लेकिन आज भी इन्हीं शहरों में ऐसी जगहें हैं जो बहुत खूबसूरत है और वहां भीड़ भी कम होती है.

देहरादून में एक जगह है चकारता. समुद्र तल से 7000 फीट की ऊंचाई पर स्थित यह जगह देहरादून से 98 किलोमीटर दूर है. जिन लोगों को शांति और सुकून से अपनी छुट्टियां बिताने की कोई जगह चाहिए हो तो चकारता उनके लिए सबसे बढ़िया है. लेकिन यहां सभी जगहों पर फोटों खींचने पर पाबंदी है, क्योंकि फिलहाल यहां सेना के जवानों को कमांडों की ट्रैनिंग दी जाती है.

टाइगर फौल

एक छोटे से तलाब में ऊपर से गिरते हुए पानी का खूबसूरत नजारा ही कुछ और है. साथ में मौजूद हरे-भरे पेड़-पौधे इस नजारे को और भी खूबसूरत बना देते हैं. यह झरना समुद्र तल से 1395 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है.

देव वन

यह जगह कितनी शानदार है इसका सबूत है समुद्र तल से 9500 फीट ऊंचे इस वन से हिमालय के पर्वतों का दिखाई देना. यह वन चकराता से 16 किलोमीटर की दूरी पर मौजूद हैं.

रामताल गार्डन

अगर फैमिली के साथ चकराता जाएं और पिकनिक मनाने के लिए खास जगह की तलाश में हो तो रामताल गार्डन आपके लिए परफेक्ट है.

लाखमंडल

महाभारत में इस जगह का संबंध बताया जाता है. लोगों में मान्यता है कि पांडवों ने यहां आकर विश्राम किया था. इसी वजह से इस जगह के आस-पास पांडवों, परशुराम और केदार को समर्पित कई मंदिर मौजूद हैं.

चकारता के बाजार

यहां आपको लोकल मार्केट में मौजूद कई चीजे मिल जाएंगी. वहां के कपड़े, जूलरी, खाना और घर को सजाने के समाना. मार्केट काफी बड़ी नहीं होगी लेकिन आप यहां जाकर चकारता का मजा ले सकते हैं.

चकराता कैसे पहुंचे?

सबसे नजदीक जौली ग्रैंट एयरपोर्ट है जो कि चकारता से 123 किलोमीटर दूर है. यहां से उतर कर चकारता के लिए बस या टैक्सी ले सकते हैं. वहीं ट्रेन से जाने वाले देहरादूर रेलवे स्टेशन पर उतरकर बस या टैक्सी लें. रोड से जाने वाले देहरादून से नेशनल हाइवे 72 से हरबर्टपुर, नेशनल हाइवे 123 से कालसी और वहां से चकराता पहुंचे.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं