आज के दौर में ब्राइडल मेकअप हो या किसी फिल्मी हस्ती का मेकअप, फैशन वर्ल्ड हो या फिर इंटरटेनमैंट इंडस्ट्री, मेकअप को ले कर नित्य नए प्रयोग किए जा रहे हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि दूल्हादुलहन, मौडल, फिल्म स्टार सभी को कैमरा फेस करना होता है. कैमरा किसी को बख्शता नहीं. चेहरे का छोटे से छोटा पैच, सलवट, लकीर सब कुछ कैमरे में मुखर हो कर दिखाई देता है. इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि मेकअप बहुत ही उम्दा किया गया हो, ताकि कैमरे के सामने, जिस की तसवीर परदे पर आने वाली हो या फोटोग्राफ के रूप में, वह एकदम सजीव और आकर्षक लगे. इस बात की पुष्टि पैनाश 2011 में नई दिल्ली में हुई एक संगोष्ठी में नीदरलैंड के अंतरराष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त मेकअप आर्टिस्ट रान रोमेन ने की. उन्होंने कहा कि मेकअप का अभिप्राय होता है सुंदरता में निखार लाना, उसे अप करना.

भारत में तो गोरी, काली, श्याम वर्ण व गेहुएं रंग की धब्बेदार, फीकी, सूखी कई प्रकार की त्वचा मिलती है. ऐसे में नई तकनीक एयर ब्रश से स्प्रिंकल विधि से किया गया मेकअप वाकई दुलहन को एक विशिष्ट लुक प्रदान करने में सहायक होता है.

मेकअप की तकनीक

शादी के दिन हर दुलहन एक आदर्श लुक की तलाश में नजर आती है. ऐसे में एयर ब्रश से किया गया मेकअप इनचांटेड ज्वैल लुक देने में ट्रैंड सैटर बन जाता है. पारंपरिक विधि से किए गए मेकअप के विपरीत एयर ब्रश की मेकअप की विधि अत्यंत नवीनतम और श्रेष्ठ है. इस में चेहरे पर एयर ब्रश द्वारा एक मिस्ट स्प्रे हो जाता है, ताकि चेहरे पर किया गया फाउंडेशन, पाउडर का मेकअप एकदम ईवेन यानी बराबर रहे और देर तक टिका रहे. मेकअप की तकनीक की बाबत बात करते हुए कुछ टिप्स दिए गए, जिस में सर्वप्रथम था मेकअप करने से पूर्व एक कागज पर चेहरे की फिगर ड्रा कर के उस पर मेकअप कर के देखा जाए कि आप के चेहरे पर यह मेकअप कैसा दिखेगा.

फाउंडेशन का चुनाव

कागज पर ठुड्डी से ले कर माथे तक बेस के रूप में फाउंडेशन लगा कर देखा जाता है कि कौन से रंग का फाउंडेशन चेहरे पर रंगत लाएगा. फिर जो फाउंडेशन उस चेहरे पर सब से अच्छा लगता है, उसे फाइनल कर दिया जाता है. फाउंडेशन के कलर का चुनाव दिन की रोशनी में करें. ऐसा इसलिए, एक तो फंक्शन के दौरान दिन भर रोशनी में रहना है, दूसरा यह कि यदि कैमरे के सामने हों तो भी बेबी लाइट्स, मल्टी 10, मल्टी 20 और आप के समारोह को देखते हुए न जाने हुए कौनकौन सी लाइट्स प्रयोग में लाई जाएंगी. यदि सही फाउंडेशन चुना गया है तो चेहरा ठीक लगेगा और फोटो अच्छा दिखेगा. क्लींजर से चेहरा साफ करने के बाद फाउंडेशन उंगलियों के पोरों या स्पंज से चेहरे पर लगाएं. कानों पर, कान के नीचे और गरदन पर भी लगाना न भूलें. उस के बाद कंसीलर का प्रयोग अवश्य करें. इनचांटेड ज्वैल लुक के लिए चेहरे के सभी लुक्स, जैसे उभारों, लाइनों, मोटी नाक व चेहरे के बदरंग हिस्से को कंसीलर लगा कर अच्छी तरह छिपाएं. कंसीलर का मतलब और मकसद ही छिपाना है. बाजार में ई पूल कंसीलर पैलेटड 5 रंगों में क्व1,265 में कंसीलर रिफिल क्व215 में और लिक्विड कंसीलर क्व350 में मिल जाता है.

पिछले 35 वर्षों से अमेरिका के कैलिफोर्निया में ब्यूटीपार्लर चला रहीं अविनाश लाली का मानना है कि मेकअप शुरू करने से पहले सब से जरूरी है, जो मेकअप करवा रहा है, वह एकदम रिलैक्स हो. उसे कोई तनाव या चिंता न हो. ब्लशर का प्रयोग टेंपल बोन से ऊपर की ओर करें. यदि गोल्डन औलिव फाउंडेशन लगाया है और ड्रैस का रंग लाल और हरा है, तो ऐसे में ब्लशर रैड और पिंक का मिक्सचर हो सकता है. वैसे पहने जाने वाले परिधान के अनुकूल ही ब्लशर का इस्तेमाल किया जाए, तो और भी अच्छे परिणाम देगा.

मेकअप का फंडा

मेकअप का एक और फंडा है लिक्विड फाउंडेशन और पाउडर का रंग एक सा हो. स्केनडोर सौंदर्य प्रसाधनों में ट्रांसलूसेंट पाउडर, ट्रांसलूसेंट ऐक्स्ट्रा फाइन, गोल्ड रिफ्लेक्टिंग पाउडर, शिमरिंग कौंपैक्ट सभी उचित मूल्य पर उपलब्ध हैं. जब बात इनचांटेड ज्वैल लुक की चल रही हो, तो आई मेकअप में शाइनी इफैक्ट, मैटेलिक इफैक्ट व जूइल इफैक्ट के लिए आईशैडोज उपलब्ध हैं. आई मेकअप के लिए भी सब से पहले ऊपर हलकी सी फाउंडेशन की परत फिर हाईलाइटर जैसे सिल्वर शेड लगाया जा सकता है. सब से पहले लाइट कलर का आईशैडो लगाएं. डार्क आईशैडो आईलैशेज (पलकों) के बिलकुल करीब लगाएं, ऐसा मेकअप आर्टिस्ट सर रौन का कहना है, क्योंकि इस से फोटोग्राफी में लुक अच्छा आता है. बनावटी पलकें आजकल बाजार में आसानी से मिल जाती हैं, लेकिन अपनी आंखों के रंग का ध्यान रखते हुए इन का चयन करें और दोनों हाथों से प्लकर की सहायता से इन्हें आंखों पर चिपकाएं. आईलैशेज को कर्ली लुक देने के लिए मसकारा की 2 कोट लगाएं. इस से पलकें बड़ी व घनी लगेंगी और ग्लैमरस लुक देंगी.

लिपलाइन लिपस्टिक के रंग से मेल खाती भी हो सकती है कंट्रास्ट भी. ऐसा निजी पसंद पर निर्भर करता है. परंतु इतना जरूर है कि लिपलाइन द्वारा होंठों को आकार दिया जा सकता है. लिपस्टिक लगाने के बाद होंठों के बीच कौटन बड रखें ताकि सारी लिपस्टिक होंठों पर एक समान लगे. यदि लिपग्लौस लगाना हो व देर तक उस का इफैक्ट बना रहे, इस के लिए होंठों के बीच टिशू पेपर भींच लें. ऐसा करने से यह साइड से बहेगा नहीं. दिन के मेकअप के लिए सबटेल पिंक कलर के लिपग्लौस का प्रयोग अच्छे परिणाम देने के साथसाथ अच्छा दिखता है