कुछ देशों में आपके पासपोर्ट को एक महत्‍वपूर्ण डौक्‍युमेंट माना जाता है और आप वहां घूमने के लिए बिना वीजा के जा सकती हैं. इसका मतलब ये है कि आप टिकट लेकर अपने पासपोर्ट के साथ उस देश में पहुंचती हैं और उस देश में प्रवेश के पहले आपके पासपार्ट को जांचकर घूमने की अनुमति प्रदान कर दी जाती है.

इसे वीजा औन अराइवल कहते हैं. दक्षिण अमेरिका के चार देशों में भारतीय इसी तरह घूमने जा सकते हैं. इक्वाडोर, डोमिनिक रिपब्‍लिक,बोलीविया और गुयाना ये हैं दक्षिण अमेरिका के वो चार देश जहां भारतीय पर्यटक बिना वीजा के फुल मस्‍ती कर सकते हैं यानि वो देते हैं आपको वीजा औन अराइवल की सुविधा.

इक्वाडोर

इक्वाडोर जिसे आधिकारिक तौर पर इक्वाडोर गणराज्य कहते हैं, दक्षिण अमेरिका में स्थित एक मुख्‍य लोकतांत्रिक गणराज्य है. इसके उत्तर में कोलंबिया, पूर्व और दक्षिण में पेरू स्‍थित है. इक्वाडोर के पश्चिम की ओर प्रशांत महासागर है. यह एक दक्षिण अमेरिका में चिली के साथ उन दो देशों में से है, जिसकी सीमाएं ब्राजील से नहीं मिलती हैं.

डोमिनिक रिपब्‍लिक

डोमिनिकन गणराज्य एक कैरेबियन राष्ट्र है जो पश्चिम में हिस्पैनोल के द्वीप को हैती से जुड़ा है. यह अपने समुद्र तटों, रिसौर्ट्स और गोल्फिंग के लिए मशहूर है. यहां पर वर्षावन, सवाना और हाइलैंड्स के अलावा पिको डुएर्ट, जो कैरेबियन द्वीप का सबसे ऊंचा पर्वत है, देखने लायक हैं.

बोलीविया

बोलीविया दक्षिण अमेरिका के केंद्र में स्‍थित देश है. यहां का पठार विश्‍व के सबसे विशाल पठारी क्षेत्रों में से एक है. यह पठार 800 किमी लम्बा और 128 किमी चौड़ा है. इसकी औसत ऊंचाई 3,110 मीटर है. यह बोलीविया की एन्डीज पर्वतमाला में फैला हुआ है.

गुयाना

दक्षिणी अमरीकी देश गयाना या गुयाना का आधिकारिक नाम ‘कोपरेटिव रिपब्‍लिक औफ गुयाना’ है. यह दक्षिण अमरीका के उत्तर-मध्य भाग मे स्‍थित है. इस नाम  ‘गुयाना’ का सर्वप्रथम प्रयोग हौलैन्ड के तीन उपनिवेशो एस्सेक्यूबो, डेमेरारा और बेरबिस के लिए किया गया था. जो अमेज़न नदी के उत्तर और ओरिनोको नदी के पूर्व में था. गुयाना में भारतीय मूल के लोगों की सबसे ज्‍यादा जनसंख्‍या है. ये लोग यहां अंग्रेजो़ के शासन काल मे आए थे.

घूमने के लिए वीजा

जब आप किसी दूसरे देश में किसी व्यावसायिक या लंबे प्रवास की जगह सिर्फ घूमने के उद्देश्‍य से जाते हैं तो वो देश आपको टूरिस्‍ट वीजा देते हैं, जो एक निश्‍चित अवधि के लिए होता है. ये वीजा जिस देन देशों में आपके देश का पासर्पोट मान्‍य है वहीं देश जारी कर सकते हैं.

क्‍या होता है वीजा

अगर आप विदेश यात्रा करना चाहती हैं तो आपके पास पासपोर्ट के साथ जिस देश में जाना चाहती हैं उसमें प्रवेश करने की आज्ञा भी होनी चाहिए. वीजा यही आज्ञा पत्र यानि दस्‍तावेज होता है जो आपको किसी देश में प्रवेश के लिए अनुमति के तौर पर दिया जाता है. ये व्‍यवस्‍था पूरी दुनिया में द्वितीय विश्‍वयुद्ध के बाद औपचारिक रूप से प्रारंभ हुई थी.

वीजा के विभिन्‍न प्रकार

वीजा कई प्रकार के होते हैं. वैसे तो ये एक लिखित कागज के रूप में भी दिया जा सकता है परंतु ज्‍यादातर मामलों में ये व्‍यक्‍ति के पासपोर्ट पर एक मोहर के रूप में जारी किया जाता है. मुख्‍य रूप से इसमें टूरिस्‍ट वीजा, बिजनेस वीजा, ट्रांसिट वीजा, एंट्री वीजा और जर्नलिस्‍ट वीजा होते हैं. ये वीजा आपकी यात्रा की वजह के अनुसार दिए जाते हैं.