गृहशोभा विशेष

लद्दाख, कई लोगों के लिए ड्रीम डेस्टिनेशन है. ऐसे में जब तक ये ड्रीम डेस्टिनेशन पूरी नहीं होती, वो ट्रैवलर इसके बारे में कुछ न कुछ इसके बारे में पढ़ते ही रहते हैं. वहां पहुंचने से पहले वो वहां के बारे में बहुत-सी जानकारी जुटा लेते हैं. अगर आप भी अभी तक लद्दाख नहीं गई हैं, तो हम आपको बताते हैं लद्दाख के जायकों के बारे में. अगर आप लद्दाख जाएं, तो यहां के स्ट्रीट फूड को मिस न करें.

सिंगमो

सिंगमो, तिब्बती स्टीम ब्रेड है जो बेहद सौफ्ट होती है और जब लेह जाएं तो इस ब्रेड को जरूर ट्राई करें. सिंगमो, वास्तविक रूप से तिब्बती ब्रेड है जिसे बन भी कह सकती हैं. अगर आप मोमो से फिलिंग निकाल दें और उसके फ्लफीनेस को दोगुना कर दें तो सिंगमो ब्रेड तैयार हो जाएगी.

travel in hindi

थुकपा

आपने मनाली, मेक्लौडगंज या दूसरे पहाड़ी इलाकों में पहले भी थुकपा खाया हो, लेकिन लद्दाख के लोकल फ्लेवर से तैयार थुकपे की बात ही कुछ और है और आपको इसे भी जरूर ट्राई करना चाहिए. थुकपा, एक तरह का नूडल सूप है जो लेह-लद्दाख की ठंड में आपका राहत देगा.

थेन्थुक

थेन्थुक, एक तरह का थुकपा ही है और यह बेहद टेस्टी और हेल्दी होता है. आटे से तैयार होने वाले थेन्थुक को मीट और वेजिटेबल्स के सूप में पकाया जाता है. थुकपा की तरह थेन्थुक के आटे को नूडल्स का आकार नहीं दिया जाता बल्कि यह चपटा होता है. इसे तभी सूप में डाला जाता है जब सब्जियां और मीट अच्छी तरह से पक चुके होते हैं.

travel in hindi

चुरपी

यह एक ऐसा स्ट्रीट फूड है जो आपको सिर्फ तिब्बती बहुल इलाके में ही मिलेगा. यह एक तरह का चीज है जिसे बनाने के लिए दही को जमाकर ठोस किया जाता है औऱ फिर टुकड़ों में काटकर सुखाया जाता है. इसे हरी सब्जियों के साथ खाया जाता है और चुरपी का अचार भी बनता है.

मोमोज

मोमोज तो आपने शहरों में कई जगह खाए होंगे लेकिन औथेंटिक मोमोज खाना है तो पहुंच जाएं लेह-लद्दाख जहां मौजूद तिब्बती लोगों ने पर्यटकों के लिए बेहतरीन औथेंटिक मोमोज का इंतजाम कर रखा है. इन मोमोज में सब्जियां या मीट भरा रहता है.

travel in hindi

कैसे जाएं

दिल्ली, मनाली और श्रीनगर से लेह के लिए सीधी बस चलती हैं. इसके अलावा दिल्ली, जम्मू और श्रीनगर से लेह के लिए सीधी उड़ान भी उपलब्ध हैं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं