गृहशोभा विशेष

गर्मियों में आइसक्रीम और कोल्ड डिशेज ज्यादातर लोगों पसंद होती है लेकिन गर्मियों में घर से बाहर निकलना बहुत ही परेशानी भरा होता है. गर्मियों का असर हमारे काम पर भी पड़ता है. गर्मियों के साइडइफेक्ट्स में से एक ये भी है कि हम रिफ्रेश फील नहीं कर पाते. साथ ही कहीं ट्रिप का प्रोग्राम बनाने में हम काफी कंफ्जूड नजर आते हैं. अगर आप भी गर्मियों में घूमने के लिए बेस्ट डेस्टिनेशन की तलाश में हैं, तो हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी डेस्टिनेशंस के बारे में, जो मई-जून के लिए परफेक्ट रहेगी.

बीर-बिलिंग, हिमाचल प्रदेश 

क्या आप इस बार अपनी छुट्टियों को हवा में उड़ते हुए इंजौय करना चाहती हैं तो हवाई जहाज या हेलीकौप्टर में नहीं बल्कि पैराग्लाइलिंग कर सकती हैं. यह उत्तर भारत की बेहतरीन जगहों में से एक है. बिलिंग में पैराग्लाइडिंग का टेक-औफ स्पौट है जबकि बीर में लैंडिंग स्पौट और दोनों के बीच की दूरी 14 किलोमीटर है.

कैसे पहुंचे

नजदीकी एयरपोर्ट गग्गल एयरपोर्ट जो बीर से 45 मिनट की दूरी पर है. नजदीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है. अगर सड़क मार्ग के जरिए दिल्ली से बीर जाना चाहते हैं तो 12-14 घंटे का सफर तय करना पड़ेगा.

मैक्लौडगंज, हिमाचल प्रदेश

प्रकृति को बेहद नजदीक से महसूस करना चाहती हैं तो पहुंच जाएं हिमाचल प्रदेश के मैक्लौडगंज जो मई के महीने में परिवार संग छुट्टियां बिताने के लिहाज से परफेक्ट डेस्टिनेशन है. आप चाहें तो दोस्तों के साथ या फिर अकेले सोलो ट्रिप भी प्लान कर सकती हैं. हिमालय की पहाड़ियों के बीच में स्थित मैक्लौडगंज शांति से भरे स्वर्ग और अडवेंचर पैराडाइज का बेहतरीन कौम्बिनेशन है. मई के महीने में मैक्लौडगंज का औसत तापमान 22 से 35 डिग्री के बीच रहता है.

travel in hindi

कैसे पहुंचे

गग्गल एयरपोर्ट मैक्लौडगंज का नजदीकी एयरपोर्ट है जहां से टैक्सी के जरिए 18 किलोमीटर का सफर तय किया जा सकता है. पठानकोट यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन है जहां से मैक्लौडगंज की दूरी 90 किलोमीटर है. इसके अलावा सड़क मार्ग के जरिए भी मैक्लौडगंज पहुंच सकती हैं.

लैंसडाउन, उत्तराखंड

उत्तराखंड के पौड़ी जिले में स्थित एक सुन्दर हिल स्टेशन है. इस खूबसूरत हिल स्टेशन को अंग्रेजों ने साल 1887 में बसाया था. यहां का मौसम पूरे साल सुहावना बना रहता है. हर तरफ फैली हरियाली आपको एक अलग दुनिया का एहसास कराती है. गर्मी के मौसम में दिल्ली-एनसीआर में रहने वाले पर्यटक बड़ी संख्या में लैंसडाउन जाते हैं क्योंकि यह दिल्ली से नजदीक है. गर्मी के मौसम में यहां का औसत तापमान 15 से 30 डिग्री के बीच रहता है.

कैसे पहुंचे

नजदीकी एयरपोर्ट देहरादून है जहां से 152 किलोमीटर दूर है लैंसडाउन. वहीं, कोटद्वार इसका नजदीकी रेलवे स्टेशन है जहां से टैक्सी के जरिए 41 किलोमीटर का सफर तय कर लैंसडाउन पहुंच सकती हैं. इसके अलावा सड़क मार्ग के जरिए महज 6 घंटे में दिल्ली से लैंसडाउन पहुंच सकते हैं.

शिलौन्ग, मेघालय

मेघालय की राजधानी शिलौन्ग को अक्सर ईस्ट के स्कौटलैंड के नाम से जाना जाता है क्योंकि यहां पर्यटकों को कई तरह का नेचर सरप्राइज देखने को मिलता है. यहां के खूबसूरत पहाड़ों को देखने का अपना ही मजा है. शिलौन्ग अपने आप में बेहद खूबसूरत जगह है.

हरे-भरे बगीचे, पहाड़, झड़ने और हाइकिंग ट्रेल इसे गर्मियों के लिए परफेक्ट डेस्टिनेशन बनाता है. गर्मियों में शिलॉन्ग का औसत तापमान 15 से 24 डिग्री के बीच रहता है.

कैसे पहुंचें

शिलौन्ग का उमरोई एयरपोर्ट मुख्य शहर से महज 40 किलोमीटर दूर है. इसके अलावा गुवाहाटी यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन है जहां से शिलौन्ग की दूरी 104 किलोमीटर है.

महाबलेश्वर, महाराष्ट्र

चारों तरफ से शानदार दृश्यों से घिरा महाबलेश्वर में आपको घाटियां और हरियाली देखने को मिलेगी. सेंट्रल इंडिया के क्वीन औफ हिल्स के नाम से मशहूर है महाबलेश्वर जो महाराष्ट्र के सबसे मशहूर टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स में से एक है. आप यहां जाकर स्ट्रौबरी चुनने का भी मजा ले सकती हैं. गर्मियों में यहां का तापमान 20 से 30 डिग्री के बीच रहता है.

कैसे पहुंचें

यहां का नजदीकी एयरपोर्ट पुणे है जो महाबलेश्वर से 120 किलोमीटर दूर है. नजदीकी रेलवे स्टेशन वाथर है जो यहां से 60 किलोमीटर दूर है. मुंबई से सड़क मार्ग के जरिए 5-6 घंटे में महाबलेश्वर पहुंच सकती हैं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं