इंडिया ट्यूरिज़्म ने एक अच्छे और आरामदायक ट्रीप के लिए बहुत सारी सुविधाएं दी हैं. रॅायल ट्रेन उनमें से एक है. इंडियन रेलवे ने कुछ बहुत ही बेहतरीन रॅायल ट्रेन दिए हैं, जो आपको एक रॅायल फिलींग देगें. यह ट्रेने ज़्यादातर इंडिया ट्रैवल को प्रोमोट करते हैं.

पैलेस ऑन विल्स

पैलेस ऑन विल्स की शुरूआत 1983 में हुई थी. यह इंडिया के बहुत पुराने रॅायल ट्रेनों में से एक है. इस ट्रेन को शुरूआत करने का खास उद्देश्य राजपूत वंश और राजस्थान को दर्शाना था. इस ट्रेन में लगभग 14 कोच बने हुए हैं, जो आपको रॅायल महसूस कराएगी. इस ट्रेन में आपको दो बहुत ही बेहतरीन रेस्ट्रौन्ट मिलेंगे “द महाराजा” और “द महारानी” जो बिल्कुल राजस्थानी लुक देते हैं.

यह ट्रेन दिल्ली से शुरू होकर जयपुर, सवाई माधवगढ़, चित्तौरगढ़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुक और आगरा तक जाती है.

रॅायल राजस्थान ऑन विल्स

इंडियन रेलवे ने रॅायल राजस्थान ऑन विल्स टूरिस्ट के आराम के लिए बनाया है. इसे 2009 में शुरू किया गया था और यह बिल्कुल पैलेस ऑन विल्स जैसी है. स्वर्ण महल और शीश महल दो बेहतरीन डाइनिंग कार है.

यह ट्रेन दिल्ली से शुरू होकर जयपुर, सवई माधोपुर, चित्तौरगढ़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर और आगरा तक जाती है.

द गोल्डन चैरिओट

द गोल्डन चैरिओट एक लक्ज़री ट्रेन है जो साउथ इंडिया के कुछ जगहों को कवर करती है. पैलेस ऑन विल्स के सफलता के बाद इसकी शुरूआत की गई थी. इसमें लगभग 11 कोच है जो बहुत ही रॅायल लुक देती है. इस ट्रेन की देखभाल कर्नाटक स्टेट टूरिज़्म और डेवलपमेंट द्वारा की जाती है. अक्टूबर- मार्च के बीच ये चलती है. इस ट्रेन की दो रूट हैं:

रूट 1: बैंगलोर, मैसूर, नागरहोले नेशनल पार्क, हसन, होसपेट, हम्पी, चेन्नई, बादामी और गोवा.

रूट 2: बैंगलोर, चेन्नई, पॅान्डीचेरी, थन्जावूर, मदूरई और कोची.

महाराजा एक्सप्रेस

महाराजा एक्सप्रेस की शुरूआत 2010 में हुई थी. यह सेंट्रल और नार्थ- वेस्ट इंडिया को कवर करती है. महाराजा एक्सप्रेस को अक्टूबर-अप्रैल तक ऑपरेट किया जाता है और इसका मेजर लोकेशन राजस्थान है.

COMMENT