गृहशोभा विशेष

सिक्किम की खूबसूरतियों के बीच यहां का सबसे प्रमुख पर्यटक स्थल है गुरुडोंगमार झील जो हिमालय पर्वत पर स्थित सबसे ऊंचे झीलों में से एक है. चलिए आज इसी अद्भुत झील की सैर पर चलते हैं.

गुरुडोंगमार झील

सिक्किम के लाचेन में लगभग 5430 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है गुरुडोंगमार झील. यह झील कंचनजंगा पर्वतमला के उत्तर पूर्व में स्थित है. यह चीन की सीमा से केवल 5 किलोमीटर की दूरी पर है. ठंड के मौसम, नवंबर से मई के महीने में यह झील पूरी तरीके से जम जाता है. इस झील से एक प्रवाह त्शो लामो झील को इस झील से जोड़ती है और फिर यहां से तीस्ता नदी का उद्गम होता है.

धार्मिक रूप से यह झील बौद्ध और सिक्ख धर्म, दोनों का पवित्र स्थल है. कहा जाता है कि, जब गुरु पद्मसम्भवा तिब्बत की यात्रा पर थे तब उन्होंने इस झील को ही अपनी उपासना के लिए सबसे सही जगह के रूप में चुना था. गुरु नानक जी से भी संबंधित कथा यहां पर प्रचलित है. उनकी कथा भी गुरु पद्मसम्भवा की कथा से मिलती जुलती है.

दूर दूर तक फैला नीला जल और पार्श्व में बर्फ से लदी श्वेत चोटियां गाहे बगाहे आते जाते बादलों के झुंड से गुफ्तगू करती दिखाई पड़ती हैं. झील के दूसरी ओर सुनहरे पत्थरों के पीछे नीला आकाश एक और खूबसूरत परिदृश्य को दर्शाते हैं. यहां झील के किनारे एक सर्वधर्म प्रार्थना स्थल भी है. गुरुडोंगमार झील की यात्रा आप एक दिन में ही पूरी कर लेंगे. उसके बाद यहां के आसपास की खूबसूरती का भी मजा ले सकते हैं.

रहने की सुविधा:

गुरुडोंमार झील पहुंचने के लिए सबसे पहले आपको लाचेन पहुंचना होगा जहां आप थोड़ी देर रुककर आराम भी कर सकते हैं. लाचेन में होटल की सुविधा आपको आराम से मिल जाएगी.

गुरुडोंगमार कैसे पहुंचे?

सड़क द्वारा: गुरुडोंगमार झील पहुंचने के लिए आपको सबसे पहले लाचेन पहुंचना होगा, जहां आप गैंगटोक से 4 या 5 घंटे का सफर तय कर आराम से पहुंच सकते हैं. लाचेन से गुरुडोंमार झील तक आप सिर्फ 3 से 4 घंटों में पहुंच जाएंगे. बस की सुविधा या फिर निजी कैब और टैक्सी की सुविधा भी उपलब्ध हैं.

रेल यात्रा द्वारा: गुरुडोंगमार झील का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन है न्यू जलपाईगुड़ी है, जो भारत के अन्य प्रमुख शहरों से आसानी से जुड़ा है.

हवाई यात्रा द्वारा: यहां का सबसे नजदीकी हवाई अड्डा बागडोगरा है जो सिलिगुड़ी के नजदीक है. यहां से गंगटोक लगभग 124 किलोमीटर की दूरी पर है.

यहां जाने का उचित समय

यह झील ज्यादातर मौसमों में जम जाता है, अप्रैल से जुलाई के महीने यहां की यात्रा का सबसे सही समय है.

सिक्किम में अन्य आकर्षक स्थल

गुरुडोंगमार झील के साथ-साथ सिक्किम में कई सारे अन्य आकर्षक केंद्र हैं. चांगु झील, त्शो लामो झील, लाचेन, नामची, ज़ुलुक, यूंतांग घाटी, युक्सोम, नाथुला पास, रवंगला, आदि जैसे क्षेत्र सिक्किम को एक पर्फेक्ट पर्यटक स्थल बनाते हैं.

VIDEO : दीपिका पादुकोण तमाशा लुक

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं