गृहशोभा विशेष

पाकिस्तान का नाम आते ही हमारे जेहन में सिर्फ दहशतगर्द और एक अशांत देश ही आता है. चंद लोगों के कारण दहशत और खौफ की धरती बन चुके पाकिस्तान में भी ऐसी काफी सारी खूबसूरत जगहें हैं जहां पर जाकर आपको जन्नत जैसे खूबसूरत नजारों से रूबरू होंगे.

ये हैं पाकिस्तान के कुछ खूबसूरत नजारें

सुक्कुर

सुक्कुर पाकिस्तान के सिन्ध प्रान्त का तीसरा सबसे बड़ा शहर है. यह सिन्धु नदी के पश्चिमी किनारे पर है. इसके चारों ओर ऐतिहासिक संरचनायें और संतो की कब्रें बनी हुई हैं. साथ ही यहां पर अधिक मात्रा में आपको आकर्षित करने वाली मस्जिदें भी हैं.

थार रेगिस्तान

भारत के उत्तर पश्चिम में तथा पाकिस्तान के दक्षिण पूर्व में है. यह रेगिस्तान बहुत ही लम्बा और चौड़ा है. यहां के जीव, पेड़-पौधे दूसरें देशों से बिल्कुल अलग है. यह घूमने की बहुत खूबसूरत जगह है.

मोहन जोदड़ो

सिंधी में इसका मतलब होता है ‘मुर्दों का टीला’. इस दुनिया का सबसे पुराना नियोजित और उत्कृष्ट शहर माना जाता है. यह पाकिस्तान का सबसे बड़े शहर कराची से 580 किमी की दूरी पर है. इस घाटी का इतिहास 5000 हजार साल पुराना है.

मुल्तान

मुल्तान पाकिस्तान के पंजाब सूबे में है. यह पाकिस्तान का छठा सबसे बड़ा शहर है. यह शहर पाकिस्तान का सबसे महत्वपूर्ण शहर है जिसे संतों का शहर कहा जाता है.

लाहौर

पाकिस्तान के प्रांत पंजाब की राजधानी है और कराची के बाद यह दूसरा सबसे बड़ी आबादी वाला शहर है. इसे पाकिस्तान का दिल नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इस शहर का पाकिस्तानी इतिहास, संस्कृति एवं शिक्षा में महत्वपूर्ण योगदान रहा है. यहां पर हर साल भारी मात्रा में पर्यटक आते हैं.

ग्वादर

यह क्वेटा के बाद बलूचिस्तान प्रांत का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. यह एक समुद्र तट है जो तेजी से विकसित हो रहा है. इस शहर में अधिक मात्रा में पर्वत भी है. आने वाले समय में यह शहर बंदरगाह के साथ व्यापार का एक मुख्य केन्द्र होगा.

भुरबन

पाकिस्तान के मुरी की झिका गली से 20 मिनट की दूरी पर है भुरबन. पर्यटको को आकर्षित करने की सबसे बड़ी वजह है यहा की प्राकृतिक सुंदरता और 10 किमी में फैला हुआ गोल्फ कोर्स. यहां पर आपको ठहरने के लिए होटल भी मिल जाएगें.

शोगरन

समुद्र तल से 2400 मीटर की ऊंचाई पर है शोगरन. यह हनीमून और अपनी वीकेंड बीताने के लिए सबसे अच्छी जगह है. यहां कघन घाटी का सबसे ऊंचा पर्वत है. साथ ही मल्का-ए-पर्वत की छाया सैफ-उल- मलूक झील पर एक जादुई प्रभाव पैदा करती है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं