Summer special: बौडी इम्युनिटी और मेटाबोलिज्म को बढाती है नींबू की चाय 

वैसे तो हम सभी जानते है की नींबू बहुत ही गुणकारी होता है. कई रूपों में यह हमारे स्वास्थ्य के लिए फयदेमंद साबित होता है. नींबू विभिन्न विटामिन्स व मिनरल्स का खजाना माना जाता है. नींबू विटामिन C का बेहतर स्रोत है. इसमें विभिन्न विटामिन्स जैसे थियामिन, रिबोफ्लोविन, नियासिन, विटामिन B – 6, और विटामिन-E की थोड़ी मात्रा मौजूद रहती है.

पर क्या आप ये जानते है की नींबू से भी ज्यादा फायदेमंद नींबू की चाय (lemon tea )होती है.
सुबह एक चाय की चुस्की से ही हम तरोताजा फील करते हैं. लेकिन इस चाय में थोड़ा सा बदलाव करके इसे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद भी बनाया जा सकता है. चाय को सिर्फ सामान्य चाय की तरह ही इस्तेमाल ना करके इसे नींबू की चाय (lemon tea )यानी लेमन टी की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है.

लेमन टी में पोलीफीनोल और विटामिन-C अधिक मात्रा में पाया जाता है. जिस कारण लेमन टी शरीर में कैंसर सेल्स को बनने से भी रोकता है. जिससे लेमन टी के सेवन से कैंसर से भी बचा जा सकता है. लेमन टी पीने से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में आसानी होती है. जिससे कई बीमारियों और इन्फेक्शन से बचा जा सकता है.

ये भी पढें- समर ड्रिंक: कच्चे आम से बच्चों को दें टेस्टी ड्रिंक

लेमन टी में फ्लेवोनोइड्स नाम का केमिकल पाया जाता है. इससे धमनियों में रक्त के थक्के नहीं बनते हैं. जिसके कारण हार्ट अटैक का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है.

अगर आपको वजन कम करना है और स्‍वस्‍थ्‍य रहना है तो नींबू की चाय (lemon tea )बना कर रोज सुबह पियें. एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफार्मेशन) की वेबसाइट पर प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च के अनुसार, नींबू में शरीर को डिटॉक्स करने का गुण पाया जाता है. साथ ही इसे लो-कैलोरी माना गया है, जिस कारण यह वजन को कम करने में मदद कर सकता है.

रोग-प्रतिरोधक क्षमता के लिए भी लेमन टी का उपयोग फायदेमंद हो सकता है. एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित शोध के अनुसार, लेमन टी बनाने में उपयोग किए जाने वाले नींबू में इम्युनिटी बढ़ाने का गुण पाया जाता है. यह न केवल इम्युनिटी को बढ़ा सकता है, बल्कि संक्रमण से भी बचाने में आपकी मदद कर सकता है.

पाचन के लिए भी नींबू की चाय (lemon tea )बहुत बढ़िया हो सकती है. यह मतली और उल्टी जैसे लक्षणों को दूर करने में फायदेमंद हो सकती है. बशर्ते आप इसमें थोड़ा सा अदरक मिलाएं. यह अपच और ऐसी अन्य गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से राहत दिलाने के लिए असरदार हो सकती है.
पर ध्यान रहे जिन लोगों को अल्सर की परेशानी हो वे नींबू का या नींबू की चाय का सेवन न करें.
तो चलिए जानते है की नींबू की चाय (lemon tea )कैसे बनायीं जाती है-

हमें चाहिए-(2 कप चाय के लिए )

पानी -2 कप
नींबू -1/2
चाय पत्ती -1/2 छोटी चम्मच
अदरक का टुकड़ा -1 इंच
लौंग-2
काली मिर्च -2 से 3
शक्कर या शहद -2 से 3 चम्मच या स्वादानुसार

बनाने का तरीका –

1-सबसे पहले एक केतली में 2 कप पानी गर्म करें .अब उसमे ½ चम्मच चाय पत्ती डालें .
2-अब अदरक ,लौंग और कालीमिर्च को अच्छे से पीस कर केतली में डालें.
3-अब उसमे स्वादानुसार शक्कर डाल दें .आप चाहे तो शक्कर की जगह शहद का उपयोग भी कर सकते हैं.
4-अब उसे अच्छे से पका ले.जब चाय अच्छे से पक जाये तब उसमे नींबू का रस डाल दें और तेज़ आंच पर 1 से 2 मिनट पका लें .
5-अब गैस को बन्द करके चाय को कप में छान लें.

ये भी पढें- इम्यूनिटी को तेज़ी से बढाता है ये ख़ास काढ़ा

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें