पिल्स को छोड़िए, इन प्राकृतिक गर्भनिरोधक को अपनाएं

शादीशुदा महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक गोलियां बेहद परेशान करती हैं. इनके सेवन से महिलाओं की शरीर का काफी नुकसान होता है. आज लड़कियां औरते पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिला कर आगे बढ़ रही हैं. ऐसे में कई बार वो मां बनने के लिए मानसिक तौर पर तैयार नहीं रहती. इस सूरत में शादीशुदा महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियों का सहारा लेना पड़ता है जिससे उनके सेहत का काफी नुकसान होता है.

इस खबर में हम आपको बताएंगे कुछ प्रकाकृतिक उपायों के बारे में जिसे अपना कर आप प्रेग्नेंसी की संभावना को कम कर सकेंगी. ये गर्भनिरोधक गोलियों का प्राकृतिक स्वरूप है. पर इनके प्रयोग से पहले आप डाक्टर से सलाह जरूर लें.

मछली

प्रेग्नेंसी में उन मछलियों के प्रयोग को साफ तौर पर मना किया जाता है जिसमं मरकरी पाई जाती है. इसमें स्वार्डफिश प्रमुख है. जानकारों की माने तो इन मछलियों में पाए जाने वाला मरकरी गर्भनिरोधक गोली का काम करती है.

पपीता

अक्सर लोग प्रेग्नेंसी के दौरान पपीता खाने से मना करते हैं. गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में तो खासकर के पपीते का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए. इसे खाने से गर्भ रुकता नहीं है. अगर आप पिल्स नहीं खाना चाहती तो पपीता आपके लिए बेहतर विकल्प हो सकता है.

चीज

कई जानकार ऐसा कहते हैं कि अनपाश्चूराइज्ड मिल्क से बना हुआ चीज भी प्राकृतिक गर्भनिरोधक का काम करता है.

अनानस

अनानस में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो गर्भ के लिए बहुत नुकसानदायक होते हैं. यही कारण है कि प्रेग्नेंसी में इसे खाने की मनाही होती है. ये एक प्राकृतिक गर्भनिरोधक की तरह काम करता है.

कच्चा दूध

कच्चा दूध गर्भनिरोधक का काम करता है. सोने से पहले या सुबह सुबह इसका सेवन गर्भनिरोधक के तौर पर कर सकती हैं.

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें