इन नेचुरल टिप्स से पाएं गर्दन के फैट से छुटकारा

जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ती जाती है वैसे वैसे हमारी गर्दन का भार भी बढ़ने लगता है और एक समय ऐसा आता है जब हमारी गर्दन हमारे चेहरे से अधिक बड़ी या मोटी लगती है. ऐसी स्थिति में आपके चेहरे की सारी शेप ही बिगड़ जाती है और वह थोड़ा भद्दा दिखने लगता है. अगर आपके साथ भी यह दिक्कत है तो आप एक्सरसाइज के द्वारा और डाइट के द्वारा अपनी गर्दन का फैट प्राकृतिक रूप से कम कर सकते हैं. आज हम केवल डाइट के कारण आप कैसे अपनी गर्दन के फैट को कम कर सकते हैं, इस विषय पर चर्चा करेंगे. लेकिन उससे पहले यह जान लेते हैं कि गर्दन फैट के बढ़ने के क्या क्या मुख्य कारण होते हैं.

गर्दन फैट जमा होने के कारण

मोटापा : जो लोग ओवर वेट होते हैं उनकी गर्दन का फैट बढ़ने के चांस अधिक होते हैं इसलिए उनके शरीर के साथ साथ उनकी गर्दन भी मोटी होती है.

कुछ मेडिकल स्थितियां : हार्मोन्स के अनियमित होने के कारण या थायराइड जैसी समस्याओं के कारण मोटापा बढ़ सकता है और इस कारण से गर्दन का फैट भी बढ़ सकता है.

हृदय संबंधी समस्या : जिन लोगों को हृदय संबंधी समस्या हैं उन्हें गर्दन का फैट अधिक होने की समस्या हो सकती है.

उम्र : जिन लोगों की उम्र अधिक हो जाती है उन्हें जवान लोगों के मुकाबले मोटी गर्दन की अधिक समस्या झेलनी पड़ती है.

ये भी पढ़ें- फर्टिलिटी और जिंदगी को कैसे प्रभावित करता है तनाव? जानें यहां

गर्दन का फैट कम करने की कुछ डाइट टिप्स

ग्रीन टी : ग्रीन टी में कुछ ऐसे पोली फेनोल्स होते हैं जिनमें एंटी ऑक्सिडेंट होते है. यह वजन कम करने में और गर्दन के फैट को कम करने में लाभदायक माने जाते हैं. आप ग्रीन टी बैग्स को पानी के साथ उबाल कर उसे छान कर उसमें शहद एड करके पी सकते हैं.

नारियल का तेल : इसमें कुछ फैटी एसिड्स होते हैं जो मेटाबॉलिज्म को बढ़ाते हैं. इससे आपको बिना चाहा फैट कम करने में मदद मिलती है. आप हर रोज सुबह एक चम्मच एक्स्ट्रा वर्जिन कोकोनट ऑयल पी सकते हैं और अगर चाहें तो इससे अपनी गर्दन पर मसाज भी कर सकते हैं.

खरबूजा : खरबूजे में कैलोरीज़ और फैट की मात्रा बहुत कम होती है. इसमें बहुत से मिनरल और विटामिन होते हैं. यह आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगने देते हैं और आपकी वजन कम करने में भी मदद करते है. इसलिए दिन में ताजे ताजे खरबूज की स्लाइस खाते रहें.

नींबू का रस : नींबू के रस में बहुत सी एंटी ऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज होती हैं. यह एंटी ऑक्सिडेंट बॉडी के मेटाबॉलिज्म को इंप्रूव करते हैं और आपका वजन कम करने में भी मदद करता है. इसके लिए आप सुबह सुबह खाली पेट एक गिलास पानी में नींबू निचोड़ कर उसमें शहद एड करके पी सकते हैं.

अलसी : अलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स होते हैं जो वजन कम करने में मदद करते हैं. इसके लिए या तो आप अलसी के बीज खा लें या फिर उसके पाउडर को पानी में मिला कर के पी सकते हैं.

मूली : मूली विटामिन ए और फाइबर का एक अच्छा स्रोत होती हैं. इनकी पचाने में अधिक समय लगता है इसलिए यह आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगने देती हैं. इसलिए मूली आपका वजन कम करने में मदद कर सकती है. आप इसे सलाद को तरह खा सकते हैं.

ये भी पढ़ें- म्युकर माइकोसिस देश में अधिक होने की खास वजह क्या है? जाने यहां

एलो वेरा : एलो वेरा बॉडी फैट और वजन को कम करने में बहुत लाभदायक माना जाता है. इससे नेक फैट कम होने में भी सहायता मिल सकती है. आप रोजाना सुबह उठ कर ताजा एलो जूस पी सकते हैं.

उपरलिखित सभी तरीके गर्दन का वजन कम करने में लाभदायक हैं. इनके अलावा आप अधिक से अधिक पानी पिए, ज्यादा कैलोरीज़ वाला खाना न खाएं और हर रोज थोड़ी बहुत एक्सरसाइज भी करते रहें. अगर आपके सारे शरीर का थोड़ा बहुत वर्कआउट होगा तो आपके सभी अंगों का वजन कम होने में मदद मिलेगी. आप सूरज मुखी के बीजों का और लाल शिमला मिर्च का प्रयोग भी कर सकते है.

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें