मुझे अकसर गर्दन में दर्द रहता है. मैं जानना चाहती हूं कि यह समस्या क्यों होती है?

सवाल-

मुझे अकसर गरदन में दर्द रहता है. मैं जानना चाहती हूं कि यह समस्या क्यों होती है? कृपया इस से बचने के उपाय और उपचार के बारे में बताएं?

जवाब-

गरदन में दर्द होने को चिकित्सीय भाषा में सर्वाइकल पेन कहते हैं. गरदन से हो कर गुजरने वाले सर्वाइकल स्पाइन के जोड़ों और डिस्क में समस्या होने से सर्वाइकल पेन हो जाता है. समस्या मामूली है तो उसे जीवनशैली में बदलाव ला कर ठीक किया जा सकता है, गंभीर होने पर उपचार की जरूरत पड़ती है. अगर फिजिकल थेरैपी और दवाइयों से भी सर्वाइकल पेन ठीक नहीं होता तब सर्जरी की जाती है.

इस से बचने के लिए बैठते, चलते, कंप्यूटर पर काम करते समय अपना पोस्चर दुरुस्त रखें. नियमित रूप से ऐक्सरसाइज करें. मोबाइल फोन को अपने कान और कंधे के बीच फंसा कर बात न करें.

ये भी पढ़ें-

अगर आप भी लंबे समय तक अपना मोबाइल फोन अपनी गर्दन में दबा कर बात करने की आदी हैं तो आपको इस आदत को अलविदा कहने की जरूरत है. मोबाइल फोन उपभोक्ता अब इस तरह अपने गैजेट्स पर बहुत ज्यादा समय बिताने के कारण एक नई परेशानी टेक्स्ट नेक का शिकार हो रहे हैं.

विशेषज्ञों का दावा है कि अगर आप लंबे समय तक इस तरह फोन पर बात करती हैं तो लंबे समय में आपको गठिया की परेशानी हो सकती है. परेशानी और गंभीर होने पर मांसपेशियां स्थाई तौर पर मुड़ सकती हैं, जिससे गर्दन को सीधा होने में दिक्कत आ सकती है.

लीड्स के फ्रीडम बैक क्लिनिक्स की रैशेल लैनकास्टर ने बताया कि लंबे समय तक गर्दन को मोड़े रखने से टेक्स्ट नेक की परेशानी हो सकती है. इस परेशानी के शिकार लोगों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है क्योंकि स्मार्ट फोन और टेबलेट कंप्यूटर का इस्तेमाल बढ़ रहा है.

पूरी खबर पढ़ने के लिए- फोन गर्दन में दबाकर बात करती हैं तो हो जाइये सावधान

अगर आपकी भी ऐसी ही कोई समस्या है तो हमें इस ईमेल आईडी पर भेजें- submit.rachna@delhipress.biz
 
सब्जेक्ट में लिखे…  गृहशोभा-व्यक्तिगत समस्याएं/ Personal Problem
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें