नए कपड़े पहनते समय रखें इन 4 बातों का ध्यान

हम सभी विभिन्न अवसरों के लिए नए कपड़े खरीदते हैं. भले ही कोरोना के आगमन के बाद से बाजार जाने पर रोक लगी हो परन्तु कपड़ों की शॉपिंग तो जारी ही है , कपड़े भले ही ऑनलाइन लिए जाएं या ऑफलाइन हम सभी को उन्हें पहनने की जल्दी रहती है परन्तु इन्हें पहनने के लिए की गई जल्दबाजी कई बार काफी महंगी पड़ जाती है और हम स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं से घिर जाते है. आज हम आपको नए कपड़े पहनने से पूर्व ध्यान रखने वाले कुछ टिप्स के बारे में बता रहे हैं जिनका ध्यान रखकर आप अनेकों समस्याओं से बचे रहेंगे-

1. धोना है जरूरी

-कपड़ो को बनाये जाते समय अनेकों केमिकल का प्रयोग किया जाता है. आजकल तो नेचुरल की अपेक्षा केमिकल रंगों से ही डाई किया जाता है. इन केमिकल्स के अनेकों दुष्प्रभाव होते हैं जिनके कारण इन्हें अवश्य धोएं अन्यथा केमिकल के कारण दाद, खाज, खुजली जैसे संक्रमण हो सकते हैं.

-कपड़े स्टोर्स में काफी लंबे समय तक रखेरहते हैं. हमें पता ही नहीं होता कि वे कहां और किस वातावरण में रखे हैं इसलिए इन्हें धोकर पहनने से इन पर चढ़ी धूल मिट्टी साफ हो जाती है जिससे किसी भी प्रकार की एलर्जी से बचाव हो जाता है.

-आजकल हर स्टोर में ट्रायल रूम होते हैं जहां अनेकों लोग कपड़ों का ट्रायल करते हैं  ऐसे में उनके शरीर की किसी त्वचा संबंधी बीमारी और पसीना उनमें लग जाता है इसलिए धोना बहुत जरूरी होता है.

-टाई डाई, बंधेज, बटिक तथा बाघ प्रिंट जैसे फेब्रिक को नेचुरल रंगों से बनाया जाता है. इन्हें प्रयोग करने से पूर्व नमक के पानी में भिगो देने से इनका रंग पक्का हो जाता है.

ये भी पढ़ें- Gardening Tips: ऐसे गुलजार करें गुलदाऊदी आशियाना

2. कोरोना से करें बचाव

आप चाहे ऑनलाइन शॉपिंग करें या ऑनलाइन कोरोना से बचाव अत्यंत आवश्यक है. कोरोना के आगमन के बाद से यदि ट्रायल करते समय किसी को जरा सा भी संक्रमण है तो कपड़ों के जरिये यह संक्रमण आप तक भी आसानी से पहुंच जाता है. इसके अतिरिक्त पैकेजिंग करने वाले व्यक्ति, या ट्रांसपोर्ट करने वाले व्यक्ति ने छींका या खांस दिया हो तो भी संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए कोरोना काल में नए कपड़ों को पहनने से पूर्व गुनगुने पानी में डेटॉल या अन्य किसी एंटीसेप्टिक की कुछ बूंदें डालकर 2 घण्टे के लिए भिगो दें इससे संक्रमण की आशंका पूरी तरह खत्म हो जाएगी. ऑनलाइन खरीदे कपड़ों के पैकेट्स को पहले सेनेटाइज करें फिर खोलें.

3. टैग्स और बिल्स को संभालें

कपड़ों के टैग्स और बिल्स को संभालना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि कई बार साइज के छोटा होने या फेब्रिक और रंग के पसन्द न आने पर इन्हें बदलना पड़ता है, बिल्स और टैग्स के होने से इन्हें बदलना या वापस करना आसान हो जाता है.

4. रखें सावधानी

कई बार घर पर कपड़े ट्राय करते समय जरा सी असावधानी से कपड़ों पर कुछ गिर जाता है या कपड़ा कहीं उलझकर फट जाता है तो उसकी वापसी असम्भव हो जाता है इसलिए जब तक आप कपड़े को खरीदना सुनिश्चित न कर लें तब तक उन्हें बहुत सावधानी से ट्राय करें.

ये भी पढ़ें- गार्डनिंग: प्रकृति का बसेरा

जानें क्यों जरूरी है नए कपड़ों को धोना

अकसर देखा गया है कि लोग नए कपड़े बाजार से खरीदने के बाद उन्हें बिना धोएं ही पहन लेते हैं.पर क्या आपको पता है आपकी यह आदत आपकी सेहत के ल‍िए बड़ी समस्‍या लेकर आ सकती है. एशियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस हॉस्पिटल, फरीदाबाद के सीनियर स्किन स्पेशलिस्ट डॉक्टर अमित बनगया (bangia) का कहना है कि जब हम किसी कपड़े को खरीदते हैं तो हम तक पहुंचने से पहले नये कपड़ों में कई प्रकार के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है, जिसके अंश कपड़ों में रह जाते हैं.जो त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं.

केमिकल्स का प्रयोग

अगर आप कोई डार्क कलर का कपड़ा खरीदते हैं तो उससे पहनने से पहले जरूर धोएं. वो इसलिए क्योंकि नेचुरल थ्रेड का अपना कोई कलर नहीं होता, इसलिए उस पर विभिन्न प्रकार के केमिकल्स का इस्तेमाल किया जाता है. ऐसे कपड़ों में ऐज़ो डाईस( azo) का इस्तेमाल किया जाता है, जिसकी वजह से त्वचा पर दाद, खाज और खुजली जैसी समस्याएं हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें- बच्चों के साथ कार में सफर करने के दौरान रखें ये सावधानियां

बहुत अधिक स्टार्च

नए कपड़ों को बार-बार खोलने-मोड़ने और पहनने के कारण वह मुड़ जाते हैं और उनमें चुन्नट पड़ सकती है. इससे बचने के लिए कपड़ों को कड़क स्टार्च करते हैं, इसीलिए इन कपड़ों को पहनने से पहले धोना ज़रूरी हो जाता है ताकि स्टार्च त्वचा के संपर्क में न आए.

अनेकों हाथों से गुजरते हैं

सिर्फ इतना ही नहीं यह अलग-अलग स्थानों और लोगों के हाथों से होकर गुजरते हैं, जिससे इंफेक्शन का खतरा अधिक बढ़ जाता है. इसलिए बहुत ज़रूरी हो जाता है कि नए कपड़ों को पहनने से पहले उन्हें उन्हें धोकर जरूर पहनें.

ट्राई किये गए कपड़े

शॉपिंग के दौरान आपको जो कपड़े पसंद आते हैं वो आप खरीद लेते हैं पर आपको ये नहीं पता होता क‍ि उस कपड़े को कितने लोगो ने ट्राई किया होगा और उस समय उनकी सेहत कैसी होगी. तो इसलिए जब भी आप नया कपड़ा खरीद कर लाएं तो उसे जरूर धो लें.

बच्चो के कपड़े

बच्‍चों को नए कपड़े बिना धोए पहनने से उन्हें रैशेस भी हो जाते हैं जो बहुत परेशान करते हैं. क्योंकि उनकी स्किन बड़ो से भी ज़्यादा सॉफ्ट होती है. इसलिए जब भी बच्चों के लिए कपड़े खरीदें तो उसे धोएं ज़रूर.

ये भी पढ़ें- वौशिंग मशीन में धोती हैं कपड़ें तो ये 5 टिप्स जरूर आजमाएं

नए कपड़ों को पहनने से पहले धो लें, नहीं तो हो सकती हैं ये परेशानियां

आप किसी स्टोर से नए कपड़े खरीदकर लाती हैं तो आप उसे तुरंत ही पहनने की कोशिश करती हैं और यह चेक करते हैं कि वह आपके शरीर पर फिट है या नहीं. पर क्या आपको पता है कि आपसे पहले कितने लोगों ने उसे ट्राई किया है? कितने लोगों के शरीर पर वो कपड़ा गया है? नए कपड़े खरीद कर पहनने का एक्साइटमेंट अलग ही होती है. पर क्या आपको पता है कि नए कपड़ों के पहनने से क्या परेशानी होती है?

new clothes are harmful to wear without wash

नए कपड़ो को ले कर आपको काफी सचेत रहने की जरूरत है. क्योकि उस कपड़े को कई लोगों ने ट्राई किया होता है. उसमें उन सभी के पसीने होते हैं. इसके अलावा नए कपड़ों को धोने की एक और वजह है, इसमें कई तरह के केमिकल जैसे डाई और फैब्रिक आदि होते हैं जो आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इन केमिकल की वजह से आपकी त्वचा में खुजली, लाल चकत्ते का पड़ना आदि खतरनाक चीजें हो सकती हैं.

आपको बता दें कि कपड़ा बनाने वाली कंपनियां उस कपडे को अच्छा दिखाने के लिए उसमें कई तरह के केमिकलों का इस्तेमाल करते हैं जोकि आपकी त्वचा के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं. इन केमिकलों के कारण कैंसर का खतरा भी काफी ज्यादा होता है.

new clothes are harmful to wear without wash

कपड़े को पहनने से पहले धोना बहुत जरूरी होता है. इससे आप बैक्टीरिया, फंगस और केमिकल आदि की वजह से होने वाले इन्फेक्शन से बच सकती हैं. कुछ चीजें जैसे मोज़े, अंडरगारमेंट्स, एथलेटिक वियर, टीज, स्विमिंग सूट और गर्मियों के कपड़े आदि को तो खासतौर पर धोकर ही पहनना चाहिए.

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें