शादी की खबरों के बीच Kiara-Sidharth का हुआ ब्रेकअप!

बॉलीवुड के कपल्स जहां शादी के बंधन में बंधने का फैसला ले रहे हैं तो वहीं इसी बीच पौपुलर रुमर्ड कपल एक्टर सिद्धार्थ मल्होत्रा और एक्ट्रेस कियारा आडवाणी के ब्रेकअप  (Kiara Advani- Sidharth Malhotra Breakup) ने फैंस को हैरान कर दिया है. आइए आपको बताते हैं पूरी खबर…

 इस कपल का हुआ ब्रेकअप

 

View this post on Instagram

 

A post shared by KIARA (@kiaraaliaadvani)

फिल्म ‘शेरशाह’ में साथ नजर आने वाली जोड़ी सिद्धार्थ-कियारा की जोड़ी को फैंस बेहद पसंद करते हैं. वहीं बीते दिनों खबरें थीं कि दोनों जल्द शादी करने वाले हैं. इसी बीच ब्रेकअप की खबरों ने फैंस को हैरान कर दिया है. दरअसल, खबरों की मानें तो एक इंटरव्यू में सिद्धार्थ और कियारा से जुड़े सूत्रों ने बताया है कि ‘सिद्दार्थ और कियारा ने अपने-अपने रास्ते अलग कर लिए हैं. यहां तक कि कपल ने एक-दूसरे से मिलना तक बंद कर दिया है. हालांकि दोनों के अलग होने का कारण अभी तक सामने नहीं आया है. बौलीवुड की इस जोड़ी के ब्रेकअप ने फैंस का दिल तोड़ दिया है.”

 

View this post on Instagram

 

A post shared by KIARA (@kiaraaliaadvani)

शादी करने वाला था ये कपल

 

View this post on Instagram

 

A post shared by KIARA (@kiaraaliaadvani)

सूत्रों की मानें तो कहा जा रहा है कि सिद्धार्थ और कियारा की बॉन्डिंग इतनी अच्छी थी कि लोगों को दोनों की शादी के बारे में बात करने लगे थे. लेकिन अचानक ऐसे रिश्ते के टूटने से फैंस हैरान रह गए हैं. वहीं ब्रेकअप की खबरों के बीच एक्ट्रेस कियारा आडवाणी ने अपनी अपकमिंग फिल्म भूल भुलइया 2 का पोस्टर फैंस के साथ शेयर किया है.

 

View this post on Instagram

 

A post shared by KIARA (@kiaraaliaadvani)

बता दें, इस सेलेब्रिटी कपल की कैमेस्ट्री फिल्म शेरशाह (Shershah) में फैंस को बेहद पसंद आई थी. वहीं फिल्म के बाद से ही सिद्धार्थ मल्होत्रा (Sidharth Malhotra) और कियारा आडवाणी (Kiara Advani) के डेटिंग की खबरें छा गई थीं. दोनों की इस खूबसूरत कैमेस्ट्री को देखकर कहा जा रहा था कि कटरीना कैफ और आलिया भट्ट के एक्ट्रेस कियारा आडवाणी शादी के बंधन में बंधने वाली हैं.

ये भी पढ़ें- ननद की दूसरी शादी कराएगी Imlie, आर्यन को लगेगा झटका

मरजावां फिल्म रिव्यू: अविश्वसनीय कैरेक्टर और ज्यादा मैलोड्रामा

रेटिंगः डेढ़ स्टार

निर्माताः निखिल अडवाणी, मेानिशा अडवाणी, मधु भोजवाणी, भूषण कुमार, किशन कुमार, दिव्या खोसला कुमार

लेखक व निर्देशकः मिलाप मिलन झवेरी

कलाकारः सिद्धार्थ मल्होत्रा,रितेश देशमुख, रकुल प्रीत सिंह, तारा सुतारिया, रवि किशन, शाद रंधावा.

अवधिः दो घंटे 16 मिनट

अस्सी व नब्बे के लार्जर देन लाइफ वाले सिनेमा के शौकीन रहे लेखक व निर्देशक मिलाप मिलन झवेरी ‘सत्यमेव जयते’के सफल होने के बाद लार्जर देन लाइफ कथानक वाली फिल्म ‘‘मरजावां’’ लेकर आए हैं, मगर वह एक दमदार मसाला फिल्म बनाने में बुरी तरह से असफल रहे हैं.

कहानीः

मुंबई में पानी के टैंकर माफिया अन्ना(नासर)ने गटर के पास पड़े एक लावारिस बच्चे रघु को अपनी छत्र छाया में पाल पोस कर उसे बड़ा किया.अब वही लड़का रघु (सिद्धार्थ मल्होत्रा)अन्ना के अपराध माफिया के तमाम काले कारनामों और खून-खराबे में अन्ना का दाहिना हाथ बना हुआ है.अन्ना के कहने पर रघु दशहरा के दिन एक दूसरे टैंकर माफिया गायतोंडे के बेटे को मार देता है.रघु,अन्ना के हर हुक्म की तामील हर कीमत पर करता है. इसी के चलते अन्ना उसे अपने बेटे से बढ़कर मानते हैं.मगर इस बात से अन्ना का अपना बेटा विष्णु (रितेश देशमुख) को रघु से नफरत है. शारीरिक तौर पर बौना होने के कारण विष्णु को लगता है कि अन्ना का असली वारिस होने के बावजूद सम्मान रघु को दिया जाता है.पूरी बस्ती रघु को चाहती है. बार डांसर आरजू (रकुल प्रीत) भी रघु की दीवानी है.रघु के खास तीन दोस्त हैं.पर जब नाटकीय तरीके से कश्मीर से आई गूंगी लड़की जोया(तारा सुतारिया) से रघु की मुलाकात होती है, तो उसमें बदलाव आने लगता है. जोया, रघु को एक वाद्ययंत्र देती है. फिर संगीत प्रेमी जोया, पुलिस अफसर रवि यादव (रवि किशन) के कहने पर रघु को अच्छाई के रास्ते पर बढ़ने के लिए प्रेरित करने लगती है.मगर विष्णु अपनी चाल चलता है,जिसमें फंसकर रघु को अपने प्यार जोया को अपने हाथों गोली मारनी पड़ती है और रघु जेल पहुंच जाता है. जोया के जाने के बाद जेल में रघु जिंदा लाश बनकर रह जाता है.जबकि  बस्ती पर विष्णु का जुल्म बढ़ता जाता है. अहम में चूर विष्णु, रघु को अपने हाथों मारने के लिए चाल चलता है और अदालत रघु को बाइज्जत बरी कर देती है. फिर कहानी में मोडत्र आता है. अंततःएक बारा फिर रावण दहन होता है.

ये भी पढ़ें- मोतीचूर चकनाचूर फिल्म रिव्यू: लीड एक्टर्स की जानदार एक्टिंग

लेखन व निर्देशनः

फिल्म ‘‘मरजावां’’ के प्रदर्शन से पहले मिलाप झवेरी ने खुद बताया था कि कहानी व पटकथा उन्होने ही लिखी थी,पर पहले इस फिल्म को कोई दूसरा निर्देशक निर्देशित करने वाला था,मगर पटकथा पढ़ने के बाद उस निर्देशक ने इस फिल्म से खुद को अलग कर लिया था,तब मिलाप झवेरी ने खुद ही इसके निर्देशन की जिम्मेदारी स्वीकार की. फिल्म देखने के समझ में आया कि पहले वाले निर्देशक ने इसे क्यों नहीं निर्देशित किया.कुछ दृश्यों को जोड़कर बेसिर पैर की कहानी का निर्देशन करने से अच्छा है,घर पर खाली बैठे रहे.प्यार-मोहब्बत, बदला, भावनाएं,मारधाड़,कुर्बानी आदि पर सैकड़ों फिल्में बन चुकी हैं.

सफल फिल्म ‘‘बाहुबली’’ के मार्केटिंग वाले संवाद‘बाहुबली को कटप्पा ने क्यो मारा’ की तर्ज पर  अपनी फिल्म ‘मरजावां’ में इंटरवल से पहले ही हीरो के हाथ हीरोईन को मरवा कर फिल्म को सफल बनाने का उनका प्रयास विफल नजर आ रहा है. अतिकमजोर पटकथा, उथले व अविश्वसनीय किरदारों के चलते फिल्म संभल नही पायी.पानी के माफिया टैंकर को तो अब मुंबई वासी भी भूल चुके हैं. मिलाप को यह भी नहीं पता कि पानी टैंकर माफिया के पास उस तरह की सशस्त्र सेना नही होती है, जैसी की विष्णु के पास है.फिल्म में रकुल प्रीत के किरदार आरजू को कोठेवाली बताया जा रहा है, पर वह बार डांस में नाचती नजर आती है. फिल्मकार को बार डांस व कोठे का अंतर ही नहीं पता? एक्शन के तमाम दृश्य अविश्वसनीय लगते हैं. व्हील चेअर पर बैठे शाद रंधावा एक भारी भरकम व छह फुट कद के इंसान को रामलीला मैदान से उठाकर ऐसा फेंकते हैं कि वह सीधे मस्जिद में जाकर गिरता है. फिल्म में इमोशन या रोमांस तो ठीक से उभरता ही नहीं.

ये भी पढ़ें- रिसेप्शन के बाद धूमधाम से हुई मोहेना कुमारी की विदाई, पति के साथ पहुंचीं ससुराल

अभिनयः

सिद्धार्थ मल्होत्रा बुरी तरह से निराश करते हैं. रितेश देशमुख ने जरुर अच्छा अभिनय किया है. तारा सुतारिया छोटे किरदार में भी अपना प्रभाव छोड़ने में सफल रही हैं. रकुल प्रीत सिंह के हिस्से सुंदर दिखने के अलावा कुछ खास करने को रहा ही नही. रवि किशन की प्रतिभा को जाया किया गया.

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें