ब्यूटी में हाइजीन न करें इग्नोर

ब्यूटी के साथ हाइजीन का खयाल रखना भी बहुत जरूरी है. बाजार में कई तरह के प्रोडक्ट्स उपलब्ध हैं, जो त्वचा सुंदर बनाने का भरोसा दिलाते हैं. लेकिन असल में खूबसूरत स्किन के लिए सब से जरूरी है अपने लाइफस्टाइल और हाइजीन में बदलाव. यदि अपनी दिनचर्या में हाइजीन का खयाल रखेंगे तो सुंदरता भी बनी रहेगी.

त्वचा को साफ, स्वच्छ और मुलायम बनाने के लिए बस आवश्यकता है अच्छे स्किन केयर रूटीन की. त्वचा को साफ और मुलायम रखने के लिए रोज इस पर काम करना होगा. कोई बहाना नहीं चलेगा.

कई महिलाएं त्वचा को स्वस्थ रखने वाले स्किन केयर रूटीन के मामले में बहुत आलसी होती हैं. इस के चलते उन की त्वचा को नुकसान पहुंचाता है. एक स्ट्रिक्ट रूटीन के बिना सभी प्रयास बेकार हो सकते हैं.

ये टिप्स आप की त्वचा को स्वस्थ, कोमल और आकर्षक बनाएंगे:

दिन की शुरुआत ड्राई ब्रशिंग के साथ

दिन की शुरुआत में ड्राई ब्रशिंग का प्रयोग करना चाहिए. ड्राई ब्रशिंग मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए उपयोग की जाने वाली प्राचीन तकनीक है और इस से शरीर में रक्त संचार सुचारु होता है. रोज ड्राई ब्रशिंग करने से त्वचा चमकने लगती है.

– ऐसा ड्राई ब्रश को चुनें, जो नैचुरल फाइबर से बना हो न कि प्लास्टिक से. नैचुरल फाइबर से बने ब्रश से त्वचा खुरदरी नहीं होती है.

ये भी पढ़ें- Beauty Blog: मेरा सफ़र बालो के संग

– बाहर से अंदर की तरफ अपने पैरों से शुरू कर ऊपर की तरफ बढ़ते हुए थोड़ोथोड़ा कर आराम से ब्रश को शरीर पर चलाएं. पैर, बौडी और हाथों पर ब्रश चलाएं. चेहरे के लिए छोटे और मुलायम ब्रश का इस्तेमाल करें.

– ड्राई ब्रशिंग शुरू करते समय हमेशा ब्रश और त्वचा सूखी होनी चाहिए. गीली त्वचा पर ब्रश करने से उतना असर नहीं होगा.

चेहरे को मौइस्चराइज करें

चेहरा धोने के बाद ब्रेकआउट और जलन को रोकने के लिए मौइस्चराइजर लगाना न भूलें. चेहरा धोने के बाद रूखा और बेजान हो जाता है और जलन भी होती है खासकर सर्दियों के मौसम में यह समस्या ज्यादा होती है. मार्केट में अलगअलग प्रकार के मौइस्चराइजर उपलब्ध हैं. आप उन का अपनी त्वचा के अनुसार प्रयोग कर सकती हैं.

चेहरे पर नीबू रस या टूथपेस्ट का प्रयोग न करें

हम सभी ने अकसर पिंपल्स और धब्बों के लिए कई अलगअलग प्रकार के घरेलू नुसखों के बारे में सुना है. यदि उन में से किसी भी उपचार में नीबू का रस या टूथपेस्ट अपने चेहरे पर लगाना शामिल है, तो ऐसा बिलकुल न करें, क्योंकि नीबू का रस बेहद ऐसिडिक होता है और रैडनैस और जलन पैदा कर सकता है.

टूथपेस्ट में सफेद करने वाले तत्त्व होते हैं, जो नीबू के रस की तरह त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं. इस के स्थान पर मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए ऐंटीस्पौट ट्रीटमैंट या ऐसैंशियल औयल का विकल्प चुन सकती हैं.

मेकअप ब्रश को हर हफ्ते धोएं

अधिकांश महिलाएं ऐसा नहीं करती हैं, लेकिन जब सुंदरता और स्वच्छता की बात आती है तो यह गलत कदम हो सकता है. न केवल आप के मेकअप ब्रश के बिल्डअप आप की त्वचा को नुकसान पहुंचाते हैं, बल्कि ब्रश पर बचा मेकअप भी आप की त्वचा पर आगे होने वाले मेकअप को खराब कर सकता है.

यूज्ड मेकअप ब्रश को धोने के लिए बेबी वाश या बेबी शैंपू और गरम पानी का प्रयोग करें. इस से आप की त्वचा स्वच्छ बनी रहेगी.

ऐक्सफोलिएटिंग क्लींजर का प्रयोग करें

ऐक्सफोलिएटिंग क्लींजर का प्रयोग करें. आप इसे आसानी से किसी भी किराने या दवा की दुकान से खरीद सकती हैं. ऐसे क्लींजर में होने वाले छोटेछोटे ग्रैन्यूल्स आप की त्वचा की सफाई करते हैं. सभी प्रकार की स्किन के लिए ऐक्सफौलिएटिंग क्लींजर उत्तम होते हैं.

सनस्क्रीन लगाएं

सनस्क्रीन केवल बीच पर छुट्टियां मनाने के लिए ही अच्छा नहीं है, बल्कि इस का हर दिन प्रयोग किया जाना चाहिए. भले आप घर के अंदर ही क्यों न हों. सनस्क्रीन त्वचा को सूर्य की किरणों से बचाने और झर्रियों की शुरुआत से लड़ने में मदद कर सकता है. अधिकांश मेकअप उत्पाद एसपीएफ के साथ आते हैं.

आप मौइस्चराजर खरीदते हुए यह जरूर ध्यान रखें कि बाहर पैक पर एसपीएफ फैक्टर लिखा हो जिस से न केवल आप अपने फेस को कवर कर सकती हैं, बल्कि इस के साथ अपने पूरे शरीर को भी धूल से बचा सकती हैं.

ये भी पढ़ें- ऑयल्स फॉर स्ट्रेच मार्क्स

मेकअप ब्रश या टूथब्रश टौयलेट में न ले जाएं

आप जो नहीं जानती हैं वह यह है कि जब आप शौचालय को फ्लश करती हैं तो शौचालय से पानी के पार्टिकल्स 16 फुट ऊपर तक पहुंच सकते हैं. इस का मतलब यह है कि सिंक या शौचालय द्वारा आप के सभी ब्रशों में ये पार्टिकल्स घर कर सकते हैं. इस से ब्रश कीटाणुओं के रहने के लिए एकदम सही जगह भी बन जाएगा और आप की हैल्थ को नुकसान होने का सहज जरीया भी बनेगा. इस अस्वाभाविक जोखिम से बचने के लिए अपने ब्रश को बंद कैबिनेट में या जहां तक संभव हो शौचालय से दूर रखें. सब से बेहतर यह है कि टूथब्रश कैप का प्रयोग करें.

खूब पानी पीएं

पानी का प्रयोग अधिक करना चाहिए. पानी त्वचा को हाइड्रेटेड रखते हैं. अपनी त्वचा को हाइड्रेटेड रखना ही आप की त्वचा की बनावट में सुधार करेगा और इसे अच्छे स्वास्थ्य के लिए मौइस्चराइज रखेगा. इस के अतिरिक्त मीठे पेय पीने से बचें. ये न केवल स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं, बल्कि त्वचा पर मुंहासे और सूजन भी पैदा कर सकते हैं.

टैनिंग से बचें

आप की त्वचा को सूर्य के ओवरऐक्सपोजर से बहुत नुकसान हो सकता है. सनबर्न से बचने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा प्राकृतिक सनस्क्रीन का उपयोग करने का प्रयास करें जो त्वचा की प्राकृतिक चमक को बढ़ाते हैं और ज्यादा टैनिंग से भी बचाते हैं.

पिंपल्स को पौप न करें

यदि आप के चेहरे पर पिंपल्स आ रहे हैं तो उन्हें पौप करने से बचें. चेहरे पर आ रहे पिंपल्स को पौप करने या उन्हें बारबार छूने से चेहरे पर निशान पड़ जाएंगे और जलन व लामिला पैदा होगी जो लंबे समय तक बनी रह सकती है. इसलिए यह ध्यान रखें कि अगली बार जब आप चेहरे पर पिंपल्स महसूस करें तो एक फेसमास्क का प्रयोग करें या फिर एक ऐंटीस्पौट ट्रीटमैंट का प्रयोग करें.

-पचौली वैलनैस क्लीनिक की कौस्मैटोलौजिस्ट प्रीति सेठ से बातचीत पर आधारित

ये भी पढ़ें- मेकअप करने से पहले जान लें ये 10 Rules

अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें