दुनियाभर में लोगों के हो रहे मौत के कारणों में कैंसर प्रमुख कारणों में से एक है. ये 100 से भी अधिक तरह की होती है. दुनियाभर की एक बड़ी आबादी कैंसर के चपेट में है. इसके होने वाले तमाम कारणों में खानपान प्रमुख है. आप जो भी खाते पीते हैं इसका सीधा असर आपकी सेहत पर होता है.

इस खबर में हम आपको कुछ खास चीजों के बारे में बताने वाले हैं जिनके सेवन से आप कैंसर के खतरे को कम कर सकेंगी.

अखरोट

अखरोट में कई तरह के स्वास्थवर्धक तत्व पाए जाते हैं. कुछ स्टडीज के मुताबिक अखरोट खाने से ब्रेस्ट कैंसर नहीं होता है. इसके अलाव प्रोस्टेट कैंसर में भी ये काफी असरदार होता है. इसके साथ ही डीएनए की सुरक्षा में भी ये काफी असरदार होता है.

क्रैनबेरिज

क्रैनबेरिज फाइबर, विटामिन-सी और एंटीऔक्सिडेंट का प्रमुख स्रोत होता है. इससे शरीर में पैदा होने वाले कैंसर के तत्व समाप्त हो जाते हैं.

सेब

सेब कई तरह की बीमारियों में बेहद लाभकारी होता है. इसके एंटीऔक्सिडेंट और  एंटी इंफ्लामेट्री गुण कैंसर के खतरे को काफी कम कर देते हैं. खासकर के कोलोरक्टल कैंसर में ये काफी प्रभावी है. अधिकतर लोग सेब के छिलके को छील कर खाते हैं, पर इससे आपका काफी नुकसान हो जाता है. अगर आप अपनी ये आदत बदल लें तो आपकी सेत के लिए ये काफी फायदेमंद हो जाता है. इसके छिलके में बहुत से गुणकारी तत्व होते हैं. कोलोरेक्टल कैंसर के अलावा सेब फेफड़ों, ब्रेस्ट और पेट के कैंसर से भी बचाव करता है.

ब्लू बैरीज

ब्लू बेरीज में कई तरह के गुणकारी तत्व पाए जाते हैं. इसमें फाइटोकेमिकल, एलेजिक एसिड, युरोलिथिन जैसे कई खास गुण पाए जाते हैं. ये हमारे डीएनए को हमारे शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स से सुरक्षा प्रदान करते हैं, जिससे कैंसर का खतरा काफी कम  हो जाता है. आपको बात दें कि ब्लू बैरीज के सेवन से मुंह, ब्रेस्ट, कोलोन और प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम होता है.

ग्रीन टी

पुराने समय में कई तरह के रोगों का इवलाज करने के लिए चाय का सहारा लिया जाता था. आपको बता दें कि ग्रीन टी और ब्लौक टी में कई तरह के फायदेमंद तत्व पाए जाते हैं. स्टडी के मुताबिक, ग्रीन टी के सेवन से शरीर में कोलोन, लिवर, ब्रेस्ट और प्रोस्टेट कैंसर की कोशिकाएं बन नहीं पाती हैं. वहीं कई दूसरी स्टडी में बताया गया है कि ग्रीन टी फेफड़ों, स्किन और पेट के कैंसर से भी सुरक्षित रखता है.

Tags:
COMMENT