बालों की स्टाइलिंग महिलाओं की खूबसूरती का अहम हिस्सा है. मगर इसे करते समय बालों में बहुत से हीट जैनरेटिंग टूल्स का इस्तेमाल होता है जो हमारे बालों को नुकसान पहुंचाने के साथसाथ उन की जड़ों को भी नुकसान पहुंचाते हैं. मौडर्न टूल्स हमारे बालों की नमी खत्म कर उन को मुरझाने, सूखने और टूटने पर भी मजबूर कर देते हैं.

ऐसे में कुछ उपचार आप के बालों को स्टाइलिंग से पहले मजबूत व स्वस्थ बनाए रखने में सहायक होंगे:

अंडे का प्रयोग: अपने बालों की स्थिति में सुधार लाने के लिए अंडे का प्रयोग करें. इस से आप के बाल मुलायम बनेंगे और हीटिंग टूल्स का बालों पर असर कम होगा. यदि आप के बाल रूखे और डल हैं, तो अपने बालों को मौइश्चराइज करने के लिए अंडे के सफेद हिस्से का उपयोग करें.

इस के लिए अंडे को अच्छी तरह से फैंट कर दही या दूध के साथ मिला कर अपने बालों  पर लगाएं.

इस मिश्रण को 20 मिनट तक बालों में लगा छोड़ दें और फिर ठंडे पानी से धो लें.

बादाम के तेल से मजबूत होंगे बाल: शुष्क और झड़ते बालों के इलाज के लिए बादाम के तेल का प्रयोग करें.

थोड़ा सा बादाम का तेल गरम कर 20 मिनट तक बालों में लगा छोड़ दें और फिर शैंपू और कंडीशनर से धो लें. बादाम का तेल बालों की जड़ों को पोषण देता है और स्कैल्प में रक्तप्रवाह भी नियंत्रित करता है.

यूवीए/यूवीबी किरणों से बालों को बचाएं: हानिकारक यूवीए/यूवीबी किरणों से बालों को बचाने के लिए शहद, जैतून का तेल और अंडे का मिश्रण बना कर अपने बालों पर

20 मिनट तक लगा कर अच्छी तरह धो लें. यह प्रक्रिया महीने में 2-3 बार जरूर दोहराएं. आप के बालों को प्रोटीन के रूप में भरपूर पोषण मिलेगा.

सफाई के महत्त्व को समझें: जिस प्रकार हमारे शरीर की सफाई जरूरी होती है उसी प्रकार हमारे बालों की भी सफाई बहुत जरूरी है. बालों के गिरने का सब से प्रमुख कारण डैंड्रफ है जोकि गंदगी से स्कैल्प पर जमा होने लगता है.

गरम पानी को करें बायबाय: गरम पानी हमारे बालों के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं होता, क्योंकि यह बालों को रूखासूखा बना देता है और बालों के नैचुरल औयल को भी नुकसान पहुंचाता है.

बालों को टाइट न बांधें: बालों को टाइट बांधने से वे भंगुर हो कर टूटने लगते हैं. वे अपनी जड़ों से खिंचने लगते हैं, जिस से बालों की जड़ें कमजोर होने लगती हैं.

उचित ब्रशिंग तकनीक अपनाएं: अपने बालों को ब्रश करने का सब से अच्छा तरीका सब से पहले उन के सिरों को ब्रश करने का होता है और फिर बालों की जड़ों से शुरू कर सिरे तक ब्रश को ले कर जाना चाहिए. यह तकनीक बालों के प्राकृतिक तेल को फैलने में मदद करती है और बालों को टूटने से भी बचाती है.

दिन में 2 बार बालों को ब्रश करने से बाल भी स्वस्थ रहते हैं और स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन भी अच्छा रहता है.

बालों को नियमित रूप से ट्रिम करें: शुष्क और विभाजित सिरों से मुक्ति पाने के लिए 3 से 4 महीनों में 1 बार अपने बालों को जरूर ट्रिम करवाएं. इस से दोमुंहे बाल खत्म होते हैं और साथ ही वे तेजी से बढ़ते भी हैं. नियमित ट्रिमिंग हमारे बालों के लिए बहुत अच्छी होती है और बालों को बाउंसी भी बनाती है.

बालों को मौइश्चराइज करें: मौइश्चराइजिंग से बाल मुलायम होते हैं. इस के लिए अपने गीले बालों में औयल से 20 मिनट तक मालिश करें. फिर पानी से धो लें. सैलून जैसे चिकने बालों के लिए सप्ताह में एक बार यह प्रक्रिया जरूर करें.

बालों को ब्लो ड्राई न करें: हेयर ड्रायर या रोलर का उपयोग करने के बजाय अपने बालों को प्राकृतिक रूप से सूखने दें. बालों को सुखाने के इस कृत्रिम तरीके का उपयोग करने से आप के बाल भंगुर और रूखे हो जाते हैं. यदि आप के पास अपने बालों को सुखाने के लिए समय नहीं है, तो थोड़ी देर के लिए धूप में खड़ी हो जाएं या फिर ड्रायर का उपयोग करें जोकि ज्यादा गरम न हो.

-डा. अरविंद पोसवाल

फाउंडर, डाक्टर एस क्लीनिक

Tags:
COMMENT