क्या आप को भी बारबार मुंहासे होते हैं? लाख जतन करने पर भी आप का इन से पीछा नहीं छूट रहा है? औयली फूड खाना भी बंद कर दिया, फेस वाश से ले कर ऐंटीएक्ने पैक भी ट्राय कर लिया पर यह परेशानी जस की तस है? तो यकीन मानिए अनजाने में ही सही पर कुछ तो आप ऐसा कर रही हैं जो आप को नहीं करना चाहिए. जैसे:

1. चेहरे से खेलें नहीं

कई महिलाओं की चेहरे को बारबार छूने की आदत होती है. बिना मतलब चेहरे पर हाथ फेरती रहती हैं. अगर आप भी ऐसा करती हैं तो चेहरे पर दाने निकलना स्वाभाविक है. जैसे अगर हम कंप्यूटर या लैपटौप पर काम करती हैं तो हमारी उंगलियां कीबोर्ड पर चलती रहती हैं, जिस से बहुत से बैक्टीरिया हमारे हाथों के संपर्क में आते हैं और जब हम उन्हीं हाथों को चेहरे पर लगाते हैं तो पिंपल्स होने लगते हैं.

कई बार ऐसा भी होता है कि जब कोई मुंहासा निकलता है तो हम उसे दबा देते हैं. हमें लगता है कि ऐसा करने से वह जल्दी ठीक हो जाएगा. लेकिन होता उलटा है. जब हम मुंहासे को छेड़ते हैं तो उस के बैक्टीरिया फैल जाते हैं, जिस से समस्या और बढ़ जाती है. एक तो वहां नए मुंहासे निकलने लगते हैं दूसरा वहां दाग और गड्ढे भी हो जाते हैं, जो देखने में बहुत गंदे लगते हैं. ऐसे में अगर आप चाहती हैं कि मुंहासे जल्दी खत्म हो जाएं तो चेहरे पर बारबार हाथ लगाना छोड़ दें.

ये भी पढ़ें- Valentine’s Special: प्यार के इन खास दिनों में दिखें खिली-खिली

2. तनाव से बचें

आप को सुनने में भले ही अजीब लगे, लेकिन तनाव भी पिंपल्स होने का एक कारण हो सकता है. अगर आप भी हमेशा काम में व्यस्त रहती हैं और खुद को समय नहीं दे पाती हैं तो ऐसा आप के साथ भी हो सकता है. जी हां, तनाव हमारे अंदर कोर्टिसोल जैसे हारमोन पैदा करता है, जिस से तेलग्रंथियां उत्तेजित हो जाती हैं और फिर रोमछिद्र बंद हो जाते हैं. रोमछिद्र बंद होने के बाद चेहरे पर दाने निकलने लगते हैं. अगर आप चाहती हैं कि आप के चेहरे से मुंहासों का नामोनिशान मिट जाए तो काम से ब्रेक ले कर थोड़ा रिलैक्स करें.

3. नो स्मोकिंग

जब हम धूम्रपान करते हैं तो हमारी त्वचा तक औक्सीजन सही तरह नहीं पहुंच पाती, जिस से चेहरे पर  झुर्रियां भी पड़नी शुरू हो जाती हैं. धुएं में कार्सिनोनन होता है, जो चेहरे के लिए हानिकारक होता है. अत: धूम्रपान छोड़ दें.

4. खानपान

मसालेदार और औयली खाना खाने में तो स्वादिष्ठ लगता है, लेकिन इस के साइड इफैक्ट्स से कई बीमारियां शरीर में घर कर जाती हैं. इन में से एक है मुंहासे. मसालेदार खाना मुंहासों का एक कारण है, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि सिर्फ मसालेदार खाना ही पिंपल्स की वजह है. कई लोगों को डेयरी प्रोडक्ट्स सूट नहीं करते और इस वजह से भी पिंपल्स हो जाते हैं. इसलिए खाने में उन्हीं चीजों का सेवन करें जो आप को सूट करती हों. स्वाद के चक्कर में सेहत पर लापरवाही भारी पड़ सकती है.

5. साफसफाई पर ध्यान न देना

आप घंटों जिम में पसीना बहाती हैं ताकि फिट रहें. वर्कआउट करने से चेहरे पर भी निखार आता है, लेकन छोटी सी लापरवाही कहें या आलसीपन के कारण त्वचा पर पिंपल्स होने लगते हैं. कई महिलाएं वर्कआउट करने के बाद नहाती नहीं हैं, जिस से रोमछिद्रों में गंदगी, बैक्टीरिया, तेल और पसीना समा जाता है जो पिंपल्स होने की वजह बनता है. इसलिए वर्कआउट करने के कुछ समय बाद नहाना न भूलें.

ये भी पढ़ें- Valentine’s Special: फेस पर लाएं चौकलेटी निखार

6. कोई भी ब्यूटी प्रोडक्ट लगाना

अपनी त्वचा का ध्यान रखना बहुत अच्छी बात है, लेकिन बिना सोचे कोई भी प्रोडक्ट खरीद कर सीधे अप्लाई करना भी सम झदारी नहीं है. यह आप का चेहरा है कोई ऐक्सपैरीमैंट करने वाली जगह नहीं जो कुछ भी लगा लिया.  झेलना भी तो आप को ही पड़ता है. इसलिए ब्यूटी प्रोडक्ट खरीदने से पहले उस पर लगा लैवल जरूर पढ़ें कि किसी ऐसे इनग्रीडिऐंट का इस्तेमाल तो नहीं किया गया जो रोमछिद्रों को बंद कर दे, साथ ही किसी स्किन ऐक्सपर्ट की राय भी जरूर लें कि क्या लगाना चाहिए और क्या नहीं.

7. ज्यादा स्क्रबिंग

औयली स्किन पिंपल्स होने का कारण है, लेकिन ड्राई स्किन वालों को भी मुंहासे होते हैं. दरअसल, जब हम ज्यादा स्क्रब करते हैं तो हमारी स्किन ड्राई हो जाती है, जो पिंपल्स को दावत देती है. इसलिए महीने में 1 या 2 बार ही हल्के हाथों से स्क्रब करें. साथ ही चेहरा धोने के लिए माइल्ड फेस वाश का प्रयोग करें.

Tags:
COMMENT