दिल्ली में भले ही अब तक कोरोना वायरस के संक्रमण से लोग बचे हुए हैं, लेकिन एच1एन1 (स्वाइन फ्लू) वायरस यहां पर ऐक्टिव हो गया है. एक  रिपोर्ट के अनुसार अब तक दिल्ली में स्वाइन फ्लू के 43 केस आ चुके हैं, लेकिन अब तक किसी की मौत की पुष्टि नहीं हुई है. यही अगर बात करें पिछले साल की तो दिल्ली में स्वाइन फ्लू से 3627 लोग संक्रमित हुए थे और 31 लोगों की जान चली गई थी. डॉक्टर्स का कहना है कि अगर समय रहते स्वाइन फ्लू की पहचान कर ली जाए और ट्रीटमेंट शुरू कर दिया जाए तो उसकी गंभीर स्थिति से निपटा जा सकता है.

कैसे फैलता है स्वाइन फ्लू?

स्वाइन फ्लू बुखार, जिसे एच1एन1 के नाम के भी जाना जाता है, खास तौर से सूअरों के श्वसन तंत्र से निकले वायरस के कारण होता है जिसकी चपेट में आने पर कोई भी इस एंफ्लुएंजा का शिकार हो सकता है. वर्ल्ड ऑर्गेनाइजेशन फौर एनिमल हेल्थ ने अपनी एक रिपोर्ट के जरिए दावा किया है कि यह वायरस अब केवल सूअरों तक ही सीमित नहीं है बल्कि  इस वायरस ने अपने आप को अपग्रेड कर लिया है और अब यह इंसानों में भी बड़ी आसानी से फैल सकता है.

दरअसल स्वाइन फ्लू एक बहुत ही कॉमन बीमारी है. स्वाइन फ्लू एक फ्लू की तरह है फ्लू का मतलब होता है कि वायरल इनफेक्शन .यह एक प्रकार के वायरस से होता है. यह वायरस हवा में होता है और हवा के ज़रिये  ही हमारे शरीर  में प्रवेश करता है.

ये भी पढ़ें- मेनोपॉज के दौरान बढ़ते वजन से जंग: जानें पीरियड में कैसे घटाएं वजन

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT