चालू वित्तीय वर्ष 2019, 31 मार्च को खत्म होने वाला है. ऐसे में विभिन्न स्रोतों से हुई आय की जानकारी जुटा लें. इसके लिए जरूरी है कि आप कुछ जरूरी कागजातों को इक्कठ्ठा कर लें. ये डाक्यूमेंट्स आपके आय की वैद्यता के लिए जरूरी हैं. इनमें इंटरेस्ट सर्टिफिकेट, ट्रांजेक्शन सर्टिफिकेट, कैपिटल गेन स्टेटमेंट, टीडीएस सर्टिफिकेट जैसे अन्य कागजात शामिल हैं. इन डाक्यूमेंट्स में कैपिटल गेन और इंटरेस्ट या डिविडेंट भी शामिल हैं. ये इस लिए भी जरूरी है ताकि रिटर्न फाइलिंग करते वक्त पकी कर देयता का निर्धारण आसानी से हो सके.

तो आइए जाने कि कौन कौन से दस्तावेजों को जुटाना आपके लिए जरूरी है.

सिक्योरिटी स्टेटमेंट

म्यूचुअल फंड निवेशक अपने निवेश के लिए एक कंसौलिडेटेड होल्डिंग स्टेटमेंट प्राप्त करते हैं. शेयर्स की सिक्योरिटी और अन्य डिमेट सिक्योरिटीज के लिए भी निवेशक एनुअल होल्डिंग स्टेटमेंट प्राप्त करते हैं.

टीडीएस सर्टिफिकेट

ब्याज के 10,000 रुपये से अधिक होने की सूरत में बैंक ब्याज आय पर टीडीएस की कटौती करता है. टीडीएस कटौती को बैंक की ओर से प्राप्त किया जा सकता है.

कैपिटल स्टेटमेंट

ब्रोकर और म्युचुअल फंड, यूजर के आग्रह पर कैपिटल गेन स्टेटमेंट उपलब्ध करवाते हैं. इससे पूरे वित्तीय पर्ष में कुल फायदा या नुकसान की जानकारी मिलती है.

होम लोन इंटरेस्ट

होम लोन लेने पर बैंक एक सर्टिफिकेट उपलब्ध करवाता है. इस सर्टिफिकेट में एक वित्तीय वर्ष के दौरान हुए कुल रीपेमेंट की जानकारी होती है. इसमें प्रिंसिपल औप मिले ब्याज का ब्रेकअप होता है. इनकम टैक्स डिडक्सन को क्लेम करने के लिए इसका इस्तेमाल होता है.

बैंक स्टेटमेंट

निवेशक वित्तीय वर्ष के आखिर में अपना बैंक स्टेटमेंट जुटा लें जिसमें उनकी प्राप्त हुई आय और निवेश की पूरी जानकारी शामिल हो. बैंक जा कर लेने के अलावा इसे औनलाइन माध्यम से भी पाया जा सकता है.

इंटरेस्ट सर्टिफिकेट

निवेशक की सभी जमाओं पर एक वित्त वर्ष के दौरान ब्याज भुगतान के संबंध में बैंक एक सर्टिफिकेट औफ इंटरेस्ट भी उपलब्ध करवाता है. बचत खातों के लिए बैंक ये सर्टिफिकेट देता है. अगर किसी कारण से ये नहीं मिल पाता है तो इसे बैंक स्टेटमेंट से प्राप्त किया जा सकता है.

ट्रांजेक्शन स्टेटमेंट

अगर किसी सूरतच में निवेशक सिक्योरिटी की बिक्री करता है या उसकी ट्रेडिंग करता है तो ऐसे में ट्रांजेक्शन स्टेटमेंट और अकाउंट स्टेटमेंट को प्राप्त करना जरूरी है. ये एक वित्तीय वर्ष के लिए होता है.

Tags:
COMMENT