कई कारणों से लोगों के कई बैंकों में खाते खुल जाते हैं. कई लोग बिजनस पर्पज या सैलरी अकाउंट की प्राइवेसी बनाए रखने के लिए कई खाते खोल लेते हैं. एक ओर कई बैंकों में खाते के कुछ फायदे हैं वहीं इसके बहुत से नुकसान भी होते हैं. इस खबर में हम आपको बताएंगे कि कई बैंकों में खाते खोलने के कौन से मुकसान होते हैं.

यूजर नेम और पासवर्ड याद रखना होगा

आपके जितने बैंक खाते होंगे उतने ही क्रेडेंशियल्स होंगे. ऐसे में सबके पिन, युजरनेम, पासवर्ड को याद रखना एक मुश्किल काम है. अगर आप एक भी पासवर्ड भूलते हैं तो आपको काफी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है. कई बार गलत पासपृवर्ड डालने से आपका खाता भी बंद हो सकता है.

आयकर की रडार पर  आसकती हैं आप

अगर आप इनकम टैक्स भरती हैं तो आपको सारे खातों की जानकारी आयकर विभाग को देनी होगी. किसी भी खाते की जानकारी ना देने की सूरत में आयकर विभाग से आपको नोटिस भी मिल सकता है.

सबमें रखना होगा मिनिमम बैलेंस

आपके जितने भी बैंक खाते होंगे सबमें मिनिमम बैलेंस रखना आपकी मजबूरी होगी. आपके पैसे बिखरे रहेंगे. आपको बता दें कि हालिया सरकारी निर्देश के बाद सभी बैंक खातों में एक निश्चित न्यूनतम राशि रखना जरूरी है. ऐसा ना करने की सूरत में आपको जूर्माना भरना पड़ सकता है.

डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड का शुल्क

ज्यादा बैंक खाता यानि उतने ही डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स. इन सारे कार्ड्स से बैंक चार्जेस वसूलते हैं. बिना किसी कारण आपको ज्यादा चार्जेस देने पड़ेंगे.

ट्रांजेक्शन अलर्ट के चार्जेज

आपको बता दें कि बैंक के ग्राहकों को कई तरह के चार्जेज देने पड़ते हैं. इन चार्जेज में वार्षिक मेनटेंस, मंथली स्टेटमेंट चार्ज, एसएमएस अलर्ट चार्ज आदि शामिल हैं. आपके पास जितने भी खाते हैं उन सभी खातों पर बैंक आपसे ये चार्जेज वसूलते हैं.

Tags:
COMMENT