कुछ दिनों पहले एचडीएफसी बैंक ने अपने 4500 कर्मचारियों को एक साथ नौकरी से निकाल दिया था. एचडीएफसी बैंक के अलावा कई बड़ी कंपनियां जैसे एस्सार स्टील ने भी कंपनी के ऋण और नुकसानों को कम करने के लिए एक साथ हजारों एम्प्लॉयज को ‘पिंक स्लिप’ दे दिया था. इंसानों पर जिम्मेदारियों तो पहले से ही होता है और नौकरी चली जाने के बाद ये जिम्मेदारियां बोझ बन जाती हैं. नौकरी चले जाने के कई कारण होते हैं. कभी कभी तो ये एम्प्लॉयर की गलती होती है तो कभी खुद एम्प्लॉय की. वजह कोई भी हो नौकरी छूट जाने से किसी भी इंसान के जीवनशैली पर भी काफी बुरा असर पड़ता है.

आमतौर पर लोग भविष्य को लेकर ज्यादा गंभीर नहीं होते और आराम से अपनी लाइफ जीते हैं. पर जिन्दगी में और खासकर वित्तीय मामलों में थोड़ा सा गंभीर होना ही चाहिए. चाहे छोटी उम्र में ही नौकरी क्यों न मिल जाए आने वाले कल के लिए बचत करना चाहिए ताकि कल को नौकरी न रहने पर भी आराम से कुछ दिन जीवनयापन किया जा सके.

अगर आप नौकरी जाने के बाद भी फाइनेंशियल परेशानियों से दूर रहना चाहते हैं तो इसके लिए आपको भविष्य के लिए पहले से तैयार रहना होगा. इन आसान से तरीकों से आप नौकरी चले जाने पर भी कुछ दिन आराम से गुजारा कर सकते हैं.

1. बनायें इमरजेंसी फंड

एक समय सभी के घरों में इमरजेंसी फंड होता ही था. घर में आप अलग अलग जगह पैसे रखते थे ताकि मुसीबत के वक्त वो पैसे काम आ सके. अब देश में कैश की किल्लत है और पुराने नोट भी बंद कर दिए गए हैं. पर आप बिना कैश के भी एक इमरजेंसी फंड तैयार कर सकते हैं. आप इमरजेंसी फंड के लिए एक अलग बैंक अकाउंट खुलवाकर उसमें पैसे रख सकते हैं. इसके अलावा आप पोस्ट ऑफिस में भी अपना अकाउंट खुलवा सकते हैं.

2. तेते पांव पसारिए जेते लंबी सौर

आपके पास जितनी चादर है उतने ही पैर पसारने की आदत डालिए. अगर आप अपने आमदनी के आधार पर ही जीवन व्यतीत करने की आदत डालेंगे तो आप कभी कर्ज में नहीं डूबेंगे. कर्ज को काल बनते ज्यादा वक्त नहीं लगता. कम पैसे में जीवनयापन करने की आदत डालने के लिए आप एक आसान तरीके अपना सकते हैं. अगर आप और आपका साथी दोनों ही सैलेरीड हैं तो एक इंसान की सैलेरी पर ही जीवनयापन करने की कोशिश करें. अगर आपका कोई लोन चुकाना बाकि है तो ऐसा करने से वह लोन भी चुक जाएगा और आपको कम पैसे में रहने की भी आदत हो जाएगी.

3. आय के साधन हो अधिक

एक से अधिक आय के साधन होने के मतलब यह नहीं कि आप गैर कानूनी काम काज करें. और इसका मतलब यह भी नहीं आप खुद को तकलीफ देकर दूसरी नौकरी करें. भले ही आपके पास अच्छी सैलेरी वाली फुल टाइम जॉब हो, पर अगर इनकम के दूसरे साधन हो तो ये भी बुरा नहीं है. आप अपनी हॉबी को अपने आय का साधन बना सकते हैं. अगर आपको लिखना पसंद है, तो आप घर पर बैठकर ही लेख लिख सकते हैं.

4. लॉन्ग टर्म निवेश हैं बेहतर उपाय

निवेश के रास्ते उतार चढ़ाव से भरे होते हैं. पर बिना रिस्क के निवेश नहीं किया जा सकता. हमेशा लॉन्ग टर्म में ही निवेश करें. जिससे आज आपको नुकसान होने पर भी कल अच्छे रिटर्न मिलने के पूरे आसार होंगे. लॉन्ग टर्म निवेश से नौकरी चली जाने पर फायदा तो होगा ही, इससे आपका रिटायरमेंट भी सिक्योर हो जाएगा.

5. क्रेडिट स्कोर

मंदी के वक्त, बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियां अच्छे क्रेडिट हिस्ट्री वालों को ही प्रीफ्रेंस देती है. इसलिए आपको अपना क्रेडिट स्कोर हाई रखना होगा और अपने सारे बिल और कर्जे समय से चुकाने होंगे.

COMMENT