देशभर में डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा दिया जा रहा है, ऐसे में सरकार भी इसके इंफ्रास्ट्रक्चर पर लग के काम कर रही है. इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है यूपीआई. सरकार लोगों को डिजिटल पेमेंट के लिए लोगों को जागरुक भी कर रही है. जागरुकता फैलाने के लिए सरकार विज्ञापनों की फेहिस्त लाई है, इनके सहारे वो जनता को डिजिटल ट्रांजेक्शन के फायदों के बारे में बता रही है. इसके साथ ही कैश को छोड़ डिजिटल मनी की ओर रुख करने की जानकारी लोगों को दी जा रही है.

इसी क्रम में हम आपको बताने वाले हैं कि डिजिटल लेनदेन क्यों जरूरी है, क्यों लोगों को कैश से इतर डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देना चाहिए.

सुरक्षित होता है डिजिटल लेनदेन

कैश रखना सुरक्षित नहीं माना जात. आए दिनों पर्स का चोरी होना, चोरी, लूट मार जैसी चीजें आम हो गई हैं. ऐसे में ई-मनी एक सुरक्षित स्थान है. डिजिटल ट्रांजेक्शन करने के लिए आपके पास पैसा फिजिकल स्टेट में होने की जरूरत नहीं है. बैंक खाते से सीधे आपके मनमुताबिक जगह पर पैसा जा सकता है.  अगर आपका कार्ड गुम हो जाता है तो इसे तुरंत ब्लौक भी कराया जा सकता है. इसके अलावा अपने लेनदेन पर आप दावा भी कर सकती हैं. अगर किसी तरह की गड़बड़ी हुई है तो उस पैसे के लिए आप दावा भी ठोंक सकती हैं.

सुविधाजनक है डिजिटल ट्रांजेक्शन

डिजिटल लेनदेन बेहद सुविधाजनक है, इससे लेनदेन बेहद आसान हो जाता है. कैश का टेंशन दूर हो जाता है और लेनदेन का पूरा रिकार्ड सुरक्षित रहता है.

कई वित्तीय लाभ मिलते हैं

डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए बहुत से बैंक्स और पेमेंट कंपनियां अगल अगल और आकर्षक औफर्स के साथ बाजार में मौजूद हैं. इन औफर्स में से पेमेंट करने पर पेट्रोल खरीदने पर छूट, रेल टिकट पर छूट, बीमा खरीदने जैसे कई छूट शामिल हैं. ई-वालेट कंपनियां कैशबैक औफर, रिवार्ड पौइंट्स भी देती हैं.

Tags:
COMMENT