शादी और कम खर्च यह सुनना शायद सभी को अजीब लगे, पर अब शादी पर कम खर्च का चलन शुरू हो गया है, क्योंकि इस से समय और पैसा दोनों की ही बचत होती है. कुछ लोगों को यह सोच कंजूसी लग सकती है, क्योंकि वे सोचते हैं कि लकड़ी की मेजों पर सफेद चादरें बिछा कर, कैंडल लाइट कर और कम लोगों को आमंत्रित कर शादी के खर्च को कम किया जा सकता है. मगर ऐसा बिलकुल नहीं है.

कम खर्च की शादी के लिए यह जरूरी नहीं कि आप सब कुछ त्याग दें या न करें, बल्कि जो चीजें शादी में जरूरी नहीं होतीं या केवल दिखावे के लिए होती हैं उन्हें छोड़ प्रमुख चीजों पर ध्यान दें. इस प्रकार केवल थोड़ी सी समझदारी और सही प्लानिंग से ही आप शादी को अपने मनमुताबिक और यादगार बना सकते हैं.

इस बारे में वैडिंग प्लानर आशु गर्ग बताते हैं कि शादी सब के लिए यादगार बने इस की मैं हमेशा कोशिश करता हूं, क्योंकि शादी का खर्च व्यक्ति के बजट के आधार पर होना चाहिए ताकि किसी को भी बोझ न महसूस हो. यही मेरे लिए चुनौती होती है. ऐसे में इन बातों पर ध्यान देने की जरूरत होती है:

डिटेलिंग पर दें ध्यान

पीच कलर के साथ रैड और गोल्डन का चलन विवाह में सालों से है. वैडिंग में इन का खास महत्त्व होता है, लेकिन अब इन में हलके और प्राकृतिक रंगों के मिश्रण को भी अधिक महत्त्व दिया जा रहा है. इस में वैसी ही कलाकृतियों वाले फर्नीचर और पेड़पौधे इस की शोभा को बढ़ाते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT