प्रतिभा श्रीवास्तव अंश (भोपाल, मध्यप्रदेश)

आज उम्र के तीसरे पड़ाव पर हूं. दोस्ती क्या चीज है यह बात अब जाके समझी हूं. कहते है कि हर कामयाब पुरुष के पीछे एक स्त्री का हाथ होता है शायद सच है क्योंकि मेरी कामयाबी के पीछे भी मेरी दोस्त लक्ष्मी का हाथ है. जो अदृश्य रूप से मेरे साथ हर कदम पर खड़ी होती है. मेरी मित्र कर्ण की तरह है जो मेरे अवगुण पर मेरा साथ देती है. मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं लक्ष्मी....

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT