“निधि दयानन्द जी की इकलौती लड़की थी.वो खूबसूरत होने के साथ-साथ बहुत ही गुणवान भी थी . निधि अब 25  साल की हो चुकी थी और उसके माता- पिता को उसकी शादी की चिंता सताने लगी थी.एक दिन दयानन्द जी अपने दोस्त कमलाकांत के घर गए. वहाँ उनके दोस्त का लड़का छुट्टियों में घर आया हुआ था. उसका नाम ऋषभ था . ऋषभ एक सॉफ्टवेर इंजिनियर था.दयानन्द जी ने ऋषभ से बातचीत की उनको ऋषभ बहुत ही अच्छा लगा. उन्होने अपने दोस्त कमलाकांत-जी  से ऋषभ और निधि की शादी की बात की. उनके दोस्त ने कहा की आपने तो मेरे मुंह  की बात छीन ली. मै तो कबसे निधि को अपने घर की बहु बनाना चाहता हूँ. पर एक बात है ऋषभ की हाइट  निधि से थोड़ी कम है. इस पर निधि के पापा ने कहा की इतना अच्छा लड़का है ,संस्कारी है,थोड़ी बहुत ऊँच-नीच तो चलती  रहती है. निधि के पापा बोले मैं  एक बार निधि से बात कर लूँ आप भी ऋषभ से पूछ लीजिये. निधि के पापा खुशी मन से घर आए .

Digital Plans
Print + Digital Plans

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
Tags:
COMMENT