छोटे बच्चों के साथ बाहर खाना खाने जाने के बजाय ज्यादातर मातापिता बाहर का खाना खाने का मन होने पर खाना पैक करा कर घर लाना ज्यादा पसंद करते हैं, क्योंकि बच्चे इतना तमाशा करते हैं कि वे परेशान हो उठते हैं. मगर इस का यह मतलब भी नहीं कि छोटे बच्चों के साथ रैस्टोरैंट में खाना खाने जाएं ही नहीं. निम्न बातों पर ध्यान दे कर आराम से घर से बाहर अपनी पसंद के भोजन का लुत्फ उठाएं:

सही रैस्टोरैंट का चुनाव

रैस्टोरैंट ऐसा हो जहां अगर बच्चे शोर मचाएं, तो अजीब न लगे. कहने का मतलब यह है कि कुछ रैस्टोरैंट फैमिलीज के लिए जाने जाते हैं, जहां अन्य परिवार भी बच्चों के साथ आते हैं. यदि आप ने कोई ऐसा रैस्टोरैंट चुना जहां कपल्स आंखों में आंखें डाल कर लाइव गजलों का आनंद ले रहे हों, तो वहां आप को आप के खुराफाती बच्चों के साथ 15 मिनट के अंदर बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा.

पूल साइड रैस्टोरैंट्स में न जाएं, क्योंकि बच्चा खेलतेखेलते कब पूल में गिर जाए, कोई भरोसा नहीं.

पिज्जाबर्गर जौइंट्स या फास्ट फूड रैस्टोरैंट्स बच्चों के साथ जाने के लिए अच्छा विकल्प हो सकते हैं. वहां आप को खाने का अधिक समय इंतजार नहीं करना पड़ता. बच्चों के साथ इंतजार करना मुश्किल होता है.

बुफे भी एक अच्छा चुनाव हो सकता है, क्योंकि वहां लोग चलफिर रहे होते हैं. बच्चे अधिक देर एक जगह नहीं बैठ सकते. अत: वे जब इधरउधर जाएंगे, तो बुफे में अजीब नहीं लगेगा. आप का बच्चों के पीछे भागना भी अजीब नहीं लगेगा. साथ ही खाने की अधिक वैराइटी सामने होने पर बच्चे भी अपनी पसंद का खाना चुन सकते हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT