• गीतांजलि चे

दुनिया में सबसे खूबसूरत कोई रिश्ता है तो वो है भाई और बहन का रिश्ता. जिसे शब्दों में परिभाषित नहीं किया जा सकता है. ये रिश्ता तो बस जिया जाता है. मेरी जिंदगी में मेरा भाई है.

मेरा छोटा भाई कब बचपन की दहलीज पार करके एक जिम्मेदार भाई बन गया इसका अहसास भी नहीं हुआ. बचपन की नटखट शरारतें वक्त के साथ समझदारी में तब्दील होती गयी. वैसे तो मुझमें और मेरे भाई के बीच उम्र का बहुत बड़ा फासला है पर फिर भी हम लोगों में हल्की फुल्की नोकझोंक चलती ही रहती है.

ये भी पढ़ें- Raksha Bandhan 2019: मैंने वो सब किया जो एक मां करती है…

अक्सर इस नोकझोंक पर कोई विराम नहीं लगता है. अगले दिन फिर वो चालू हो जाता है. हम बहनों का छोटा भाई हमेशा अपने आप को सबसे समझदार  साबित करने की कोशिश करता है. बड़ी से बड़ी बात को हमेशा हंसकर उड़ा देता है. मेरे भाई के चरित्र का जो सबसे खूबसूरत आयाम है, वो है उसकी सादगी. बड़ों के प्रति उसका आदर और निश्चल स्वभाव उसके व्यक्तित्व में चार चांद लगा देता है.

भाई तुम हमेशा ऐसे ही हंसते मुस्कुराते रहो और कामयाबियों की बुलंदियों को पछाड़ते रहो.

Tags:
COMMENT