जब आप किसी नए रिश्ते में होते  हैं तो आपको हर चीज सोच-समझकर करनी चाहिए. जल्दबाजी में आपको कोई कदम उठाने से बचना चाहिए वरना ये आपके रिश्ते के लिए हानिकारक हो सकता है. किसी भी रिश्ते में कोई भी बड़ा कदम उठाने से पहले एक-दूसरे को अच्छी तरह जान लें. अगर आपको एक-दूसरे के बारे में बातें पता होगी तो आपका रिश्ता आसान हो जाएगा और आप दोनों के बीच समझ बरकरार रहेगी.

तो आइए जानते हैं कि क्यों नए रिश्ते में धीरे-धीरे कदम रखना चाहिए.

आप एक-दूसरे के अनुकूल हैं या नहीं – आपको ये बात पता होना चाहिए कि आप एक-दूसरे के अनुकूल हैं या नहीं. आपके पसंद-नापसंद कितने मिलते हैं क्योंकि ये भी एक बहुत बड़ा कारण हो सकता है रिश्ते के टूटने का. कोशिश करें कि एक-दूसरे के पसंद-नापसंद को अपनाएं. अगर इस चीज को करने में आप सफल होती हैं तो आप शादी करने के बारे में सोच सकती हैं.

लंबे समय तक लड़ाई नहीं बढ़ाएं – लड़ाई को लंबे समय तक नहीं खींचें क्योंकि अगर आप ऐसा करते हैं तो आप अपने साथी के साथ अपने रिश्ते को आगे बढ़ाने के बारे में नहीं सोचें. ऐसा रिश्ता ज्यादा समय तक नहीं चलेगा. जितनी जल्दी हो सके अपने लड़ाई को खत्म करने की कोशिश करें.

एक-दूसरे को अच्छे से समझें – जब तक आप एक-दूसरे को अच्छी तरह नहीं समझ पाते हैं तब तक आपको अपने रिश्ते को आगे नहीं बढ़ाना चाहिए. अगर आप अपने पार्टनर के बारे में ठीक से नहीं जानते हैं तो भविष्य में आपके बीच नोंक-झोंक होने की संभावनाएं बढ़ जाएगी. इसलिए पहले एक-दूसरे को जाने फिर रिश्ते को अगले मुकाम पर ले जाने के बारे में सोचें.

आपका साथी तनाव के समय कैसी प्रतिक्रिया देता है – अपने रिश्ते को आगे बढ़ाने से पहले आपको इस बात की जानकारी होनी बेहद जरूरी है कि आपका साथी जब तनाव में होता है तो कैसी प्रतिक्रिया देता है. इससे आपको इस बात का पता चलेगा कि आप कैसे उसके तनाव को संभालेंगे. अगर आप उस तनाव को संभालने के लिए पूरी तरह तैयार हैं तो आप अपने रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.

Tags:
COMMENT