जब भी रिया अपने बौयफ्रैंड मोहित के साथ कालेज कैंपस में घूमती है तो कैंटीन, गार्डन और गैलरी में कई नजरें उन्हें देख कर घूरती हैं, मानो वे कोई अजूबा हों. यों तो दोनों की जोड़ी बेमेल नहीं है मगर हमउम्र होते हुए भी कभीकभी उन्हें लोगों से अजीबोगरीब कमैंट्स सुनने को मिलते हैं. रिया का बौयफ्रैंड मोटा है और रिया इतनी पतली है कि कालेज में सब उन्हें देख कर कहते हैं कि देखो मोटू-पतलू जा रहे हैं.

बौलीवुड से ले कर तमाम क्षेत्रों में भी ऐसे सैलिब्रिटी हैं जिन पर मोटा होने का तमगा लगा है. लोग अकसर यह सोच बैठते हैं कि मोटे लोगों से प्यार करना मतलब खुद का मजाक बनाना है. श्रीदेवी ने जब बौनी कपूर से शादी की थी, तब उन्होंने उन का लुक या मोटापा नहीं देखा था बल्कि श्रीदेवी ने समाज की परवा न करते हुए अपने दिल की सुनी और उन से शादी कर ली.

ये भी पढे़ं- 10 टिप्स: ऐसे मजबूत होगा पति-पत्नी का रिश्ता

आज के दौर में लोग खुद की कम लोगों की ज्यादा सोचते हैं. हम जब किसी को पसंद करते हैं तो उस की अच्छाइयां देखते हैं, लेकिन बात जब समाज की आती है तो हम अपने पार्टनर को बदलने में लग जाते हैं, उस में कमियां निकालने लगते हैं, क्योंकि हम अपनी खुशी से ज्यादा समाज की सोचने लगते हैं. जिन का प्रेमी मोटा होता है वे हर वक्त अपने बौयफ्रैंड को बदलने में लगी रहती हैं और यह बदलाव वे अपने लिए कम दिखावे के लिए ज्यादा करती हैं. हां, हम कह सकते हैं कि आज के समय में हर कोई एक परफैक्ट बौयफ्रैंड चाहता है, जो हर एंगल से परफैक्ट हो. लेकिन क्या परफैक्शन सिर्फ लुक से ही आती है?

जी नहीं, परफैक्शन लुक से नहीं, आप के नजरिए से आती है. आमतौर पर जिन लड़कियों के बौयफ्रैंड मोटे होते हैं उन्हें थोड़ी परेशानी का सामना तो करना पड़ता है. आइए जानते हैं, क्या हैं वे परेशानियां.

ये भी पढे़ं- मैं एक लड़के से प्यार करती हूं. वह भी मुझे बेहद चाहता है, लेकिन…

  1. जरूरत से ज्यादा क्यूट होना…

जिन के बौयफ्रैंड मोटे होते हैं, अमूमन क्यूट भी होते हैं. ऐसे में एक लड़की को काफी जलन महसूस होती है, जब उस के सामने उस के बौयफ्रैंड को कोई गले लगा रहा हो. लड़कियां गले भी ऐसे मिलती हैं जैसे सामने वाला मानो कोई पांडा या टेडी बियर हो. ऐसा बहुत बार होता है, जब लड़की अपने बौयफ्रैंड के साथ होती है और उस वक्त कबाब में हड्डी बनने कोई न कोई आ ही जाता है और आते ही सब से पहले बेचारे बौयफ्रैंड के गालों को खींचता है और साथ में एक प्यारा सा वाक्य बोलते हैं, ‘ओओओ… यू आर सो क्यूट’ क्यूट का तो पता नहीं, लेकिन उस वक्त बेचारे बौयफ्रैंड की जो हालत होती है, उसे सिर्फ वही समझ सकता है. गर्लफ्रैंड का उतरा चेहरा और गालों की खिंचाई में बेचारा फंस कर रह जाता है.

ये भी पढे़ं- तलाक के बाद करने जा रही हैं डेटिंग तो काम आ सकते हैं ये 25 टिप्स

2. पहले खानापीना, उस के बाद काम ‘पहले पेट पूजा, बाद में काम दूजा’

यह मुहावरा तो हम सब ने सुना है. यह मुहावरा यदि हम मोटे लोगों के लिए इस्तेमाल करें तो इस में कोई हर्ज नहीं है. मोटे लोगों को भूख बरदाश्त नहीं होती और यह दिक्कत हर एक लड़की को झेलनी पड़ती है, जिन का बौयफ्रैंड मोटा है. आप अपने बौयफ्रैंड के साथ टाइम स्पैंड करना चाहती हैं लेकिन उन का सारा ध्यान खाने पर है क्योंकि भूख उन्हें बरदाश्त नहीं होती. सो, मोटे बौयफैंड्सको जब भूख लगती है और कुछ खाने को न मिले तो वे चिड़चिड़े हो जाते हैं और फिर वे कहीं भी अपना गुस्सा दिखा सकते हैं.

ये भी पढे़ंजब बिगड़ने लगे बच्चे का व्यवहार

3. कपड़े पसंद करने में परेशानी

मोटे बौयफैं्रड के लिए कपड़े खरीदना. दरअसल, इन की बौडी का आकार घटताबढ़ता रहता है. ऐसे में गर्लफ्रैंड को अगर अपने बौयफ्रैंड को कोई शर्ट गिफ्ट करनी है तो वह कन्फ्यूज हो जाती है कि क्या ले और क्या न ले. आज कपल्स हर तरह की बातें एकदूसरे से शेयर कर लेते हैं. शौपिंग के दौरान अंडरगार्मेंट्स से ले कर फुटवेयर तक एकसाथ खरीदते हैं. एकदूसरे के लिए शौपिंग करते वक्त जब गर्लफ्रैंड अपने मोटू बौयफ्रैंड के लिए अंडरगार्मेंट्स खरीदती है और जब वह दुकानदार को साइज बताती है उस दौरान माहौल काफी हास्यास्पद हो जाता है.

ये भी पढे़ं- टिप्स: अगर आप भी हैं सिंगल मदर तो ऐसे मैनेज करें नाइट शिफ्ट

4. रोमांस कम, तकरार ज्यादा

हर कोई चाहता है कि उस का बौयफ्रैंड रोमांटिक हो, लेकिन जब बौयफ्रैंड मोटा हो तो न चाहते हुए भी रोमांस में थोड़ी रुकावट आती है. हर लड़की चाहती है उस का बौयफ्रैंड फिजिकली ऐक्टिव हो, उस के इशारों को समझे. लेकिन यहां बात कुछ और ही हो जाती है, क्योंकि दोनों एकदूसरे की इच्छा को समझ नहीं पाते इसलिए यहां रोमांस कम तकरार ज्यादा नजर आती है. अब इस की वजह बौयफ्रैंड का मोटा और थुलथुला शरीर हो सकता है, जो दोनों के बीच रोमांस को खत्म कर देता है.

ये भी पढे़ं- घर खर्च में पेरैंट्स का दखल कितना सही

आज मोटापा लोगों में तेजी से पनप रहा है. इस की वजह कुछ भी हो सकती है, लेकिन हम मोटे लोगों को कुछ कमियों की वजह से नजरअंदाज नहीं कर सकते. वे कहते हैं कि सिक्के के दो पहलू होते हैं, इसलिए एक मोटा बौयफ्रैंड होने से गर्लफ्रैंड को लाभ भी हो सकते हैं : 

  1. अकसर देखा गया है कि मोटे लोग खुशमिजाज होते हैं. वे अपने हास्य से माहौल खुशनुमा बनाए रखते हैं.

2. शरीर से मजबूत होने का फायदा भी उन्हें मिलता है. डेढ़ पसली बौयफ्रैंड के बजाय वे अपनी गर्लफ्रैंड के लिए ज्यादा केयरिंग हो जाते हैं, इसलिए उन की गर्लफ्रैंड खुद को ज्यादा महफूज पाती हैं.

3. उन को पढ़ाकू भी माना जाता है. कैरियर बनाने में वे ज्यादा मेहनती होते हैं. अगर शादी की बात की जाए तो उन का फ्यूचर ज्यादा सिक्योर होता है.

4. मोटे लोग बहुत फूडी होते हैं और यह उन की सब से अच्छी बात है, क्योंकि अगर वे फूडी हैं तो अपनी गर्लफ्रैंड को भी कभी भूखा नहीं रखेंगे.

5. ऐसा भी माना जाता है कि लंबे और हैंडसम लड़के अपनी गर्लफ्रैंड को डिच भी कर देते हैं, पर चूंकि मोटे लड़कों को गर्लफ्रैंड भी मुश्किल से मिलती है, इसलिए वे उन्हें आसानी से धोखा नहीं देते हैं.

Edited by- Nisha Rai

Tags:
COMMENT