स्मार्टफोन हम सब की जिंदगी का अटूट हिस्सा बन चुका है. सुबह उठने से ले कर रात सोने तक हम इस पर निर्भर रहते हैं, फिर चाहे बात मौर्निंग अलार्म की हो, औन लाइन पेमैंट की, शौपिंग की, बोरियत के समय संगीत सुनने या फिल्म देखने की, कोई जरूरी मेल करना हो या फिर अपने दोस्तों व रिश्तों से जुड़ने की. हम सभी का पूरा संसार इसी छोटे से उपकरण में समाया हुआ है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस छोटे से उपकरण से हमारा यह जुड़ाव हमारे व्यवहार में कई समस्याएं भी पैदा कर रहा है? अगर आप स्मार्टफोन से जरूरी जानकारी नहीं निकाल पा रहे, तो आप परेशान हो जाते हैं. अगर आप तक मैसेज या कौल नहीं पहुंच रही, तो आप परेशान होने लगते हैं. अगर आप के पास प्रीपेड कनैक्शन है, तो स्मार्टफोन में बैलेंस कम होते ही आप को घबराहट होने लगती है. कई लोगों में इंटरनैंट की स्पीड भी तनाव को बढ़ाती है.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 2000 से ज्यादा कहानियां
  • ‘कोरोना वायरस’ से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • हेल्थ और लाइफ स्टाइल के 3000 से ज्यादा टिप्स
  • ‘गृहशोभा’ मैगजीन के सभी नए आर्टिकल
  • 2000 से ज्यादा ब्यूटी टिप्स
  • 1000 से भी ज्यादा टेस्टी फूड रेसिपी
  • लेटेस्ट फैशन ट्रेंड्स की जानकारी
COMMENT