काश, आप ने ऐसा न किया होता: कैसे थे बड़े भैया

बड़े भैया सोम का स्वभाव समझ पाना आसान नहीं था. वह जो करते उस के पीछे ऐसा तर्क देते कि सामने वाले से कुछ कहते नहीं बनता था. ऐसे में सोम भैया के मन की गहराई में झांकना विजय के लिए मुश्किल हो रहा था.

गृहशोभा डिजिटल सब्सक्राइब करें
मनोरंजक कहानियों और महिलाओं से जुड़ी हर नई खबर के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें