ममता: कैसी थी माधुरी की सास

बचपन से ही मातापिता के स्नेह से वंचित माधुरी जब ससुराल गई तो वहां भी पल्लव के प्यार के सिवा सासससुर दोनों को ही बाहर की जिंदगी जीते देख उसे बड़ी ठेस पहुंची. लेकिन उस की तकलीफ के बीच जब सासुमां ने जिस तरह उस का खयाल रखा उस की वह कल्पना भी नहीं कर सकती थी. 

गृहशोभा डिजिटल सब्सक्राइब करें
मनोरंजक कहानियों और महिलाओं से जुड़ी हर नई खबर के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें