रैड लाइट: क्या बिगड़े बेटे को सुधार पाई मां

मां की अत्यधिक व्यस्तता और तंगदस्ती की वजह से बेटे बिलकुल बेकाबू हो गए. वयस्क होते ही बड़ा बेटा अलग रहने लगा. कद्दावर शरीर के बल पर उसे एक नाइट क्लब में बाउंसर यानी दंगाफसाद करने वालों से निबटने की नौकरी मिल गई.

गृहशोभा डिजिटल सब्सक्राइब करें
मनोरंजक कहानियों और महिलाओं से जुड़ी हर नई खबर के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें