अब आओ न मीता: क्या सागर का प्यार अपना पाई मीता

मीता बुत बनी सागर को एकटक देख रही थी. सागर की गहरी आंखें कह रही थीं...इंजीनियर जरूर आधा हूं लेकिन घर पूरा बनाना जानता हूं. है न?

गृहशोभा डिजिटल सब्सक्राइब करें
मनोरंजक कहानियों और महिलाओं से जुड़ी हर नई खबर के लिए सब्सक्राइब करिए
अनलिमिटेड कहानियां-आर्टिकल पढ़ने के लिएसब्सक्राइब करें