घूमने के साथ ही अगर आप उस जगह की खूबसूरती को वैसे ही बरकरार रखना चाहते हैं तो सबसे ज्यादा जरूरी है कि उस जगह पर किसी भी प्रकार की गंदगी को न खुद फैलाएं और न ही फैलाने दें. और इसके लिए सबसे पहले प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करें.

इसका इस्तेमाल सिर्फ कपड़ों और फुटवेयर्स की पैकिंग तक ही रखें क्योंकि कई बार बारिश और बर्फबारी से बैग के अंदर रखे कपडों के भीगने की संभावना रहती है. आपकी ये छोटी सी पहल पर्यावरण को बचाने में बहुत बड़ा योगदान साबित होगा. तो आइए जानते हैं कि सफर के दौरान गंदगी  को कम करने के क्या तरीके हैं.

अगर आप सफर के दौरान चिप्स, कुकीज़, मैगी और ऐसे ही स्नैक्स खाना पसंद करते हैं तो इन्हें खरीदकर किसी स्टेनलेस स्टील कंटेनर में पैक कर लें. इससे खाने के बाद आपको उसका रैपर फेंकने की टेंशन नहीं रहेगी. कोल्ड ड्रिंक्स वगैरह की बौटल्स को भी इस्तेमाल के बाद वापस बैग में रख लें या फिर कूड़ेदान में ही डालें.

प्लास्टिक के वाटर बौटल्स को करें परहेज – ज्यादातर लोग सफर के दौरान बौटल्स कैरी करना पसंद नहीं करते. उनका मानना होता है कि जब प्यास लगेगी बौटल्स खरीद लेंगे. लेकिन बार-बार बौटल्स खरीदना और पीने के बाद उसे कहीं भी फेंक देने से आप उस जगह को गंदा करते हैं. बेहतर होगा कि आप अपने साथ ऐसी बौटल्स कैरी करें जिसमें पानी खत्म होने के बाद उसे दोबारा भर सके. स्टेनलेस स्टील, कौपर, पीतल और ग्लास की बौटल्स इसके लिए सही रहेगी.

आइसक्रीम कोन में खाएं- गर्मियों में कहीं घूमने-फिरने जा रहे हैं और आइसक्रीम खाने का दिल कर रहा है तो कोन कवर वाली आइसक्रीम खाएं न कि प्लास्टिक कप वाले. आइसक्रीम स्वाद के साथ गर्मियों में रिलैक्स होने के लिए खाया जाता है न कि दिखाने के लिए. तो इसका भी ध्यान रखें.

जिस भी जगह घूमने जा रहे हैं उस जगह शौपिंग करने का प्लान है तो प्लास्टिक बैग्स लेना अवौयड करें. वैसे तो आजकल ज्यादातर जगहों पर पेपर बैग्स का इस्तेमाल होने लगा है लेकिन कई बार भारी चीज़ों की वजह से इनके फटने का डर रहता है. ऐसे में बेहतर होगा कि आप अपने पास लैदर या कपड़ों से बना बैग रखें. जो हर तरीके से सही है.

Tags:
COMMENT