भूटान की खूबसूरती और शांति के अलावा इसके अलग कल्चर भी टूरिस्टों को अपनी ओर आकर्षित करने का कोई मौका नहीं छोड़ते. ऊंचे पहाड़ों पर बनी मोनेस्ट्रीज, वाइल्डलाइफ सेंचुरी और हरे-भरे पहाड़ इस जगह की खूबसूरती को दोगुना करते हैं.

भूटान की एक और चीज जो टूरिज्म को खास बनाती है वो है यहां का खानपान. तीखी मिर्च के साथ तेज मसालों का इस्तेमाल यहां की ज्यादातर डिशेज में किया जाता है. वैसे तो यहां खाने-पीने के तमाम विकल्प मौजूद हैं लेकिन कुछ डिशेज ऐसी हैं जिन्हें यहां आकर जरूर ट्राय करें. तो आइए जानते हैं, इनके बारे  में.

होन्टे

मोमोज सिर्फ इंडिया में ही नहीं भूटान, नेपाल जैसे देशों का भी पसंदीदा डिशेज़ में से एक है. यहां इसे होयन्टे के नाम से जाना जाता है. ये मोमोज मैदे से नहीं बल्कि कुटू के आटे से तैयार किया जाता है. नौन-वेज मोमोज में जहां मीट की फीलिंग होती है वहीं वेज मोमोज में पालक, सोयाबीन और चीज की. इसे आप स्टीम्ड और फ्राई दोनों ही तरीकों से खा सकता हैं. यहां भी इसे चिली सास के साथ ही सर्व किया जाता है.

इमा दातशी

ये भूटान की बहुत ही मशहूर है या यों कहें कि यहां कि नेशनल डिश है. जिसका स्वाद आपको यहां हर एक जगह चखने को मिल जाएगा. आलू, ग्रीन बीन्स, मशरूम और ढ़ेर सारे मक्खन से बनने वाली इस डिश को और भी के लोकल चीज(दातशी) और तीखी मिर्च के साथ. जिसे चावल ज्यादा जायकेदार बनाया जाता है. यहां के साथ सर्व किया जाता है. चावल में मिक्स करने के अलावा इसे आप ऐसे भी खा सकते हैं.

जासा मारु

भूटान के पसंदीदा डिशों में से एक जासा मारू नौन-वेजिटेरियन डिश है. चिकन के छोटे-छोटे टुकड़ों को प्याज, अदरक, हरी मिर्च, टमाटर और धनिया पत्ती के साथ बनाया जाता है. इसे आप चावल के साथ या सूप की तरह भी पी सकती हैं.

पाकशा पा

पाकशा पा, पोर्क से बनने वाली दूसरी मशहूर डिश है. इसमें पोर्क स्लाइस को हल्का फ्राई कर रेड चावल के साथ सर्व किया जाता है.

खुर-ले

अगर आप भूटान में है तो यहां के ज्यादातर रेस्टोरेंट्स के मेन्यू में आपको ये डिश दिखाई देगी. ये भूटानी पैनकेक है, जिसे गेहूं नहीं बल्कि कुटू के आटे से तैयार किया जाता है. स्पौन्जी टेक्सचर और टेस्टी फिलिंग इसे बनाते हैं और भी ज्यादा जायकेदार.

पुता

यहां के ज्यादातर डिशों में कुटू के आटे का इस्तेमाल होता है. पुता, जो भूटानी नूडल्स हैं इसे भी कुटू के आटे से ही तैयार किया जाता है और यहां के हर एक रेस्टोरेंट्स में इसका स्वाद चखा जा सकता है.

Tags:
COMMENT