केसर और शहद से पाएं बेदाग त्वचा

By Grihshobha team | 13 September 2017

केसर में विटामिन, मिनरल्‍स और पोटाशियम की प्रचुर मात्रा होती है. इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटीआक्‍सीडेंट यौगिक त्‍वचा की रंगत को निखारने के साथ उसे रेजुनवेट कर गहराई से नमी पहुंचाता है. केसर में एंटी-सोलर एजेंट भी होते हैं जो सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों से त्‍वचा को बचाती है. इसमें क्रोसिटन जैसे तत्‍व पाए जाते हैं जो त्‍वचा को जवां बनाए रखने में मदद करती है.

शहद एक प्राकृतिक रोधक है जो त्‍वचा में नमी को बनाए रखती है और उसे खोने नहीं देती है. ये एंटीसेप्‍टिक की तरह भी काम करती है. शहद त्‍वचा में कोलाजन का उत्‍पादन बढ़ाकर बढ़ती उम्र के निशानों को दूर करता है. त्‍वचा संबंधित परेशानियों से दूर रहने और बचने के लिए आज हम आपको केसर और शहद से बने कुछ प्राकृतिक नुस्‍खों के बारे में बताने जा रहे हैं. 

निखार के लिए

एक चुटकी केसर, 2 चम्‍मच दूध, एक चम्‍मच चंदन पाउडर लें. केसर और 2 चम्‍मच दूध को मिलाकर पांच मिनट के लिए छोड़ दें. इसके बाद इस मिश्रण में चंदन पाउडर मिलाकर इसे अच्‍छी तरह से मिलाए और अपनी त्‍वचा पर हल्के हाथॆ से लगाएं. 15 मिनट के बाद इसे पानी से साफ कर लें.

मुहांसों के उपचार के लिए

एक चुटकी केसर, एक चम्‍मच शहद, 4-5 तुलसी की पत्तियां लें. अब तुलसी की पत्तियां के साथ केसर को पीस लें. अब इस पेस्‍ट में शहद मिलाएं. इसे चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें. सप्‍ताह में दो बार इस पैक का इस्तेमाल करें.

सनटैन को कम करने के लिए

रातभर एक चम्‍मच मिल्‍क क्रीम में एक चुटकी केसर को भिगोकर रख दें. अगले दिन सुबह इसमें शहद मिलाएं और प्रभावित हिस्‍सो पर लगाएं. 10 मिनट बाद ठंडे पानी से उसे धो लें.

बारीक रेखाओं को दूर करें

केसर को बारीक पीसकर पाउडर बना लें, इसमें शहद और एलोवेरा जैल मिलाएं. इसे अच्‍छी तरह से मिक्‍स करने के बाद अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद इसे ठंडे पानी से साफ करें. आपको ये नुस्‍खा सप्‍ताह में दो बार करना है. इससे त्‍वचा के बारीक निशान साफ होते हैं और त्‍वचा जवां दिखती है.

केसर और शहद का टोनर

रातभर गुलाबजल में केसर को भिगोकर रखें. सुबह इस पानी को किसी स्‍प्रे बौतल में भरकर रख लें. अब आप जब चाहें त्‍वचा पर टोनर की तरह इसका प्रयोग कर सकते हैं. केसर और शहद से बना टोनर आपकी त्‍वचा की मृत कोशिकाओं को बाहर निकाल उसकी सारी गंदगी को भी बाहर निकाल देता है.

अगर केसर का प्रयोग करने के बाद आपके चेहरे पर पीले रंग का दाग रह जाता है तो घबराने की जरूरत नहीं है. ये जल्‍दी ही अपने आप ही ठीक हो जाएगा. एक घंटे के भीतर से दाग अपने आप ही गायब हो जाएगा. चमकदार और मुलायम त्‍वचा पाने के लिए आप केमिकल युक्‍त चीजों की बजाय उपरोक्‍त बताए गए प्राकृतिक नुस्‍खों का प्रयोग करेंगें तो ज्‍यादा बेहतर होगा.

केसर में विटामिन, मिनरल्‍स और पोटाशियम की प्रचुर मात्रा होती है. इसमें मौजूद एंटी-बैक्‍टीरियल और एंटीआक्‍सीडेंट यौगिक त्‍वचा की रंगत को निखारने के साथ उसे रेजुनवेट कर गहराई से नमी पहुंचाता है. केसर में एंटी-सोलर एजेंट भी होते हैं जो सूर्य की हानिकारक यूवी किरणों से त्‍वचा को बचाती है. इसमें क्रोसिटन जैसे तत्‍व पाए जाते हैं जो त्‍वचा को जवां बनाए रखने में मदद करती है.

शहद एक प्राकृतिक रोधक है जो त्‍वचा में नमी को बनाए रखती है और उसे खोने नहीं देती है. ये एंटीसेप्‍टिक की तरह भी काम करती है. शहद त्‍वचा में कोलाजन का उत्‍पादन बढ़ाकर बढ़ती उम्र के निशानों को दूर करता है. त्‍वचा संबंधित परेशानियों से दूर रहने और बचने के लिए आज हम आपको केसर और शहद से बने कुछ प्राकृतिक नुस्‍खों के बारे में बताने जा रहे हैं. 

निखार के लिए

एक चुटकी केसर, 2 चम्‍मच दूध, एक चम्‍मच चंदन पाउडर लें. केसर और 2 चम्‍मच दूध को मिलाकर पांच मिनट के लिए छोड़ दें. इसके बाद इस मिश्रण में चंदन पाउडर मिलाकर इसे अच्‍छी तरह से मिलाए और अपनी त्‍वचा पर हल्के हाथॆ से लगाएं. 15 मिनट के बाद इसे पानी से साफ कर लें.

मुहांसों के उपचार के लिए

एक चुटकी केसर, एक चम्‍मच शहद, 4-5 तुलसी की पत्तियां लें. अब तुलसी की पत्तियां के साथ केसर को पीस लें. अब इस पेस्‍ट में शहद मिलाएं. इसे चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो लें. सप्‍ताह में दो बार इस पैक का इस्तेमाल करें.

सनटैन को कम करने के लिए

रातभर एक चम्‍मच मिल्‍क क्रीम में एक चुटकी केसर को भिगोकर रख दें. अगले दिन सुबह इसमें शहद मिलाएं और प्रभावित हिस्‍सो पर लगाएं. 10 मिनट बाद ठंडे पानी से उसे धो लें.

बारीक रेखाओं को दूर करें

केसर को बारीक पीसकर पाउडर बना लें, इसमें शहद और एलोवेरा जैल मिलाएं. इसे अच्‍छी तरह से मिक्‍स करने के बाद अपने चेहरे पर लगाएं और 15 मिनट बाद इसे ठंडे पानी से साफ करें. आपको ये नुस्‍खा सप्‍ताह में दो बार करना है. इससे त्‍वचा के बारीक निशान साफ होते हैं और त्‍वचा जवां दिखती है.

केसर और शहद का टोनर

रातभर गुलाबजल में केसर को भिगोकर रखें. सुबह इस पानी को किसी स्‍प्रे बौतल में भरकर रख लें. अब आप जब चाहें त्‍वचा पर टोनर की तरह इसका प्रयोग कर सकते हैं. केसर और शहद से बना टोनर आपकी त्‍वचा की मृत कोशिकाओं को बाहर निकाल उसकी सारी गंदगी को भी बाहर निकाल देता है.

अगर केसर का प्रयोग करने के बाद आपके चेहरे पर पीले रंग का दाग रह जाता है तो घबराने की जरूरत नहीं है. ये जल्‍दी ही अपने आप ही ठीक हो जाएगा. एक घंटे के भीतर से दाग अपने आप ही गायब हो जाएगा. चमकदार और मुलायम त्‍वचा पाने के लिए आप केमिकल युक्‍त चीजों की बजाय उपरोक्‍त बताए गए प्राकृतिक नुस्‍खों का प्रयोग करेंगें तो ज्‍यादा बेहतर होगा.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं
INSIDE GRIHSHOBHA
READER'S COMMENTS / अपने विचार पाठकों तक पहुचाएं

Comments

Add new comment