गृहशोभा विशेष

त्वचा लचीली रहे तो झुर्रियां बहुत देर से पड़ती हैं. इस के लिए न्यूयार्क की एनलीज हेगन का कहना है कि बढ़ती उम्र के साथ चेहरे की मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैं. जिस के चलते चेहरे पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं, साथ ही चेहरे की चमक कम होने लगती है. लेकिन त्वचा को यदि खूबसूरत और रेशमी रखना है तो इस के लिए त्वचा पर चिपकी गंदगी और तेल को साफ करना जरूरी है. हमारी त्वचा में निरंतर नई कोशिकाएं उत्पन्न होती रहती हैं और पुरानी निकल जाती हैं. इन्हीं मृत कोशिकाओं की सफाई यदि त्वचा से नहीं की जाती है तो ये रोमछिद्रों को बंद कर देती है. परिणामस्वरूप त्वचा पर ब्लैकहैड्स और दूसरे दागधब्बे दिखाई देने लगते हैं. इस से त्वचा सांवली और मुरझाई हुई लगती है, साथ ही बढ़ती उम्र त्वचा की रौनक और कसावट दोनों को ही कम कर देती है.

अपनी त्वचा को रेशमी और स्वस्थ बनाए रखने के लिए हफ्ते में 2 बार ब्रशिंग करें जिस से मृत कोशिकाएं निकलेंगी और त्वचा के रोमरोम की सफाई होगी. दरअसल, दिन भर की दौड़धूप व ज्यादा काम के कारण आप का ऊर्जा स्तर शून्य हो जाता है. इस स्थिति से बचने के लिए डिटोक्स अपनाना जरूरी है. डिटोक्स सफाई की नई प्रक्रिया है, जिस के जरिए शरीर की सफाई तो होती है, साथ ही दिमाग भी तरोताजा हो जाता है. इस के लिए रात को सोने से पहले अपनी त्वचा पर हलके हाथों से ब्रश चलाएं. ध्यान रखें कि त्वचा सूखी होनी चाहिए.

हमेशा नहाने से पहले त्वचा पर ब्रश करें.

ब्रश की शुरुआत अपने पैरों से करें. पंजे, एड़ी और फिर पैर के आगे और पीछे की तरफ लंबाई में ब्रश चलाएं.

ब्रश चलाने का सही तरीका होता है नीचे से ऊपर की तरफ.

पैरों के बाद अपने नितंबों पर अच्छी तरह ब्रश चलाएं.

अब हाथों और बांहों से ब्रश को ऊपर की तरफ चलाते हुए बगलों की तरफ आएं.

फिर कंधे और छाती से नीचे की तरफ ब्रश चलाएं.

गरदन के पीछे वाले हिस्से में नीचे की तरफ ब्रश चलाएं.

 पेट पर ब्रश चलाने का सही तरीका यहहै कि ब्रश को धीरेधीरे क्लाकवाइज यानी घड़ी की सूई की तरह गोलगोल चलाएं.

अब 2 बूंदें रोजमेरी के तेल मिले हुए पानी से नहाएं.

इस के आधे घंटे बाद ठंडे पानी से नहाएं.

खास सावधानी

बौडी ब्रशिंग के लिए उचित प्रकार केलूफे का प्रयोग करें. बाजार में ब्रशिंग के लिए तुरई के पारंपरिक लूफे के अलावा नायलोन के लूफे भी मिल जाएंगे.

लूफे का इस्तेमाल हमेशा दबाव के साथ करें. पर अधिक दबाव डालने से त्वचा पर झुर्रियां पड़ सकती हैं.

बौडी पैक लगाने के बाद लूफे का इस्तेमाल करने से पहले पैक को एक बार शावर बाथ से गीला कर लें. लूफे से बहुत दबाव के साथ छुड़ाने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

एक्सफोलिएशन

इसी तरह त्वचा की मृत कोशिकाओं की सफाई का सब से आसान तरीका एक्सफोलिएशन है. एक्सफोलिएट करने से पहले निम्न सावधानियां रखना जरूरी है :

त्वचा को किसी माइल्ड साबुन से अच्छी धो लें ताकि पहले से त्वचा पर लगी क्रीम या अन्य पदार्थ त्वचा से चिपके नरह जाएं.

स्क्रब करने के दौरान त्वचा को हलका गीला अवश्य करें, क्योंकि सूखी त्वचा पर स्क्रब करने से त्वचा को नुकसान पहुंचता है.

चेहरे से मृत त्वचा हटाने के लिए सर्कुलर मूवमेंट का प्रयोग करें.

स्क्रब के बाद चेहरे पर मास्चराइजर जरूर लगाएं.

एक्सफोलिएशन के लिए अल्कोहल बेस्ड एस्ट्रिंजेंट भी उपलब्ध हैं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं