गरमी का मौसम खत्म होते ही बारिश आती है, जिस से गरमी से तो थोड़ी राहत मिलती है, पर साथ ही इस मौसम में त्वचा संबंधी कई समस्याएं भी होने लगती हैं. त्वचा अतिसंवेदनशील और शुष्क हो जाती है.

बरसात में आप की त्वचा को सब से ज्यादा नुकसान प्रदूषण, धूल, गंदगी और नुकसानदेह यूवी किरणों से होता है. आप सोचती होंगी कि इस मौसम में सनस्क्रीन लगाने से बच जाएंगी, लेकिन इस से आप की त्वचा क्षतिग्रस्त हो सकती है. इस मौसम में ज्यादा पसीना आने से चेहरे पर धूल की परत जम जाती है, जिस से फंगल संक्रमण होने का खतरा रहता है.

इस मौसम में त्वचा की देखभाल करना कोई ज्यादा मुश्किल काम भी नहीं है. कुछ सरल उपायों पर अमल कर बारिश के मौसम में भी आप त्वचा को स्वस्थ और कांतिमय बनाए रख सकती हैं.

घरेलू नुसखे

स्ट्राबैरी फेस मास्क

1/2 कप फ्रोजन या ताजा स्ट्राबैरी को पीस लें और इस में 1 कप दही, 11/2 चम्मच शहद मिला लें. इस लेप को नियमित रूप से चेहरे पर लगाने से त्वचा मुलायम और चमकदार बनी रहेगी.

दूध व फलों का फेशियल

एक कस्टर्ड सेब का लेप बना कर उस में 1 चम्मच चीनी, 1/2 कप दूध और कुछ बूंदें कैमोमिल मिला कर चेहरे पर लगाएं. इस से त्वचा नमीयुक्त और कांतिमय बनी रहेगी.

टोनिंग

दिन में 2 बार नौनअलकोहलिक टोनर से त्वचा की टोनिंग करें. ताकि त्वचा का पीएच संतुलन बना रहे.

ऐंटीफंगल क्रीम

रिंगवर्म या खुजली जैसे संक्रमणों से बचने के लिए त्वचा को लंबे समय तक भीगे रहने से बचाएं. हलके कुनकुने पानी से नहाएं और इस के बाद फंगल संक्रमण से बचने के लिए ऐंटीफंगल क्रीम लगाएं. नहाने के बाद पंखे की हवा में शरीर के मुड़ने वाले हिस्सों को सुखा लें और ऐंटीफंगल पाउडर लगाएं ताकि ये हिस्से बारबार गीले न हों.

सफाई

अपने चेहरे को नौनसोपी फेसवाश से दिन में 3-4 बार धोएं ताकि त्वचा के रोमछिद्रों में जमी धूल और तेल अच्छी तरह साफ हो जाए.

स्क्रबिंग

त्वचा की चमक बनाए रखने के लिए उस की मृत कोशिकाओं वाली परत को सौम्य तरीके से उतारने का उपाय आजमाएं.

फेसपैक

त्वचा का तेल कम करने तथा उस की नमी बनाए रखने के लिए सिट्रिक (नीबू आधारित) फेसपैक का इस्तेमाल करें. इस से आप के ब्लैकहैड्स/व्हाइटहैड्स भी मिट जाएंगे.

मौइश्चराइजिंग

त्वचा की कोमलता बनाए रखने के लिए जल आधारित मौइश्चराइजर या गुलाबजल अथवा बादाम का तेल इस्तेमाल करें.

सनस्क्रीन

सनस्क्रीन लगाना न भूलें और ऐसे सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें, जिस में एसपीएफ ज्यादा हो ताकि त्वचा को नुकसानदेह यूवी किरणों से बचाया जा सके.

भरपूर पानी पीएं

त्वचा की नमी बरकरार रखने के लिए दिन में 8-10 गिलास पानी जरूर पीएं, क्योंकि इस मौसम में बहुत ज्यादा पसीना आने से त्वचा की नमी खत्म हो जाती है.

भारी मेकअप से बचें

मौनसून के दौरान त्वचा में खुजली से बचने के लिए वाटरप्रूफ और अच्छे ब्रैंड के सौंदर्य उत्पादों का इस्तेमाल करें.

-डा. इंदु बल्लानी, डर्मेटोलौजिस्ट, दिल्ली