गृहशोभा विशेष

गर्मियों का मौसम और तेज धूप त्वचा से उसकी नमी छीन सकती है. तेज धूप की वजह से त्वचा को काफी नुकसान होता है. ऐसे में हम सभी दोपहर के समय घर से बाहर निकलने में परहेज करते हैं, जो जाहिर तौर पर एक अच्छा विकल्प है. लेकिन फिर भी किसी आवश्यक काम होने की दशा में हमें बाहर भी जाना होता है ऐसे में कुछ उपाय करके हम गर्मी के मौसम में अपनी त्वचा को डैमेज होने से बचा सकते हैं.

तो चलिए आज हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताते हैं, जिन्हें अपनाकर आप गर्मी से चेहरे पर पड़ने वाले बुरे प्रभावों को कम कर सकती हैं या रोक सकती हैं.

सबसे पहली समस्या जो गर्मी के मौसम की वजह से हमे झेलनी पड़ती है वो है रेशेज की.

रैशेज होने के कारण

पसीने से हमारी त्वचा चिपचिपी हो जाती है. जिसकी वजह से हमारे रोम छिद्र बंद हो जाते हैं और त्वचा के माध्यम से शरीर से विषैले पदार्थो के बाहर निकलने में बाधा होती है और इसी के चलते त्वचा में एक्ने, खुजली और फोड़े फुंसी जैसी तमाम समस्याए पैदा हो जाती हैं.

उपाय

सबसे पहले आपको ये ध्यान रखने की जरुरत है की आपको पसीने की समस्या से छुटकारा पाना है इसके लिए आप अच्छी क्वालिटी का पाउडर इस्तेमाल करें. बाहर से घर आने पर अपने हाथ और मुहं को सादे पानी से धोना ना भूलें, क्योंकि आपके चेहरे पर धूप का अधिक बुरा असर पड़ता है. दिन में कम से कम 2 बार क्लींजर से त्वचा की सफाई करें.

दूसरी समस्या है धूप और गर्मी के कारण होने वाले सनबर्न.

कारण

तेज धूप और गर्मी की वजह से सूर्य की पराबैंगनी किरणें हमारे चेहरे को नुकसान पहुंचाती हैं और हमारा चेहरा और हाथ के खुले हिस्से काले पड़ जाते हैं.

उपचार

चेहरे के लिए SPF 30 तत्व युक्त सनस्क्रीन आती है जो बाजार में या मेडिकल स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाती है. सनस्क्रीन लगायें और बाहर निकलते समय गर्दन और बाकि खुले हिस्सों को स्काफ से ढक लें. तेज धूप की वजह से हमारी खुली त्वचा जल जाती है इसके लिए बाहर से आते ही चेहरे को ठण्डे पानी से धोएं. प्रभावित अंगो पर गीला तोलिया रखें. पानी में भिगोया गया तौलिया आपको बहुत राहत दे सकता है. खीरे का रस भी घरेलू इलाज के तौर पर लगा सकती हैं.

तीसरी और बड़ी समस्या है ड्राई त्वचा

कारण

स्क्रबिंग की वजह से हमारे त्वचा की सबसे ऊपरी सतह क्षतिग्रस्त हो जाती है. एसी में रहने वाले लोगो के साथ ये समस्या अधिक आती है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि घर के अंदर और बाहर की नमी में थोडा अंतर होता है.

उपाय

सुबह के वक्त और रात को सोने से पहले अपनी त्वचा पर मौइश्चराइजर लगाना ना भूलें. सबसे महत्वपूर्ण है त्वचा के लिए नमी का स्तर सामान्य रहे और इसके लिए आप क्रीम को लगाने से पहले टोनर और इमल्शन का इस्तेमाल कर सकती हैं. जिस से त्वचा पर एक अलग से सुरक्षा परत तैयार होती है.