शादियों का सीजन चल रहा है, इसलिए हर ब्यूटीशियन से ‘न बाबा न, मैं तो नहीं आ रही’ यही सुनने को मिल रहा था. लेकिन 26 जून को वर्ल्ड ब्यूटीशियन डे के आयोजन पर माहौल एकाएक बदला. ब्यूटीशियंस को जब यह पता चला कि गृहशोभा पत्रिका द्वारा इस आयोजन में अपने हुनर को साबित करने के कंपीटिशन रखे गए हैं, तो उन की भीड़ इकट्ठा हो गई.

आयोजन वाले दिन खचाखच भरे हौल में उम्मीद से ज्यादा ब्यूटीशियंस का जमावड़ा था. सभी ब्यूटीशियंस को ड्रैस कोड दिया गया. ब्यूटीशियंस पार्टियों में दूसरों का ऐसा मेकअप करती हैं कि वे रोज से बिलकुल अलग दिखें पर आज मौका था उन्हें खुद को सजाने और संवारने का.

ब्यूटीशिंयस के बीच प्रतियोगिता की शुरुआत कैटवाक से हुई. सैलिब्रेशन में शामिल हर ब्यूटीशियन अपने अलग ही अंदाज और क्रिएटिविटी के साथ नजर आई. कुछ ने अपने बालों को गुलाबी, सुनहरे और सिल्वर फूलों से सजाया, तो कुछ ने शिमर मेकअप से खुद को सब से अलग और खूबसूरत दिखाया. कुछ के बिलकुल अलग ढंग के मेकअप ने लोगों को खूब आकर्षित किया, तो कुछ ने सिर्फ अपनी सादगी से जज पैनल का दिल जीत लिया. इस के बाद सभी ब्यूटीशियंस ने एक से बढ़ कर एक मनमोहक प्रस्तुतियां दे कर सब को थिरकने पर मजबूर कर दिया. उन्होंने फेमस गीतों पर ग्रुप डांस किया और माहौल को खुशनुमा बना दिया. एक और आकर्षण बैलून डांस था. प्रतियोगिता में बैस्ट मेकअप के लिए दीप्ति यादव व पुनीत भाटिया, बैस्ट हेयरस्टाइल के लिए स्वाति खिलरानी व राधा कुशवाहा, बैस्ट ड्रैस के लिए इला द्विवेदी व आशा ठाकुर, बैस्ट कैटवाक के लिए बलवीर ठकराल व कल्पना टोपीवाला और बैस्ट हेयरकट के लिए मनीषा नथानी को विजेता घोषित किया गया.

इस अवसर पर गृहशोभा पत्रिका की वार्षिक सदस्यता ब्यूटीशियंस द्वारा भारी संख्या में ली गई. बने सदस्यों के बीच गृहशोभा लकी ड्रा निकाला गया, जिस में सीमा सिंह और रोहनी मराठे विजेता रहीं.

ब्यूटीपार्लर ऐसोसिएशन, भोपाल की अध्यक्ष डा. सरिता श्रीवास्तव व आईवा की अध्यक्ष इला द्विवेदी ने इस आयोजन को सफल बनाने में गृहशोभा की भूमिका पर प्रकाश डालते हुए आभार व्यक्त किया. सचिव आशा ठाकुर व स्वाति खिलरानी ने आगे भी इसी तरह के आयोजन का आग्रह किया. कार्यक्रम में वरिष्ठ ब्यूटीशियन नीता द्विवेदी और वंदना जैन की उपस्थिति गरिमामय रही.