अच्छाई व बुराई की लड़ाई  के साथ ही पृथ्वी को बचाने की कवायद की कहानी है हौलीवुड फिल्मकार एंथोनी रोसो और जौय रोसो की रोमांचकएक्शन प्रधान साइंस फिक्शन फिल्म ‘‘एवेंजर्स इन्फीनिटी वार’’. जो कि मार्वेल कामिक्स के सुपर हीरो अवेंजर्स पर आधारित है. एक पंक्ति की कहानी के साथ कई उप कहानियों के साथ साथ तकरीबन 76 किरदारों और एक नहीं कई जगहों से (न्यूयार्क, वकांडा, टाइटन, नोव्हेअर ) युक्त यह फिल्म दर्शकों को बांधकर रखती है.

फिल्म की कहानी का केंद्र असीम शक्तियां रखने वाली छह मणियां हैं. इनके नाम हैं-शक्ति मणि, अंतरिक्ष मणि, समय मणि, स्मृति मणि,वास्तविकता मणि, आत्मा मणि. इनमें से चार मणियां पृथ्वी ही नहीं पूरे ब्रम्हांड को खत्म करने पर उतारू थैनौस के पास हैं और वह अपनी शक्ति के बल पर अन्य दो मणियों को हासिल कर सर्वाधिक ताकतवर बनकर पृथ्वी सहित पूरे ब्रम्हांड को खत्म कर नए सिरे से अपने मनमाफिक नए ब्रम्हांड की रचना करना चाहता है. अपने मकसद में कामयाब होने के लिए थैनौस अपनी सौतली दत्तक पुत्री गमोरा (जौय सल्डाना) की हत्या करने से भी बाज नहीं आता है. जबकि दो मणियों को थैनौस के हाथ न लगने देने के साथ ही थैनौस को खत्म करने के लिए आयरन मैन, थोर, द हल्क व अन्य अवेंजर्स एक साथ आ जाते हैं. इतना ही नही पृथ्वी व ब्रम्हांड को बचाने के लिए ब्लैक विडो, स्पाइडरमैन व ब्लैक पैंथर भी इनके साथ आ जाते हैं. यह सभी  थैनौस के पास मौजूद चार मणि भी छीनना चाहते हैं.

फिल्म ‘‘अवेंजर्स इन्फीनिटी वार’’ की शुरुआत वहीं से होती है, जहां पर मार्वल्स की पिछली फिल्म ‘‘थोरः रगनारोक’’ खत्म हुई थी. इस फिल्म में स्पेस यान से उतरने वाले असगार्डियन भाईयों  थोर व लोकी को जहां छोड़ा था. उधर टाइटन ग्रह के निवासी थैनौस (जोश ब्रोलिन) ने सिर्फ अपने काफिले बल्कि अपने शिल्प को भी बर्बाद कर दिया है. वह लोगों पर अत्याचार करने के साथ ही उन्हे मौत के घाट उतार रहा है. अब थैनौस की योजना दो अन्य मणि को हासिल कर पूरे ब्रम्हांड को बर्बाद करने की है. थैनौस की योजना की जानकारी मिलते ही द हल्क वापस धरती पर आते हैं. फिर जबरदस्त एक्शन के अवेंजर्स व उनके साथी थैनौस को रोकने की मुहीम में जुट जाते हैं.

फिल्म की कहानी लार्जर देन लाइफ से भरपूर होते हुए भी काफी दिलचस्प है. अदभुत व अति तेज गति से भागती कहानी व जबरदस्त एक्शनदृश्यों से भरपूर यह एक ‘एपिक’ फिल्म है. पिछली अवेंजर फिल्मों के मुकाबले इस फिल्म में इंसानी भावनाओं को ज्यादा उकेरा गया है. इतना ही नहीं इस फिल्म में कहानी के साथ ही कुछ दार्शनिक बातें भी की गयी हैं. फिल्म में कई अनुत्तरित सवाल भी हैं. फिल्म का क्लायमेक्सआश्चर्यचकित कर जाता है. फिल्म की पटकथा जबरदस्त है. इस फिल्म को देखने का असली मजा तो बड़े परदे पर ही आएगा और वह भी थ्री डी में.

फिल्म की लोकेशन व संवाद जबरदस्त हैं. हिंदी में अनुवादित फिल्म के संवादो में तो कुछ हिंदी फिल्मों के नाम भी जोड़े गए हैं, जिससे भारतीय दर्शक इस फिल्म के साथ जुड़ सकें. भारत में यह फिल्म अंगेजी व हिंदी के अलावा तमिल, तेलगू, मलयालम में भी प्रदर्शित हो रही है.

जहां तक अभिनय का सवाल है, तो फिल्म के हर कलाकार /किरदार ने बुराई से जीत हासिल करने की जद्दोजेहाद के साथ ही मानवीय जीवन व संवेदना को भी बेहतर तरीके से उकेरा है. कलाकारों की भीड़ में कुछ कलाकार अपनी अभिनय प्रतिभा के बल पर अपना एक अलग वजूद बनाने में कामयाब होते हैं. मसलन – टोनी स्टार्क उफ आयरन मैन के किरदार में राबर्ट डाउनी ज्यूनियर, कैप्टन अमेरिका के किरदार में क्रिस इवान्स, ब्लैक विडो के किरदार में स्करलेट जोहान्सन, थोर के किरदार में क्रिस हैमस्वर्थ आदि. मगर थैनौस के किरदार में जोश ब्रोलिन सर्वाधिक प्रभावित करते हैं. गमोरा जैसे अति भावुक व अति जटिल किरदार को जौय सलडाना ने काफी बेहतरीन तरीके से निभाया है.

दो घंटे 29 मिनट की अवधि वाली फिल्म ‘‘अवेंजर्सःइन्फीनिटी वार’’ का निर्माण: ‘‘मार्वल्र्स स्टूडियो ने किया है. फिल्म के निर्देशक एंथेनी रोसो व जो रोसो, लेखक स्टीफन मैकफिली और क्रिस्टाफर मार्कस हैं. कहानी मार्वेल कामिक्स पर आधारित है. कलाकार हैं- राबर्ट डाउनी ज्यूनियर, क्रिस हैमस्वर्थ, मार्क रफ्लो, क्रिस इवांस, स्कार्लेट जोहान्सन, बेनेडिक्ट कम्बरबैच व अन्य.

VIDEO : फंकी लेपर्ड नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.