लंबे समय से खबर गर्म है कि मध्यप्रदेश के महू की रहने वाली अभिनेत्री पूजा बत्रा ने लॉस एंजिल्स में ‘‘कास्टिंग एंड फिल्म स्टूडियो’’ के मालिक सनी वछेर की हॉलीवुड फिल्म ‘‘वन अंडर सन’’ में एस्ट्रोनेट कैथरीन वोस का मुख्य किरदार निभाया है. पर अब पता चला है कि पूजा बत्रा की इस हॉलीवुड फिल्म के निर्माता अमरीकन नहीं बल्कि एक भारतीय और वह भी इंदौर निवासी सनी वछेर हैं, जो कि लंबे समय से लांस एंजिल्स में बसे हुए हैं. यह राज उस वक्त उजागर हुआ, जब पूजा बत्रा के साथ सनी वछेर भी इंदौर यानी कि भारत पहुंचे. वास्तव में पूजा बत्रा ने सनी को बताया कि वह अपने माता-पिता से मिलने के लिए भारत जा रही हैं, तो सनी को अपनी मातृभूमि की याद आ गयी और वह भी पूजा बत्रा के साथ भारत आ गए. सनी का दावा है कि वह अपने बचपन की यादों को ताजा करने के लिए इंदौर आए हैं.

इंदौर में जन्मे और इंदौर के स्कूल में पढ़े लिखे सनी वछेर के पिता को जब अमरीका के कैलीफोर्निया शहर में नौकरी मिली, तो सनी वछेर भी अपने पिता के साथ अमरीका पहुंच गए. वहां पर उन्होंने उच्च शिक्षा हासिल की. फिर लघु व विज्ञापन फिल्में बनाना शुरू किया. अब सनी वछेर ने पहली बड़ी हॉलीवुड फीचर फिल्म ‘‘वन अंडर सन’’ का निर्माण किया है, जिसके निर्देशक द्वय विंसेंट टान और रियाना हार्टनी हैं. रंगभेद के खिलाफ बात करने वाली इस फिल्म में मुख्य भूमिका पूजा बत्रा ने निभायी है.

सूत्रों के अनुसार सनी वछेर के भारत आने के पीछे असली मकसद अपनी फिल्म के भारत में प्रदर्शन की संभावनाओं को तलाशना है. इसके अलावा अब वह भारत आकर फिल्म निर्माण करने की संभावना भी तलाश रहे हैं. यह एक अलग बात है कि इस बात को पूजा बत्रा या सनी वछेर अभी स्वीकार नहीं कर रहे हैं. पर सनी वछेर का मानना है कि वह बॉलीवुड फिल्म बनाने के बारे में सोच सकते हैं.