गृहशोभा विशेष

‘स्टूडैंट औफ द ईयर’ से अपने फिल्मी कैरियर की शुरुआत करने वाली 21 वर्षीय अभिनेत्री आलिया भट्ट ने फिल्म ‘हाइवे’, ‘टू स्टेट्स’ और ‘हंपटी शर्मा की दुलहनिया’ में अलगअलग भूमिकाएं निभा कर अपना नाम शीर्ष अभिनेत्रियों की सूची में शुमार कर लिया है. यही वजह है कि आज कैटरीना और करीना की भारी फीस के चलते फिल्म मेकर आलिया को लेना पसंद कर रहे हैं. आलिया इसे महज इत्तफाक मानती हैं, क्योंकि एक फिल्म मेकर और निर्देशक अपनी कहानी और चरित्र के आधार पर कलाकारों का चयन करता है.

केवल फिल्में ही नहीं इन दिनों आलिया भट्ट विज्ञापनों में भी नजर आ रही हैं. कुछ अरसा पहले गार्नियर फ्रुक्टिस की ब्रैंड ऐंबैसेडर बनीं आलिया भट्ट से की गई बातचीत के अंश इस प्रकार हैं:

किसी बड़े ब्रैंड से जुड़ना आप की कामयाबी को दर्शाता है. इस संबंध में कुछ कहना चाहेंगी?

गार्नियर के साथ जुड़ने पर मुझे बेहद खुशी हुई है. इस से जुड़ने पर लग रहा है कि मैं अभिनय के क्षेत्र में सफल हो रही हूं. एक समय ऐसा भी था जब लोग मेरे अभिनय का मजाक उड़ाते थे. मुझ पर हंसते थे. पर फिल्म ‘हाइवे’ के बाद उन के मुंह बंद हो गए. मैं अपनी आने वाली फिल्मों में और भी अच्छा अभिनय करने की अपनी तरफ से पूरीपूरी कोशिश कर रही हूं. मैं आप को बता दूं कि कामयाबी ही इंसान की सब से बड़ी दुश्मन होती है. कुछ लोग इसी इंतजार में बैठे रहते हैं कि कब आप से कोई गलती हो और वे आप पर उंगली उठाएं.

आप अपनी ब्यूटी को ले कर कितनी सतर्क हैं?

मैं इस के प्रति हमेशा सतर्क रहती हूं. सुंदर दिखना मुझे पसंद है. मगर कई बार आप सुंदर हो कर भी सुंदर नहीं दिखते. इसलिए आप का यह अनुभव करना कि आप सुंदर हैं जरूरी है. मैं कभी अधिक खाना नहीं खाती हूं और जो भी खाती हूं पौष्टिक खाती हूं. नियमित और समय पर वर्कआउट करती हूं. पूरी नींद सोती हूं. इस के अलावा जो भी परिधान पहनती हूं वह मुझ पर सूट कर रहा है या नहीं इस बात का भी ध्यान रखती हूं, क्योंकि उपयुक्त परिधान सौंदर्य में चार चांद लगा देता है.

मैं बालों में हमेशा ब्रैंडेड प्रोडक्ट लगाती हूं. कई बार चरित्र के अनुसार बालों में कलरिंग की जाती है या उन्हें सैट किया जाता है, जिस से वे अस्तव्यस्त हो जाते हैं. ऐसे में सही शैंपू, कंडीशनर व हेयर औयल बालों में इस्तेमाल करती हूं ताकि मेरे बालों की सेहत बनी रहे.

इस के अलावा अलगअलग मौसम का भी बालों पर प्रभाव पड़ता है. तब भी उन की विशेष देखभाल करती हूं. हमेशा ऐसा शैंपू और कंडीशनर बालों में इस्तेमाल करती हूं जो उन्हें पोषण दे.

आप यूथ आइकोन मानी जाती हैं. ऐसे में आप की जिम्मेदारी क्या बनती है?

मेरी जिम्मेदारी यह है कि मैं उन्हें हमेशा सही रास्ता दिखाऊं. इसलिए मैं जो भी करने जा रही हूं वह सही है या नहीं इस की परख अवश्य करती हूं ताकि उस का प्रभाव सही हो. मेरे फैंस में अधिकतर कम उम्र की लड़कियां हैं. उन्हें अपने आसपास देख कर मुझे बड़ी संतुष्टि होती है.

आप की रोल मौडल कौन हैं?

मेरी मां. जब मैं छोटी थी उन के हर हावभाव को रिपीट करती थी. उन जैसा हेयरस्टाइल, बातचीत सब कुछ फौलो करती थी. मैं आज भी उन से स्टाइल के टिप्स लेती हूं.

खुद को फिट रखने के लिए क्या करती हैं?

मैं नियमित ऐक्सरसाइज करती हूं. खूब सारा पानी पीती हूं. ग्रीन टी लेती हूं. इस के अलावा हमेशा खुश रहती हूं. मैं पहले पूरी, पिज्जा आदि खा लेती थी, पर अब नहीं खाती. 8 घंटे की नींद लेने की कोशिश करती हूं.

आप की अधूरी इच्छाएं कौन सी हैं?

मैं वृद्धाश्रम खोलना चाहती हूं, जो चैरिटेबल हो. मैं अपने नानानानी के बहुत क्लोज हूं. बचपन से ही जब वे हमारे घर आते थे, तो मैं उन के सामने परफौर्म करती थी. मेरे अभिनय की ट्रेनिंग यहीं से शुरू हुई थी. मेरी मां ने नानानानी का बहुत खयाल रखा है. पर कई ऐसे बुजुर्ग हैं, जिन का खयाल नहीं रखा जाता. उन का परिवार उन्हें छोड़ देता है. मैं उन्हें शरण देना चाहती हूं.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं